यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीलीभीत मे हिरासत से भागा जालसाज सिपाही, दबोचा


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 13 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

पांच साल से पीलीभीत पुलिस को चकमा दे रहा सिपाही शुक्रवार को पकड़ा गया, तो हिरासत से भाग निकला। पीछा कर उसे दोबारा दबोच लिया गया। पीलीभीत पुलिस उसे अपने साथ ले गई है।

पीलीभीत मे हिरासत से भागा जालसाज सिपाही, दबोचा

पांच साल पहले सिपाही आशु यादव पीलीभीत में तैनात था। आरोप है कि उस समय सिपाही ने फर्जी मेडिकल बिल के आधार पर सरकारी धनराशि हड़प ली थी। मामला खुलने के बाद उसके खिलाफ रिपोर्ट हुई। पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी। काफी कोशिश के बाद भी उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई। कोर्ट से उसके विरुद्ध गैर जमानती वारंट जारी होने के बावजूद पकड़ा नहीं गया। आरोपित की गिरफ्तारी न होने पर न्यायालय ने भी नाराजगी जताई। पुलिस अधीक्षक पीलीभीत को पत्र भेजकर विशेष टीम गठित करने को कहा।

पीलीभीत पुलिस ने जानकारी की तो पता चला कि सिपाही आशु यादव फिलहाल मैनपुरी में यूपी 100 टीम में तैनात था। अब उसे पुलिस लाइन में स्थानान्तरित कर वाहन चालक नियुक्त किया गया है। शुक्रवार को पीलीभीत पुलिस मैनपुरी पहुंची। पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर अभियुक्त को गिरफ्तार कराने की मांग की। अभियुक्त के बारे में जानकारी की गई। पुलिस अधीक्षक राजेश एस ने तत्काल अपनी टीम भेजकर आरोपित सिपाही को हिरासत में लेने के बाद पीलीभीत पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस टीम उसे लेकर जैसे ही रवाना हुई। तभी सिपाही पुलिस को चकमा देकर भाग निकला। भागते ही पीलीभीत पुलिसकर्मियों में खलबली मच गई। शोर मचाकर पीछा किया तो एसपी कार्यालय पर मौजूद पुलिस कर्मी भी दौड़ पड़े। कलक्ट्रेट परिसर में ही उसे दबोचकर फिर से पीलीभीत पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस उसे लेकर पीलीभीत रवाना हो गई।

मैनपुरी से अन्य समाचार व लेख

» भाजपा को आसानी से हरा देगा महागठबंधन: शिवपाल सिंह यादव

» मैनपुरी मे आंगनबाड़ी केंद्रों पर बंटने वाले दलिया में निकली छिपकली, हादसा टला

» अब भाजपा को हराने की खातिर गठबंधन में कम सीट लेने पर भी अखिलेश यादव तैयार

» मैनपुरी में गरजे सीएम योगी आदित्यनाथ, कहा गढ़ में ही गरीबों को मिले सिर्फ 500 आवास

» मैनपुरी मे नाक रगड़वाने वाला सिपाही निलंबित

 

नवीन समाचार व लेख

» मप्र में सपा-बसपा से तालमेल कर कांग्रेस दे सकती है चौंकाने वाले नतीजे

» वाराणसी मे बेटी-बहुओं और गांव की महिलाओं ने दिया मां की अर्थी को कंधा

» CWC बैठक मे एनडीए की चुनावी घेरेबंदी के लिए कांग्रेस ने तय किये ये 10 मुद्दे

» भारत सरकार के आरटीआइ कानून में बदलाव के खिलाफ मुखर हुए सूचना आयुक्त

» राफेल से क्यों भाग रही है भाजपा, सच को दबाने की कोशिश में सरकार