मथुरा के जवाहर बाग कांड में शहीद मुकुल की पत्नी बोलीं, अभी तक तो सीबीआइ भी कुछ नहीं कर सकी

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मथुरा के जवाहर बाग कांड में शहीद मुकुल की पत्नी बोलीं, अभी तक तो सीबीआइ भी कुछ नहीं कर सकी


🗒 शनिवार, जून 02 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

अमृतसर के जलियांवाला बाग कांड की याद दिला देने वाले मथुरा के जवाहर बाग कांड में सीबीआइ जांच के बाद भी किसी को न्याय न मिलने से शहीद एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी की पत्नी अर्चना द्विवेदी बेहद आहत हैं। आज जवाहर बाग कांड की दूसरी बरसी पर मुकुल द्विवेदी की पत्नी ने अपने स्वर्गीय पति की यादव में यहां पर पौधरोपण किया, लेकिन इसके बाद वह रो पड़ीं।

मथुरा के जवाहर बाग कांड में शहीद मुकुल की पत्नी बोलीं, अभी तक तो सीबीआइ भी कुछ नहीं कर सकी

उन्होंने कहा कि इस बड़े कांड में वह दो साल के चुपचाप सरकार और जांच एजेंसी सीबीआइ का काम देख रही हैं, अब बर्दाश्त नहीं होता। यहां तो जरा सी बात पर निलंबन की कार्रवाई करने वाली व्यवस्था में अब तक किसी की जवाबदेही इस मामले में तय नहीं की जा सकी है। जवाहर बाग पर एक नजर डालते हुए कहा कि आज जवाहर बाग जिस खुली हवा में सांस ले रहा है वह मुकुल द्विवेदी की बदौलत है, मगर बदले में क्या मिला। अब तक यहां उनकी यादों का तो स्मारक तक नहीं है। उनके इलाहाबाद हाईकोर्ट जाने पर सीबीआई जांच शुरू हुई, मगर उसका भी अब तक कोई परिणाम नहीं आया।

उनकी पत्नी ने कहा कि मथुरा से विधायक तथा कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा से बात करने की कई बार कोशिश की, लेकिन हर बार पीए ने बात कराने की बात कहकर उनको टाल दिया। ऐसी व्यवस्था से क्या उम्मीद की जाए। यहां आने की कभी हिम्मत नहीं पड़ी, मीडिया के सामने भी अब तक नहीं आईं लेकिन अब चुप रहने से काम नहीं चलेगा। व्यवस्था और सरकार मुकुल के काम को भुला बैठी है। पति अक्सर कहते थे कि वर्दी उनकी दूसरी स्किन है।

आज मथुरा के जवाहर बाग कांड की आज दूसरी बरसी है। दो वर्ष पूर्व में हुए हिंसक झड़प में तत्कालीन एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी की शहीद हो गए थे। जिनके याद में उनके परिवार के लोग उनको श्रद्धांजलि देने के लिए मथुरा पहुंचे। इस दौरान उनकी याद में वृक्षारोपण कर एवं रक्तदान कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। बता दें कि मथुरा में दो वर्ष पूर्व दो जून के ही दिन सरकारी बाग (जवाहर बाग) पर कब्जा करे बैठे रामवृक्ष यादव एवं ढाई-तीन हजार अवैध अतिक्रमणकारी साथियों से हुई हिंसक झड़प हुई थी।

रक्तदान कर दी श्रद्धांजलि

जवाहर बाग में एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी व उनके साथ फरह थानाध्यक्ष संतोष यादव अतिक्रमणकारियों से आमने-सामने लोहा लेते हुए शहीद हो गए थे। पुण्यतिथि पर शहीद मुकुल द्विवेदी के परिजनों ने उनकी स्मृति में वृक्षारोपण किया। वृक्षारोपण करने के बाद शहीद मुकुल द्विवेदी की पत्नी, भाई, माँ व अन्य परिजन जिला अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने रक्तदान कर शहीद मुकुल द्विवेदी को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर शहीद मुकुल द्विवेदी की पत्नी अर्चना द्विवेदी ने मुकुल द्विवेदी को न्याय और सम्मान मिलने की मांग सरकार से की।

दो वर्ष बाद भी इस मामले में दोषियों के खिलाफ ठोस कार्यवाही न करने पर शहीद मुकुल द्विवेदी के भाई आहत नजर आए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार से काफी उम्मीद थी लेकिन 15 महीने योगी आदित्यनाथ सरकार को हो गए। अभी तक मुकुल को जो सम्मान मिलना चाहिए था वह भी नहीं मिला।

गौरतलब है कि 15 मार्च 2014 से जिला उद्यान विभाग के सौ एकड़ से अधिक क्षेत्र में फैले जवाहर बाग पर दो दिन के धरने के नाम पर बाबा जयगुरुदेव के तथाकथित अनुयायी रामवृक्ष यादव एवं उनके साथियों ने कब्जा कर लिया था। जिला प्रशासन के तमाम प्रयासों के बाद भी वे लोग वहां से वापस जाने को तैयार नहीं थे। इसके बाद हाई कोर्ट के आदेश पर रामवृक्ष यादव आदि से वार्ता करने पहुंचे पुलिस के साथ प्रशासनिक अधिकारियों पर उन लोगों ने लाठी, फरसा, बंदूक, तमंचा आदि प्राणघातक हथियारों से हमला कर दिया था। उनके प्रारम्भिक हमले में ही फरह के थानाध्यक्ष एवं एसपी सिटी शहीद हो गए। घटना में दो पुलिस अफसरों सहित कुल 29 लोग मारे गए थे। जले-भुने अतिक्रमणकारियों के शव पहचानना भी संभव नहीं हो पाया था। इस हिंसा की इलहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर वर्तमान में केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) मामले की जांच कर रही है।

जवाहर बाग का नाम शहीद के नाम रखा जाएगा

शहीद मुकुल द्विवेदी के परिवार की सरकार से नाराजगी पर सरकार के प्रवक्ता एवं ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि हमारी सरकार मुकुल जी को न्याय दिलाने के लिए संकल्पित है। वहीं जल्द ही जवाहर बाग का नाम शहीद मुकुल द्विवेदी के नाम करने का प्रस्ताव पास किया जाएगा। 

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» दबंग भू माफियाओं के कब्जे में सरकारी भूमि

» कृषक गोष्ठी में भारी तादात में पहुंचे किसान

» दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ हो कार्रवाई

» बिजली की कटौती से लोग रहे परेशान

» राशन डीलर के खिलाप छाता तहसील में शिकायत दर्ज

 

नवीन समाचार व लेख

» कांग्रेस को शक, लोकसभा में 'कोई' कर रहा है निगरानी; स्पीकर से की शिकायत

» 27 को पूर्ण चंद्र ग्रहण, 12 में से सात राशि वालों को कष्ट

» मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के खिलाफ कानपुर में मुकदमे की अर्जी

» जनपद इटावा में पुलिस ने पूर्व महिला प्रधान को पीटकर निर्वस्त्र किया, बेटी को छत से फेंका

» इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एसपी प्रतापगढ़ को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया