यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सिपाही कर रहे वसूली का धंधा ट्रेनों में


🗒 शुक्रवार, मई 23 2014
🖋 Rohit Srivastava, Reporter Kanpur

 ufh  मऊ : वाराणसी-मऊ रेल प्रखंड पर इन दिनों जीआरपी के सिपाहियों द्वारा यात्रियों से जबरन वसूली का धंधा जोरों पर चल रहा है। सिपाही न सिर्फ अवैध रूप से धन की मांग कर रहे हैं बल्कि रेलयात्रियों से बदसलूकी भी कर रहे हैं। धन न देने वाले यात्रियों को जबरन ट्रेन से उतार भी दिया जा रहा है।


अभी सोमवार की घटना है। अधिवक्ता अजय राय अपने दो साथियों के साथ वाराणसी कैंट स्टेशन से टिकट लेकर रात में मऊ को आने वाली सवारी गाड़ी संख्या 55150 में चढ़े। ट्रेन आगे बढ़ी वाराणसी सिटी स्टेशन पर जीआरपी के दो सिपाही बोगी में घुसे, उनकी वर्दी पर नेमप्लेट चस्पा नहीं था। उन्होंने यात्रियों का टिकट चेक किया और सभी से चाहे टिकट हो या न हो, पैसे मांगना शुरू किया। उनके पीछे एक टीटीई भी मूकदर्शक की भांति चले आ रहे थे। सिपाहियों ने अधिवक्ताओं से भी टिकट दिखाने और पैसा देने को कहा।

इस पर उन्होंने प्रतिरोध किया कि टिकट तो टीटीई चेक करते हैं, उन्हें क्यों दिखाया जाय। बस इतनी सी बात उन्हें नागवार लगी और सिपाहियों ने बुरा-भला कहते हुए जबरन तीनों को स्टेशन पर धक्के मारकर उतार दिया। फिर वे किसी तरह दूसरे डिब्बे में सवार होकर स्थानीय जंक्शन पहुंचे और स्टेशन अधीक्षक के पास मौजूद शिकायत पुस्तिका में क्रमांक 82 पर अपनी शिकायत दर्ज कराई।

 

मऊ से अन्य समाचार व लेख

» घरेलू विवाद में पत्नी और दो बेटियों को गट्ठर में बांध सड़क किनारे फेंका

» बीजेपी सांसद हरिनारायन राजभर ने मंत्री अनुपमा के खिलाफ पत्र लिखने से किया इनकार

» मंत्री अनुपमा जायसवाल पर बीजेपी सांसद ने लगाया भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप

» सीएम योगी आदित्यनाथ का अधिकारियों पर नियंत्रण नहीं: अमर सिंह

» मऊ मे घाघरा के तेज बहाव के बीच पीपापुल से टकराकर डूब गई नाव, 15 लापता

 

नवीन समाचार व लेख

» बाराबंकी मे सेना की शराब की तस्करी का भंडाफोड़, 550 बोतल बरामद

» UP मे एक ने प्रेमिका के दूल्हे पर तानी बंदूक, दूसरा बिना दुल्हन लौटा

» अमित शाह की हरियाणा की सभी 10 लोस सीटों पर निगाह, प्रदेश के नेताओं संग की चर्चा

» लखनऊ मे सेना के जवानों ने फर्जी वारंट पर बनाए टिकट

» UP में प्रशासनिक फेरबदल, चार जिलों के डीएम भी बदले