यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

योगी सरकार के मंत्री अनिल राजभर और ओमप्रकाश राजभर चुनावी सभाओं में एक-दूसरे पर जमकर बरसे।


🗒 सोमवार, नवंबर 27 2017
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

योगी सरकार में पूर्वांचल के राजभर समाज से जुड़े दो मंत्रियों के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। एक ओर जहां राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार अनिल राजभर लगातार सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर पर हमलावर हुए जा रहे हैं। उधर, ओम प्रकाश राजभर भी किसी भी आरोप का जवाब देने में पीछे नहीं रह रहे। सोमवार को चुनावी सभाओं के क्रम में दोनों मंत्री मऊ में थे और एक-दूसरे पर जमकर बरसे।

योगी सरकार के मंत्री अनिल राजभर और ओमप्रकाश राजभर चुनावी सभाओं में एक-दूसरे पर जमकर बरसे।

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार अनिल राजभर कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर को लेकर पूरी तरह से हमलावर हो गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि गरीबों को बेचने वाले की सच्चाई जनता ने जान ली है। अब उनको मरने के लिए चुल्लूभर पानी भी नहीं मिलेगा। उन्होंने सुभासपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि गरीबों को पैसा बांटकर हमारी भावनाओं से खिलवाड़ करने वालों को बेदखल कर दें। नगर पंचायत की सीटों की खरीददारी के लिए बोली लगती है। पीला झंडा लेकर चलने वालों को कौन पूछ रहा था।

भाजपा की कृपा नहीं होती तो इनका राजनीति में नाम लेने वाला कोई नहीं होता। इनको हल्दी नहीं लगी थी। भाजपा की मेहरबानी से हल्दी लग गई। अहसान फरामोशी करने वालों की कलई खुल गई है। ओमप्रकाश राजभर समाज को बरगलाते हैं, समाज को पियक्कड़ की संज्ञा देते हैं। ऐसे लोगों से समाज का भला नहीं हो सकता। कैबिनेट मंत्री दारा ङ्क्षसह चौहान ने कहा कि विकास की नई इबारत लिखने का काम भाजपा कर रही है। अब गुंडे जेल में होंगे या ऊपर जाएंगें।

उसरी पोखरा पर सोमवार को सभा को संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने मंत्री अनिल राजभर पर जमकर प्रहार किया। कहा कि मुझ पर आरोप लगाने वाले को चुल्लू भर पानी मे डूब मरना चाहिए। मैं धमकी से डरने वाला नहीं हूं, अपना इस्तीफा हमेशा जेब में लेकर चलता हूं। पिछड़े व दलित समाज के हित के साथ किसी से समझौता नहीं करने वाला। आज पिछड़े समाज के हितैषी बनने का भाषण देने वाले और कभी सपा और अमर ङ्क्षसह का बाजा बजाने वाले नेता हमारे ऊपर आरोप लगा रहे हैं। सपा, बसपा, कांग्रेस, भाजपा ने बंदर पाल रखे हैं जो जाति के नाम पर नाचने का काम करते हैं। मैं गुलाम बनकर नहीं रह सकता। 

मऊ से अन्य समाचार व लेख

» मऊ जिले मे पानी विवाद में अधेड़ की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या, 1 गिरफ्तार

» मऊ जनपद मे पुलिस पर रौब गांठ कर सुविधा लेने वाला फर्जी मजिस्ट्रेट गिरफ्तार

» मऊ मे पुलिस मुठभेड़ में एक बदमाश गिरफ्तार, एक फरार

» मऊ मे दो वाहनों से मिला 72 किलो गांजा, दो गिरफ्तार

» मऊ के चिरैयाकोट बाजार में मुठभेड़ में तीन अंतरजनपदीय शातिर लुटेरे गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» AMU के दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में मोबाइल , कैमरा एवं अन्य सभी इलैक्ट्रॉनिक डिवाइस ले जाने पर प्रतिबन्ध

» मायावती ने राज्यसभा सीट के लिए किया दलितों के वोट का सौदा: सिद्धार्थनाथ सिंह

» सीएम योगी के हमलों पर बोली सपा- लाल टोपी हैसियत दिखा देगी

» कन्नौज में संदिग्ध परस्थितियों में आलू व्यापारी की मौत, जहर देने का आरोप

» देवरिया जेल में अतीक अहमद के बैरक से मोबाइल व चाकू बरामद