यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नयन सागर महाराज प्रकरण में वायरल दो वीडियो क्लिप पर युवती के पिता ने जताया संदेह


🗒 सोमवार, अगस्त 06 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

जैन मुनि नयन सागर महाराज के साथ वीडियो को लेकर चर्चा में आई युवती द्वारा सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल की गई दो वीडियो क्लिप पर युवती के पिता ने संदेह जताया है। पिता ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहा कि पहले बेटी को धमकाकर कोर्ट में बयान दिलाया। अब दबाव डालकर उसकी वीडियो बना दी गई है। इसके पीछे कोई बड़ा सिंडिकेट है। बताया कि सुबह उनके मोबाइल पर भी बेटी की दो वीडियो क्लिप आई। वीडियो देखकर प्रतीत होता है कि वह कोई पर्चा देखकर पढ़ रही है। सच्चाई का पता लगाने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ेंगे और पुलिस व समाज की भी मदद मांगेंगे। 

नयन सागर महाराज प्रकरण में वायरल दो वीडियो क्लिप पर युवती के पिता ने जताया संदेह

गत 28 जुलाई को जैन अतिशय क्षेत्र वहलना के सीसीटीवी फुटेज से जैन मुनि नयन सागर महाराज और एक युवती का वीडियो वायरल हुआ था। मलेशिया के नंबर से इन्हें वायरल किया गया। वीडियो में दिखने वाली युवती के हरिद्वार के कॉलेज से गायब होने के बाद परिजनों ने जैनमुनि को आरोपी बनाते हुए युवती के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करा दी, लेकिन युवती ने कोर्ट में जैनमुनि को क्लीनचिट दे दी थी। अब युवती ने सोमवार को दो वीडियो वायरल कर दिए। एक वीडियो में युवती ने जैन मुनि को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि पहले उस पर दबाव डालकर वह सब करने को कहा गया, जो दृश्य वीडियो में हैं। इसके बाद सीसीटीवी फुटेज का वीडियो खतौली के व्यापारी अनुपम जैन व मुजफ्फरनगर अतिशय क्षेत्र वहलना के कोषाध्यक्ष रजनीश जैन ने मलेशिया से वायरल कराया। युवती ने वीडियो में यह भी कहा है कि जिन्होंने दबाव देकर उससे यह काम कराया, उनका पर्दाफाश वह अगले वीडियो में करेगी। 

जैन मुनि नयन सागर महाराज के साथ सीसीटीवी फुटेज में कैद होने के बाद चर्चा में आई युवती ने सोमवार को दो वीडियो जारी किए। वीडियो में कहा है कि समाज के कुछ प्रभावशाली लोगों ने दबाव डालकर उसे सीसीटीवी कैमरों में कैद कराया। युवती ने खुद और जैनमुनि को निर्दोष बताते हुए कहा कि-कैसे भक्त हैं, जिन्होंने सोच लिया कि नयन सागर महाराज ऐसा गलत काम भी कर सकते हैं। युवती ने नयन सागर महाराज से भी क्षमा मांगते हुए कहा है कि उसे नहीं मालूम था कि उन्हें भी वीडियो का पात्र बनाया गया।नयन सागर महाराज के करीबी अनुपम जैन का कहना है, उनके पास 27 जुलाई को उक्त वीडियो क्लिप मलेशिया से आई थीं। उन्होंने इन्हें वायरल नहीं किया। 2007 में वहलना में चातुर्मास के समय वह मुनि श्री के संपर्क में आए थे। 21 जुलाई को मुनि श्री ने अंबाला से चंडीगढ़ विहार किया तो उनके दर्शन करने गए थे। इसके बाद उनसे कोई संपर्क नहीं हुआ। उन्हें नहीं पता कि मुनि श्री व युवती की वीडियो क्लिप किसने बनाकर वायरल कीं। वीडियो वायरल करने में संलिप्त लोग खुद को बचाने और उन्हें फंसाने की साजिश रच रहे हैं। वहीं रजनीश जैन का कहना है कि वीडियो वायरल से उनका कोई लेना-देना नहीं है।

मुजफ्फरनगर से अन्य समाचार व लेख

» मथुरा के व्रन्दावन में रन फॉर यूनिटी के माध्यम से भाजपाइयों ने लिया मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प

» मुजफ्फरनगर के खतौली से भाजपा विधायक विक्रम सैनी का विवादित बयान, दारुल उलूम आतंकियों की फैक्ट्री

» मुजफ्फरनगर के कवाल कांड में दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाए जाने के बाद कोर्ट के बाहर हंगामा

» जिला मुजफ्फरनगर के कवाल गांव में दो भाइयों की हत्या के दोषी सात लोगों को उम्र कैद

» बुलंदशहर में गोकशी को लेकर हुए बवाल के बाद दो गोकशों को मुठभेड़ में लगी गोली, 100 किलो गोमांस बरामद

 

नवीन समाचार व लेख

» अब एक अप्रैल से दो बैंकों का मिट जाएगा नाम, जानिए किन बैंकों का होने जा रहा विलय

» कानपुर की ओर जा रहे कंटेनर ट्रक में लगी भीषण आग

» जिला अलीगढ़ मे गंगा में डूबे तीन बच्चे, एक को बचाया गया

» मेरठ पुलिस ने दो स्थानों पर अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री पकड़ी,पांच गिरफ्तार

» जिला वाराणसी में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर का रोड शो खत्‍म, रविदास मंदिर जाने पर अड़े