यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

विप्रो ने कामकाज की समीक्षा के बाद 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 21 2017
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

देश की तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी विप्रो ने कर्मचारियों के कामकाज की सलाना समीक्षा के बाद अपने सैकड़ों कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है.

विप्रो ने कामकाज की समीक्षा के बाद 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

सूत्रों के अनुसार, विप्रो ने करीब 600 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया है. हालांकि कुछ चर्चाओं में यह संख्या 2,000 तक बताई जा रही है. दिसंबर 2016 के अंत तक कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 1.76 लाख से अधिक थी.

 विप्रो ने कहा कि अपने कारोबार लक्ष्यों का अपने कार्यबल के साथ समायोजन करने के लिए वह नियमित आधार पर कर्मचारियों के कामकाज का मूल्यांकन करती रहती है. यह कंपनी की रणनीति प्राथमिकताओं और ग्राहक की जरूरत के अनुसार किया जाता है. इस मूल्यांकन के बाद कुछ कर्मचारियों को नौकरी छोड़नी पड़ती है, जिनकी संख्या हर साल बदलती रहती है. हालांकि, कंपनी ने निकाले गए कर्मचारियों पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

विप्रो ने कहा कि उसके प्रदर्शन आकने की प्रक्रिया में मेंटरिंग, री-ट्रेनिंग जैसे पहलू शामिल हैं. कंपनी की चौथे क्वॉर्टर की रिपोर्ट और पूरे साल के आंकड़े 25 अप्रैल को आएंगे.

बता दें कि अमेरिका, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे कई देशों के वीजा नियमों को लेकर भारतीय IT कम्पनी  में माहौल पूरी तरह सामान्य नहीं है. ये कंपनियां कर्मचारियों को क्लाइंट की साइट पर भेजने के लिए अस्थायी वर्क वीजा का इस्तेमाल करती हैं.

भारतीय आईटी कंपनियां 60% से ज्यादा राजस्व उत्तरी अमेरिका के बाजारों से, जबकि 20% यूरोप से और बाकी अन्य जगहों से जुटाती हैं. ऐसे में इन देशों में वीजा नीति के पहले से ज्यादा सख्त होने जाने के चलते आईटी कंपनियां चुनौती महसूस कर रही हैं.

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» पटियाला कोर्ट में कार्ति चिदंबरम, सीबीआई ने नौ दिन रिमांड बढ़ाने की रखी मांग

» ममता के लिए खतरे की घंटी हैं त्रिपुरा के चुनावी नतीजे, थर्ड फ्रंट के लिए सक्रिय हुईं TMC प्रमुख

» आइएनएक्स घूसकांड में कार्ति का इंद्राणी से आमना-सामना कराया

» INX मीडिया केस: कार्ति चिदंबरम को लेकर बायकुला जेल पहुंची CBI, इंद्राणी के सामने होगी पूछताछ

» नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान को दिया जा रहा समुचित जवाब : सीतारमण

 

नवीन समाचार व लेख

» बहराइच के मोतीपुर क्षेत्र मे जमीनी विवाद में दबंगों ने युवक को जिंदा जलाने की कोशिश

» बाराबंकी जनपद मे खाना बनाते समय लगी आग, बच्ची जिंदा जली

» पूर्वौत्तर के बाद अब मेरठ में तोड़ी गई अंबेडकर प्रतिमा, गांव बना छावनी

» समाजवादी पार्टी ने जया बच्चन को बनाया यूपी से राज्यसभा उम्मीदवार,बसपा को समर्थन पर असमंजस

» एएमयू और बीएचयू जैसी संस्थाओं को किसी समुदाय से जोड़ कर देखने की जरूरत नहींः राष्ट्रपति