यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुख्य सचिव से हाथापाई को AAP ने बताया भाजपा की साजिश, SC/ST आयोग पहुंचा मामला


🗒 मंगलवार, फरवरी 20 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायकों द्वारा हाथापाई किए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। AAP ने इस पूरे प्रकरण को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर बड़ा आरोप लगाया है। पार्टी ने कहा कि यह पूरे प्रकरण भाजपा की साजिश है, जिससे दिल्ली सरकार अस्थिर हो। वहीं, AAP नेता आशीष खेतान ने कहा कि दिल्ली सचिवालय में दंगे जैसे हालात पैदा किए गए। 

मुख्य सचिव से हाथापाई को AAP ने बताया भाजपा की साजिश, SC/ST आयोग पहुंचा मामला

AAP विधायक ने दर्ज कराई शिकायत

वहीं, इस पूरे मामले में अब नया मोड़ आता दिख रहा है। ताजा घटनाक्रम में AAP के विधायक प्रकाश जारवाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के खिलाफ अनुसूचित जाति जनजाति आयोग में शिकायत दर्ज करवाई है। इसकी जानकारी खुद AAP विधायक ने समाचार एजेंसी एएनआइ की दी।

मुख्य सचिव से हाथापाई पर गृह मंत्रालय गंभीर, राजनाथ बोले- पूरे प्रकरण से दुखी हूं.

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायकों द्वारा हाथापाई किए जाने का गृह मंत्री राजनाथ सिंह तक पहुंच गया है।

ऐसे में यह मामला गंभीर होता जा रहा है। बैठक के बाद राजनाथ सिंह ने कहा कि पूरे प्रकरण से दुखी हूं। सिविल सेवक के साथ ऐसा बर्ताव नहीं होना चाहिए, उन्हें भी बिना भय और पूरी गरिमा के साथ काम करने देना चाहिए।

वहीं, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने पूरे मुद्दे पर पत्रकार वार्ता कर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला है। उन्होंने सीएम केजरीवाल को निशाने पर लेते हुए कहा कि क्या उन्हें अपने पद पर बने रहने का अधिकार है? संबित पात्रा ने मामले को गंभीर बताते हुए कहा कि सीएम को अपने पद बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है।भाजपा इस पूरे प्रकरण की निंदा करती है। साथ ही भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि दिल्ली पर संवैधानिक संकट मंडरा रहा है। ऐसा पहली बार है जब किसी मुख्यमंत्री के आधार पर मुख्य सचिव के साथ ऐसी बदतमीजी की गई है। AAP और अराजकता दोनों एक-दूसरे के पर्यायवाची बन गए हैं। इनका संविधान से कोई वास्ता नहीं है।

दिल्ली प्रशासन अधीनस्थ सेवा (DASS) के अध्यक्ष डीएन सिंह ने साफ शब्दों में कहा कि जब तक आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं होती, हम काम पर नहीं लौटेंगे। घटना के विरोध में राजघाट पर कैंडल मार्च भी निकालेंगे। उन्होंने बताया कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वे पूरे मामले पर रिपोर्ट मंगाएंगे।

जानकारी के मुताबिक, पूरा विवाद सोमवार देर रात का है। बताया जा रहा है कि उस दौरान सीएम आवास पर हो रही मीटिंग के दौरान दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ आम आदमी पार्टी के दो विधायकों ने हाथापाई की। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौके पर मौजूद थे। 

कहा जा रहा है कि विज्ञापन पर फंड खर्च करने को लेकर दोनों पक्ष में विवाद हो गया। यह भी कहा जा रहा है कि केजरीवाल द्वारा एक विज्ञापन को लेकर फंड खर्च करने की बात पर मुख्य सचिव राजी नहीं थे, जिसे लेकर मीटिंग में बहस हो गई। इसी दौरान ओखला से आप पार्टी विधायक अमानतुल्लाह खान और एक अन्य ने बदसलूकी करते हुए मुख्य सचिव के साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दी। नाराज मुख्य सचिव ने अपने साथ हुई इस हाथापाई के बाद मुख्य सचिव सीएम आवास से वापस लौट आए।

नयी दिल्ली से अन्य समाचार व लेख

» अविश्वास प्रस्ताव की अग्निपरीक्षा में पास हुई मोदी सरकार, पक्ष में पड़े सिर्फ 126 वोट

» 2022 तक किसानों की दोगुनी आय के लिए बड़ा रहे कदम: पीएम मोदी

» संसद के मानसून सत्र मे मोदी बोले- कांग्रेस ने देश को लूटकर जर्जर कर दिया

» कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लेकर आएगी BJP

» मुलायम सिंह यादव ने सदन में कहा सरकार में किसान, व्यापारी और नौजवान परेशान

 

नवीन समाचार व लेख

» जिले में सात लाख पौधे रोपित होंगे

» पुलिस ने पकड़ी कार सवार दो लड़कों से 97 ग्राम चरस पकडी

» इलाहाबाद कुंभ मेले के नाम पर निकाला फर्जी टेंडर, ठगी का शिकार हुआ कारोबारी

» इलाहाबाद के कांग्रेस नेताओं द्वारा जारी किये गए पोस्टर राहुल और PM मोदी के गले लगने पर

» ममता सरकार ने किया समझौता, आयुष्मान भारत योजना में बंगाल भी शामिल