FY19 में रेट कट की संभावना कम, महंगाई अब भी काबू में नहीं

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

FY19 में रेट कट की संभावना कम, महंगाई अब भी काबू में नहीं


🗒 मंगलवार, मार्च 13 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सीपीआई आधारित महंगाई दर के अगले कुछ और महीनों में बढ़ने की संभावना है और वित्त वर्ष 2018-19 में यह औसत रूप से 4.7 फीसद रह सकती है। ऐसे में माना जा सकता है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) अपनी आगामी मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठकों में नीतिगत दरों को यथावत रख सकती है। एक रिपोर्ट के जरिए यह बात सामने आई है।

FY19 में रेट कट की संभावना कम, महंगाई अब भी काबू में नहीं

स्विस ब्रोकरेज फर्म यूबीएस के मुताबिक हैडलाइन सीपीआई इन्फ्लेशन वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान औसत रूप से 4.7 फीसद के आस पास रह सकती है, जबकि वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान इसके 3.6 फीसद पर रहने का अनुमान लगाया गया था। यूबीएस सिक्योरिटी इंडिया की अर्थशास्त्री तन्वी गुप्ता जैन ने बताया, “हमारे बेस केस में, हम अभी भी साल 2018-19 में होने वाली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) में नीतिगत दरों के यथावत रहने की उम्मीद करते हैं।”

हालांकि जैन ने यह भी उल्लेख किया कि माइक्रो स्टेबिलिटी को सुनिश्चित करने के लिए अगले 12 महीनों में 50 बीपीएस का उछाल भी आ सकता है, जो कि पूर्वानुमानित है। रिपोर्ट के मुताबिक सीपीआई इन्फ्लेशन पूर्वानुमान के संबंध में मुख्य जोखिम न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की दर का ऊंचा होना, वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों में और भी मजबूत आना और साल 2019 के लोकसभा चुनावों को देखते हुए लोकलुभावन खर्च हैं। अगर ये जोखिम आते हैं, “हम मैक्रोस्टेबिलिटी के जोखिम को देखते हुए जो कि निहित है हम अगले 12 महीनों में 50 बेसिस प्वाइंट के इजाफे से इनकार नहीं कर सकते हैं।”

नयी दिल्ली से अन्य समाचार व लेख

» रविशंकर प्रसाद ने कहा विधवाओं के अधिकारों के लिए कानून मंत्रालय करेगा निर्णायक हस्तक्षेप

» अगले महीने भारत अमेरिका के बीच पहला 'टू प्लस टू' वार्ता

» दिल्ली के IGI एयरपोर्ट पर सोना तस्करी के बड़े रैकेट का भंडाफोड़, बाप-बेटे समेत 8 गिरफ्तार

» मुख्‍य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन का इस्‍तीफा, दिया निजी कारणों का हवाला

» बाढ़ प्रभावित राज्यों को केंद्र से मिलेगी पूरी मदद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 

नवीन समाचार व लेख

» प्रशासन कर रहा है किसी बड़े हादसे की उम्मीद

» सैलजा की राजस्थान में एंट्री से हरियाणा में अध्यक्ष पद के लिए बढ़ी खींचतान

» मंत्रियों और अफसरों की आजादी पर पहरा लगने का खतरा

» कन्नौज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा लश्कर-ए-तैयबा की भाषा बोल रही कांग्रेस

» लखनऊ में बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब बोले- अयोध्या में राम मंदिर बनाने के पक्ष में है शिया समाज