यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

स्टार्टअप की योजना बना रहे लोगों के लिए अच्छी खबर, 10 करोड़ तक के निवेश पर मिलेगी टैक्स छूट


🗒 गुरुवार, अप्रैल 12 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

खुद का नया स्टार्टअप खड़ा करने की सोच रहे नए उद्यमियों (आंत्रप्रोन्योर) के लिए अच्छी खबर है। सरकार ने आज ही स्टार्टअप्स को टैक्स रियायत का लाभ उठाने की अनुमति दी है। हालांकि यह रियायत उसी सूरत में मिलेगी जब एन्जेल इनवेस्टर्स का फंडिंग समेत कुल निवेश 10 करोड़ रुपए से अधिक का न हो।

स्टार्टअप की योजना बना रहे लोगों के लिए अच्छी खबर, 10 करोड़ तक के निवेश पर मिलेगी टैक्स छूट

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय की एक अधिसूचना के अनुसार, स्टार्टअप में दांव लगाने वाले एक एंजेल इन्वेस्टर की न्यूनतम नेट वर्थ 2 करोड़ रुपए होनी चाहिए और लगातार बीते तीन वित्त वर्षों के दौरान उसने 25 लाख से अधिक की आय प्राप्त की हो। रियायतों का लाभ उठाने के लिए, स्टार्टअप को एक आठ सदस्यीय अंतर-मंत्रिस्तरीय प्रमाणन बोर्ड के पास जाना होगा।

मंत्रालय की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया, “नोटिफिकेशन के जरिए लाया गया यह संशोधन प्रस्ताव स्टार्टअप के लिए वित्त पोषण की पहुंच को आसान बनाने में मददगार होगा। जो कि बदले में नए कारोबार शुरू करने में आसानी को सुनिश्चित करेगा और स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को भी बढ़ावा देगा। इससे रोजगार सृजन में भी मदद मिलेगी।”कई स्टार्टअप्स ने आयकर अधिनियम की धारा 56 के तहत एन्जेल फंड के कराधान को लेकर चिंता जताई थी, जो कि किसी कंपनी को प्राप्त हुए धन पर टैक्स लागू करने से संबंधित है। अभी तक 18 स्टार्टअप्स को इस संबंध में कर अधिकारियों की ओर से नोटिस भेजा जा चुका है। मौजूदा समय में स्टार्टअप्स लगातार सात आकलन वर्ष में से तीन वर्षों में टैक्स छूट का फायदा उठा सकते हैं।

नयी दिल्ली से अन्य समाचार व लेख

» अगले महीने भारत अमेरिका के बीच पहला 'टू प्लस टू' वार्ता

» दिल्ली के IGI एयरपोर्ट पर सोना तस्करी के बड़े रैकेट का भंडाफोड़, बाप-बेटे समेत 8 गिरफ्तार

» मुख्‍य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन का इस्‍तीफा, दिया निजी कारणों का हवाला

» बाढ़ प्रभावित राज्यों को केंद्र से मिलेगी पूरी मदद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

» धरना दे रहे केजरीवाल को मिला चार सीएम का साथ; ममता बोलीं- यह संवैधानिक संकट, पीएम से करेंगे बात

 

नवीन समाचार व लेख

» अगले महीने भारत अमेरिका के बीच पहला 'टू प्लस टू' वार्ता

» मथुरा में फर्जी शिक्षकों की भर्ती के मामले में निलंबित बीएसए सहित अन्य से पूछताछ

» जनपद चित्रकूट में भीषण बिजली संकट को लेकर नारेबाजी, हंगामा और सड़क जाम

» दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्रों में सुरक्षात्मक साईन बोर्ड स्थापित न करने पर होगी कार्रवाई: डीएम

» बहराइच  मे 24 जून को प्रस्तावित सामूहिक विवाह कार्यक्रम स्थगित