लखीमपुर मे सीएचसी में बीते दो माह से नहीं हैं एंटी रेबीज इंजेक्शन

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखीमपुर मे सीएचसी में बीते दो माह से नहीं हैं एंटी रेबीज इंजेक्शन


🗒 सोमवार, जनवरी 22 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर बीते दो माह से एंटी रेबीज इंजेक्शन नहीं हैं। इंजेक्शन न होने के कारण दूर-दराज से आने वाले लोगों को बैरंग लौटना ही नहीं पड़ता बल्कि मजबूरन खुले बाजारों में बिकने वाली दवा का सहारा लेना पड़ रहा है। महंगे रेबीज न खरीद पाने में असमर्थ गरीब परिवार के लोगों को बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। रेबीज दवा लगवाने के लिए लोखंद्ररपुर निवासिनी रामरती बताती हैं कि वह जंगल में जलौनी लेने गई थी वहीं किसी जंगली जानवर ने काट लिया था। उसी समय से वह अस्पताल के चक्कर काट रही हैं, लेकिन उन्हें दवा के नाम पर बैरंग लौटाया जा रहा है और कहती हैं कि घर के हालात ठीक न होने के चलते बाजार से खरीद कर लगवा नहीं पा रही हूं। मूड़ा बुजुर्ग के रहने वाले मो. युनूस बताते हैं कि वह रोज पड़ोस के गांव में मजदूरी करने सुबह जाते हैं और देरशाम को वापस आना होता है बीते 40 दिनों पूर्व शाम को रास्ते में उन्हें एक कुत्ते ने काट लिया था। पर सरकारी अस्पताल में यह सुविधा नहीं मिल रही। लुधौरी के रहने वाले दीपक शुक्ला बताते हैं कि उनकी जमीन मदनापुर जंगल के निकट है और वह खेत देखने गए थे इसी बीच बंदरों के झुंड में से दो बंदरों ने हमला बोल कई जगह पर काट लिया था। बंदरों के काटने के बाद प्रथम उपचार गांव में कराया और रेबीज इंजेक्शन लगवाने के लिए 15 दिनों पूर्व सीएचसी में पर्चा भी बनवाया, लेकिन दवा का स्टॉक न होना बता विभाग ने पल्ला झाड़ लिया। तीन बार अस्पताल के चक्कर लगाने के बाद मजबूरन कस्बे के एक चिकित्सक के यहां लगवाना पड़ा। यह समस्या क्षेत्र में एक दो लोगों की नहीं बल्कि बड़ी संख्या में ऐसे लोगों की है जिन्हें रेबीज इंजेक्शन की आवश्यक्ता है। इस संबंध में सीएचसी प्रभारी अरुण कुमार मिश्रा ने बताया कि रेबीज इंजेक्शन काफी दिनों से अस्पताल में नहीं हैं। कई बार जिला मुख्यालय को पत्र भेजकर मांग की है, जैसे ही आते है मरीजों को लगाए जाएंगे।

लखीमपुर मे सीएचसी में बीते दो माह से नहीं हैं एंटी रेबीज इंजेक्शन

लखीमपुर खीरी से अन्य समाचार व लेख

» लखीमपुर खीरी के निघासन मे ​लोकप्रियता व जागरूकता कार्यक्रम का पचपेड़ी उच्चप्राथमिक विद्यालय में हुआ सफल आयोजन

» निघासन तहसील के ग्राम पंचायत धर्मापुर के गांव पचपेड़ा मे प्रधान द्वारा लगाया जा रहा पीला खड़न्जा

» निघासन खीरी: विकासखण्ड की ग्राम पंचायत लालबोझी के ग्राम पंचायत अधिकारी शिवप्रकाश दुबे को स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत सम्मानित किया

» लखीमपुर खीरी में गाँव-गाँव में बाघ का कहर लोगो में दहशत का विषय बना

» लखीमपुर खीरी इंडोनेपाल बॉर्डर पर पकड़ी गई भारी मात्रा में नेपाली करेंसी 

 

नवीन समाचार व लेख

» नहीं होगा सरकारी बैंकों का निजीकरण, अरुण जेटली ने खारिज की मांग

» अन्‍ना हजारे ने मुख्‍य सचिव से विधायकों की मारपीट पर अरविंद केजरीवाल को लताड़ा

» मारपीट की घटना से आहत मुख्य सचिव ले सकते हैं दिल्ली सरकार से तबादला

» सत्ता में आने पर कांग्रेस पारित कराएगी महिला आरक्षण विधेयक : राहुल

» औरैया जिला अस्पताल में सरकारी को जगह नहीं, प्राइवेट एम्बुलेंस का कब्जा