यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रायबरेली से स्वास्थ्य महकमे मे डॉक्टरों का कारनामा सड़क पर हुआ प्रसव


🗒 बुधवार, फरवरी 21 2018
🖋 पंकज जैसवाल, ब्यूरो प्रमुख रायबरेली

रायबरेली सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से स्वास्थ्य महकमे के दावों के उलट एक तस्वीर सामने आयी है. यहां एक प्रसूता ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के बाहर सड़क किनारे अपने बच्चे को जन्म दिया. जब प्रसव हो गया

 रायबरेली से स्वास्थ्य महकमे मे डॉक्टरों का कारनामा सड़क पर हुआ प्रसव

तब अस्पताल के जिम्मेदारों ने उसे सीएचसी में भर्ती किया. सुदूर क्षेत्रो में स्वास्थ्य सेवाओं और कर्मियों की संवेदहीनता को उजागर करती यह तस्वीर रायबरेली जिला मुख्यालय से लगभग 45 किमी दूर खीरो सीएचसी की है. यहां भूपखेड़ा गांव निवासी प्रेमशंकर ने अपनी पत्नी सोमवती को अस्पताल में भर्ती करवाया.आरोप है कि सीएचसी खीरो में मौजूद डाक्टर मनोज मिश्रा और नर्स नीतू यादव ने संवेदनहीनता दिखाते हुए गर्भवती सोमवती को अस्पताल में भर्ती करने के बजाय उसकी गंभीर हालत का हवाला देते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया. लेकिन सोमवती ने जिला अस्पताल पहुंचने से पहले ही सीएचसी के गेट पर बच्चे को जन्म दे दिया.सोमवती के परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग की सुविधाओं से दूर सड़क पर बच्चे का जन्म कराया. यह वाकया कैमरे में कैद हो गया तो आनन-फानन में सीएचसी में मौजूद स्टाफ ने सोमवती को अस्पताल में भर्ती करवाया. सोमवती के परिजन ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा ​कि उसकी हालत पर किसी को तरस तक नहीं आया. बोल दिया कि यहां से जाओ. न कोई सहायता दी न ही एंबुलेंस की व्यवस्था की गई. अभी हम लोग सीएचसी से सोमवती को लेकर निकले ही थे कि उसका दर्द बढ़ गया, जिसके कारण सड़क किनारे चादर में छिपाकर प्रसव कराना पड़ा