यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मैरी क्रिसमस से हुआ था आज की किस क्रांति का जन्म


🗒 सोमवार, दिसंबर 24 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

क्रिसमस की तैयारियां जोरों पर हैं। हर तरफ त्योहार की रौनक छाई हुई है। बधाई का सिलसिला भी शुरू हो चुका है। मगर, ये कम लोग ही जानते होंगे कि शॉर्ट मैसेज सर्विस (एसएमएस) का जन्म भी क्रिसमस की खुशियों के बीच ही हुआ था। 26 साल पहले एक इंजीनियर ने अपने दोस्त को एसएमएस भेजकर क्रिसमस की बधाई दी थी। यह एसएमएस था मैरी क्रिसमस।

मैरी क्रिसमस से हुआ था आज की किस क्रांति का जन्म

एसएमएस का जन्म तीन दिसंबर 1992 को हुआ था। लंदन निवासी 22 वर्षीय इंजीनियर नील पेप वॉथ ने अपने टाइप राइटर से अपने दोस्त रिचर्ड जार्विस के मोबाइल पर मैरी क्रिसमस का बधाई संदेश एसएमएस के जरिये भेजा था। उस समय उन्होंने भी नहीं सोचा होगा कि आने वाले समय में बधाई संदेश भेजने के लिए एसएमएस का ही सबसे ज्यादा प्रयोग होगा। इन 26 वर्षों में एसएमएस दुनिया में छा गया है।

एसएमएस से जुड़ी रोचक बातें

- तीन दिसंबर 1992 को पहला एसएमएस भेजा गया।

- 1995 में एसएमएस सेवा को और तेज बनाने के लिए मोबाइल में टी-9 ऑप्शन आया।

2003 में पहली बार इंग्लैंड के स्टार फुटबॉल खिलाड़ी डेविड बेकहम एसएमएस की वजह से विवाद में आए। बेकहम द्वारा अपनी निजी सचिव को भेजे एसएमएस के सार्वजनिक होने से उनकी शादी टूटने के कगार पर पहुंची।

- 2005 में पहली बार सिंगिंग कंपटीशन में एसएमएस वोटिंग का प्रयोग हुआ।

2008 में नेलसन की रिपोर्ट में सामने आया कि यूनाइडेट स्टेट में महीने में हर मोबाइल यूजर कॉल से ज्यादा मैसेज रिसीव करता है और भेजता है।

- 2009 में वाट्सएप आया।

2011 में फिनलैंड, हांगकांग, स्पेन और नीदरलैंड में क्रिसमस पर इतने मैसेज भेजे गए, जितने पूरे साल में नहीं भेजे गए थे।

- 2011 में ऑफ कॉम के सर्वे में सामने आया कि डेली कम्युनिकेशन में परिवार के सदस्य और दोस्त एसएमएस का ही प्रयोग करते हैं।

विशेष से अन्य समाचार व लेख

» निजी शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण के लिए अभी करना पड़ेगा और इंतजार

» गरीबी- अमीरी की खाई कैसे पटे ?

» अब फार्मेसी डिप्लोमा की बढ़ेंगी तीस हजार सीटें, प्रदेश में खुलेंगी 500 नई संस्थाएं

» सवर्ण आरक्षण से गरीबों को लाभ कम, नुकसान अधिक होने की आशंका

» SBI देता है नाबालिग के नाम पर बैंक अकाउंट खोलने का मौका

 

नवीन समाचार व लेख

» सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत थाना खन्ना टोल प्लाजा पर गोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन किया गया

» बालक लापता परिजनो ने जताई खदान में गिरने की आशंका !

» चौकी इंचार्ज पढुआ नरेंद्र सिंह की बैंड बाजे के साथ की गई विदाई।

» ट्रैक्टर की टक्कर से बस बीस फीट गहरी खाई में पलट गई। हादसे में बस के चालक सहित चार लोगों की मौत हो गई।

» आरएसएस का ऋतम एप लांच होते ही छा गया एक लाख से अधिक लोगों ने किया डाउनलोड