एक्सप्रेस-वे पर कार पलटने से दो एचएएल इंजीनियर समेत तीन की मौत

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एक्सप्रेस-वे पर कार पलटने से दो एचएएल इंजीनियर समेत तीन की मौत


🗒 रविवार, मार्च 11 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

आगरा एक्सप्रेस-वे पर बांगरमऊ कोतवाली क्षेत्र के गांव सबलीखेड़ा के सामने तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे ग्रीनफील्ड में पलट गई। दुर्घटना में सभी कार सवार छह युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को बांगरमऊ सीएचसी लाया गया। जहां से पांच को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया जबकि एक को उसके परिजन हरदोई लेकर चले गए। जिला अस्पताल भेजे गए घायलों में दो ने रास्ते में दम तोड़ दिया, जबकि एक की जिला अस्पताल पहुंचने के बाद मौत हो गई। घटना के समय कार सवार लोग हरदोई सांडी कस्बा निवासी अपने मित्र की बहन की शादी समारोह में शामिल होकर वापस लौट रहे थे, घटना के शिकार युवक लखनऊ की एचएएल में मैकेनिकल इंजीनियर व अन्य पदों पर तैनात थे।

एक्सप्रेस-वे पर कार पलटने से दो एचएएल इंजीनियर समेत तीन की मौत

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर हादसा

लखनऊ स्थित एचएएल में आरएसी अनुभाग में काम करने वाले छह युवक सांडी हरदोई निवासी अपने मित्र की बहन की शादी में शामिल होने के लिए गए थे। जहां से रविवार सुबह वापस लखनऊ के लिए लौट रहे थे। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर अभी उनकी गाड़ी बांगरमऊ कोतवाली क्षेत्र के गांव सबलीखेड़ा शादीपुर गौरिया के निकट अचानक चालक का कार से नियंत्रण खो गया और कार पलट कर सड़क से करीब 25-30 फिट नीचे खंती में चली गई। आसपास के खेतों मेंं काम कर रहे ग्रामीणों ने कार के अंदर दबे लोगों को बाहर निकाला और पुलिस व 108 एंबुलेंस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने कार सवार एचएएल के मैकेनिकल इंजीनियर मुदित दीक्षित (26) पुत्र राजेश दीक्षित निवासी विजय नगर नई बस्ती शाहजहांपुर व सचिन शुक्ला (25) पुत्र आदर्श शुक्ला निवासी ससगवां लखीपुर खीरी के अलावा उनके सह कर्मी यादवेंद्र सिंह उर्फ यदुवेंद्र (27) पुत्र ब्रजकिशोर निवासी दिव्या नगर गोरखपुर वर्तमान पता इंदिरा नगर लखनऊ, मोहन पाठक (23) पुत्र शिवेंद्र पाठक निवासी मुंशीगंज अलीगंज लखनऊ, सौरभ गुप्ता (22) पुत्र अनिल कुमार सांडी, हरदोई और उमाशंकर (25) को बांगरमऊ सीएचसी पहुंचाया। हालत गंभीर होने से सभी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

इसी बीच घटना की सूचना पाकर पहुंचे सौरभ के परिजन उसे लेकर हरदोई चले गए जबकि बाकी पांच को जिला अस्पताल भेज दिया गया। मुदित और सचिन ने जिला अस्पताल पहुंचने से पहले दम तोड़ दिया, जबकि योगेंद्र की उपचार के दौरान हो गई। हालत लगातार बिगड़ते जाने से मोहन और उमाशंकर को जिला अस्पताल से ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया। घटना की सूचना पर पहुंचे मृतकों के परिजनों ने बताया कि कार सवार सभी युवक एचएएल लखनऊ में कार्यरत थे। शनिवार शाम को सभी लखनऊ से एक शादी में शामिल होने के लिए सांडी के लिए निकले थे। रविवार सुबह वापस लखनऊ लौटते समय हादसे का शिकार हो गए।

फतेहपुर के थाना क्षेत्र के उसरैना हाईवे पर भोर पहर तेज रफ्तार बोलेरो बेकाबू होकर पेड़ से जा टकराई। हादसे में चालक की मौत हो गई, जबकि तीन टावर कर्मी जख्मी हो गए। घायलों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां से दो की हालत गंभीर देख लखनऊ रेफर कर दिया। हादसे की वजह चालक को नींद की झपकी आना बताया जा रहा है। रायबरेली जिले के बक्तावरपुर थाना डलमऊ गांव निवासी 45 वर्षीय संदीप यादव एक मोबाइल टावर कंपनी की बोलेरो चलाते थे। शनिवार को वह देर रात टावर कर्मियों संजय कुमार, देवेश मिश्रा व देशराज को गाड़ी में बिठाकर कौशांबी बार्डर से थरियांव तक हाईवे में स्थित टावर का सर्वे कर रहे थे। तभी उसरैना हाईवे पर बेकाबू बोलेरो एक पीपल के पेड़ से जा टकराई। पीआरवी टीम घायलों को एंबुलेंस से जिला चिकित्सालय लेकर गई जहां चिकित्सकों ने चालक संदीप यादव को मृत घोषित कर दिया जबकि घायलों को अस्पताल में भर्ती कर लिया, जहां से देवेश मिश्रा व देशराज को लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया।

संगम पर नाव पलटने से श्रद्धालु की मौत

संगम पर एक नाव पलटने से महिला श्रद्धालु निर्मला रघुनाथ नेमन (60) की मौत हो गई, जबकि अन्य को बचा लिया गया। हादसे से वहां अफरातफरी मच गई। महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले के लांजा थानाक्षेत्र स्थित मुक्कम कुआं गांव निवासी रघुनाथ अनंत नेमन किसान हैं। वह अपनी पत्नी निर्मला व गांव के 12 अन्य लोगों के साथ शनिवार को वाराणसी पहुंचे। वहां गंगा स्नान करने के बाद रविवार सुबह संगम आए। दोपहर करीब 12 बजे एक ही नाव पर रघुनाथ, उनकी पत्नी निर्मला व दत्ता, रघुनाथ केशव जोशी, अनंत, विजय वी मोरे, शिव जी गनपत देसाई, भारती देसाई, स्मिता रघुनाथ जोशी, आरती दत्ता, राम मोड़क, टी वेंकटेश, अरुणा अनंत व वेवा सावंत सवार होकर संगम पर पहुंचे। नोज पर शाही वोट से उतरने के लिए निर्मला ने कदम बढ़ाया तभी नाव पलट गई। इससे वह दब गई। जल पुलिस के जवान, नाविक और गोताखोर कूद पड़े, किसी तरह नाव सीधी कर सभी को बचा लिया, जबकि निर्मला पानी में डूब गई। पुलिस ने उन्हें निकालकर अस्पताल भिजवाया, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। हादसा और मौत से संगम स्नान करने आए सभी श्रद्धालु सन्न रह गए। इंस्पेक्टर दारागंज केके शर्मा का कहना है कि संतुलन बिगडऩे से नाव पलटी, जिससे महिला की मौत हो गई। 

उन्नाव से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ-कानपुर हाईवे पर आरओबी की स्लैब में फिर आई दरार

» उन्नाव में पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार हुए 5 शातिर बदमाश

» उन्नाव में डिवाइडर से टकराई कार, तीन की मौत

» पूर्व SP नेहा पांडे से CBI सोमवार को दर्ज करेगी बयान

» उन्नाव मे योगी ने प्रधानों को दिया ग्राम पंचायत स्तर पर समाधान दिवस मनाने का सुझाव

 

नवीन समाचार व लेख

» प्रशासन कर रहा है किसी बड़े हादसे की उम्मीद

» सैलजा की राजस्थान में एंट्री से हरियाणा में अध्यक्ष पद के लिए बढ़ी खींचतान

» मंत्रियों और अफसरों की आजादी पर पहरा लगने का खतरा

» कन्नौज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा लश्कर-ए-तैयबा की भाषा बोल रही कांग्रेस

» लखनऊ में बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब बोले- अयोध्या में राम मंदिर बनाने के पक्ष में है शिया समाज