यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अलीगढ़ के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में मारा छापा, मिली खामियां


🗒 मंगलवार, अगस्त 07 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

देवरिया में नारी संरक्षण गृह में यौन शोषण की घटना के बाद मुख्यमंत्री के निर्देश पर मंगलवार को अलीगढ़ के कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय व वृद्धा संरक्षण गृह आदि में बीस अफसरों की टीम ने अचानक छापा मारा। बारीकी से की गई छानबीन में अधिकारियों को तमाम खामियां मिली हैं। इसका अधिकारियों ने अभी खुलासा नहीं किया है। जिले में चेकिंग के लिए अधिकारियों की 12 टीमें बनाई गई हैं, जो जिले के सभी कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों में चेकिंग कर रही हैं।

अलीगढ़ के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में मारा छापा, मिली खामियां

बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस जैसी घटना के बाद देवरिया के नारी संरक्षण गृह में महिलाओं के उत्पीड़न व गलत कामों में लिप्त पाए जाने का खुलासा होने के बाद सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को बाल गृह और महिला संरक्षण गृह का निरीक्षण करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद मुख्य सचिव डॉ. अनूप चंद्र पाडेय ने मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को 24 घटे के अंदर नारी संरक्षण गृहों और कस्तूरबा गाधी विद्यालयों का निरीक्षण करने के निर्देश जारी किए। आला अधिकारियों के निर्देश के बाद मंगलवार को अलीगढ़ के अफसर भी हरकत में आ गए।मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा है कि निरीक्षण के दौरान संवासिनियों की संख्या के अनुसार उनकी उपस्थिति, उनके रहने के लिए आवश्यक सुविधाएं एवं सुरक्षा की जानकारी प्राप्त कर अपर मुख्य सचिव (महिला कल्याण) को 24 घटे के अंदर रिपोर्ट भेज दी जाए। मुख्य सचिव और सीएम के इस आदेश के बाद मंगलवार को अलीगढ़ में अधिकारियों ने कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में छापा मारा।बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर की तरह ही देवरिया के एक बालिका गृह में वहा लड़कियों के साथ कथित यौन शोषण का मामला सामने आया था। एक बच्ची की शिकायत पर एसपी ने बालिका गृह से कई लड़कियों को रेस्क्यू कराया है। फिलहाल संस्था को सील कर दिया गया है। इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया, जबकि एक आरोपी फरार है। पुलिस का दावा है कि संस्था से अभी 18 लोग गायब हैं, जिनमें बालिका गृह की महिलाएं, लड़किया और बच्चे शामिल हैं।

उत्तर प्रदेश से अन्य समाचार व लेख

» UP मे बालिका संरक्षणगृहों में जिलाधिकारियों का औचक निरीक्षण

» एएमयू की बैठक का अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन ने किया बहिष्कार

» शामली मे खूनी संघर्ष में एक कांवडिये की मौत, चार ने हादसों में दम तोड़ा

» सरकारी स्कूलों में तीन लाख 43 हजार बच्चों ने छोड़ी पढ़ाई, विभाग में हड़कंप

» अभी भी उप्र में बाढ़ का कहर जारी, एक महीने में 200 लोगों ने गंवाई जान 1400 घर गिरे

 

नवीन समाचार व लेख

» गृह संचालिका गिरिजा की दोनों बेटियों समेत छह गिरफ्तार

» कैबिनेट ने किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी दे दी अब एडीशनल प्रोफेसर और प्रतिकुलपति की तैनाती

» देवरिया बाल गृह के बच्चे विदेश तक भेजे गए

» अमरोहा के जोया में हाईवे पर चलती कार में आग लगने से इसमें पांच लोग झुलस गए

» अखिलेश यादव ने कहा-यूपी में कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है या नहीं यह एक बड़ा सवाल