यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जमीन कब्जाने वालो के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज


🗒 शनिवार, दिसंबर 15 2018
🖋 शुभम शर्मा, वृन्दाबन संवाददाता मथुरा

मथुरा। नौहझील में झीलों की जमीन पर कब्जा करने वाले 16 लोगों के खिलाफ लेखपाल ने मुकदमा दर्ज करा दिया है।
यहां हम आपको ये बता दें कि नौहझील ब्लाॅक में कभी 9 झीलें हुआ करती थीं। इन्हीं झीलों के कारण इस कस्बे का नाम नौहझील पड़ गया। राजस्व विभाग के रिकाॅर्ड के अनुसार नौहझील खादर व दिलुपट्टी खादर में 42.2 हेक्टेयर भूमि में झील दर्ज हैं। जिन पर अवैध कब्जा था। बीते समाधान दिवस में इस आशय की शिकायत के बाद डीएम सर्वज्ञराम मिश्र ने झीलों की जमीन को तत्काल प्रभाव से कब्जामुक्त कराने का निर्देश दिया। जिसके बाद 17 लेखपाल व 2 कानूनगो की टीम ने नौहझील में दर्ज झीलों की पैमाइश कर कब्जा मुक्त कराना शुरू कर दिया। तकरीबन 40 हेक्टेयर झीलों की जमीन को कब्जामुक्त करा दिया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि 16 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जिन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है उनमें गोपाल शरण पाठक, राजबहादुर, पप्पू, राजनारायन,डालचंद, नौहबत, बहोरीलाल, सुरेन्द्र, सुंदर, धर्मपाल, राजपाल, दुर्गा प्रसाद, महेश, सुरेश, वेद प्रकाश, चन्द्रपाल है ये सभी नौहझील के ही निवासी है। इनके खिलाफ सार्वजनिक सम्पति नुकसान व सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

जमीन कब्जाने वालो के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» घर मे झाड़ू लगा रही विवाहिता से की छेड़छाड़

» अंतरराष्ट्रीय वाहन लुटेरे गैंग के सरगना समेत पांच लुटेरो को दबोचा

» मथुरा,वृन्दावन व गोवर्धन में पीआरटी सिस्टम स्थापित होने से यातायात व्यवस्था बेहतर होगी

» चंद्रोदय मंदिर में हुआ गीता उत्सव का भव्य शुभारंभ

» पुलिस की मिलीभगत से बड़े पैमाने पर हो रहा नशे का कारोबार

 

नवीन समाचार व लेख

» आलमबाग क्षेत्र मे मोबाइल शाप मे लाखों के किमती मोबाइल समेत लाखों रुपये नगदी पर किया हाथ साफ

» काशानए क़ादरिया मे जश्ने गौसुल वरा की महफिल सजाई गई

» जमीन कब्जाने वालो के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज

» घर मे झाड़ू लगा रही विवाहिता से की छेड़छाड़

» अंतरराष्ट्रीय वाहन लुटेरे गैंग के सरगना समेत पांच लुटेरो को दबोचा