यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

UP मे कई जगह अराजकता की भेंट चढ़ी सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा, प्रदेश में सॉल्वर गैंग के 24 लोग गिरफ्तार


🗒 रविवार, जनवरी 06 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 69 हजार सहायक शिक्षकों की भर्ती के लिए आयोजित परीक्षा में भी काफी अराजकता रही। लखनऊ के साथ ही प्रयागराज, कानपुर व मुरादाबाद से सॉल्वर गिरोह के सदस्यों को पकड़ा गया। इनमें 23 युवक व एक युवती भी शामिल है। एसटीएफ ने सभी को गिरफ्तार कर लिया है। मेरठ के साथ ही मुरादाबाद में इसका पेपर आउट होने की सूचना थी। 

UP मे कई जगह अराजकता की भेंट चढ़ी सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा, प्रदेश में सॉल्वर गैंग के 24 लोग गिरफ्तार

प्रदेश में सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा के दौरान डिवाइस से नकल कराने और दूसरे के स्थान पर पेपर देने वाले गैंग के 24 लोग पकड़े गए। एसटीएफ ने ऐसे लोगों के खिलाफ धरपकड़ अभियान तेज कर रखा है। इसी बीच मेरठ व मुरादाबाद में पेपर व उत्तर परीक्षा के दौरान ही वाट्सएप पर वायरल होने से सूचना से अधिकारियों में खलबली मच गई। इसकी सूचना पर तुरंत सक्रिय एसटीएफ ने संबंध में कुछ लोगों को पकड़कर पूछताछ शुरू कर दी।मुरादाबाद में पुलिस ने सहायक अध्यापक परीक्षा में छापामारी करते सॉल्वर गैंग के एक महिला समेत चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से फर्जी आइडी कार्ड, मोबाइल और इलेक्ट्रोनिक्स डिवाइस समेत अन्य उपकरण मिले हैं। पुलिस दावा कर रही है कि पेपर लीक और सॉल्वर गैंग के जरिए परीक्षा में सेंधमारी करने की तैयारी कर रहे थे। चार आरोपितों के खिलाफ मझोला थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया है। गैंग के सरगना की धरपकड़ को टीमें छापामारी कर रही है। मुरादाबाद में गैंग को एक महिला आपरेट कर रही थी।एसएसपी जे रविन्दर गौड ने बताया कि सहायक अध्यापक परीक्षा कराने के लिए मुरादाबाद में 39 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इसमें 27 लाख 87 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए। परीक्षा से पहले ही पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम सॉल्वर गैंग पर काम कर रही थी। पुलिस को इनपुट मिला था कि सॉल्वर गैंग ने मुरादाबाद के कई सेंटरों को हैक कर लिया है। सुरक्षा की ड्यूटी के साथ मझोला, कोतवाली और नागफनी पुलिस की एक टीम बनाकर सॉल्वर गैंग पर लगा दी गई थी। क्राइम ब्रांच को भी सॉल्वर गैंग की गतिविधि जानने के लिए लगाया था। पुलिस की टीम ने सबसे पहले नागफनी के अम्बिका इंटर कालेज में छापा मारा, यहां से महेंद्र पुत्र जयपाल सिंह, देवेंद्र सिंह पुत्र भोला सिंह निवासीगण धनसुरपुर थाना असमौली, सम्भल को पकड़ लिया, जो पेपर सॉल्व करने के लिए लगे हुए थे। टीम ने मझोला थाना क्षेत्र के साईं कन्या विद्या इंटर कालेज में छापामार कर रश्मि पत्नी अंकित निवासी हिमगिरी कालोनी सिविल लाइन को पकड़ा, जो इलेक्ट्रोनिक्स डिवाइस से पेपर हल कर रही थी। रश्मि ने अपना फोटो महिला अभ्यर्थी के प्रवेश पत्र पर लगवा रखा था। बाद में पुलिस की टीम ने पारकर इंटर कालेज में छापा मारा। वहां से नवीन कुमार पुत्र हरपाल सिंह निवासी ग्राम मंगुपुरा थाना रजबपुर अमरोहा को पकड़ लिया है। सभी के कब्जे से पुलिस ने फर्जी प्रवेश पत्र, वोटर आइडी तथा इलेक्ट्रोनिक्स डिवाइस बरामद की गई। पुलिस ने सभी आरोपितों के खिलाफ मझोला थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

लखनऊ के नेशनल इंटर कॉलेज में परीक्षा के दौरान धांधली की सूचना मिलते ही एसटीएफ ने मौके का जायजा लिया। इस दौरान नौ पेपर सॉल्वर पकड़े गए। बताया जा रहा है कि जो दूसरे के स्थान पर परीक्षा दे रहे थे। मौके पर एसएसपी कलानिधि नैथानी और सीएओ हजरतगंज अभय मिश्र भी पहुंचे। गिरफ्तारी कर नौ पेपर सॉल्वरों से एसटीएफ की टीम पूछताछ कर रही है। परीक्षा के दौरान धांधली की जानकारी मिलते ही पहुंची एसटीएफ को देख कॉलेज प्रशासन और परीक्षाथियों की बीच खलबली मच गई।एक-एक कर नौ पेपर सॉल्वरों की धरपकड़ हुई। इसमें नेशनल कालेज के प्रिंसिपल, नगर निगम के रेवेन्यू इंस्पेक्टर की भूमिका संदिग्ध है। एसटीएफ दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इनके गिरोह में दोनों के शामिल होने के साक्ष्य मिलें। गिरोह में गोसाईगंज में एंटी डकैती सेल का सिपाही अरुण और उसका भाई भी शामिल था। इन दोनों को भी गिरफ्तार किया गया है। एडीजी जोन राजीव कृष्णा और एसएसपी कलानिधि नैथानी ने सिविल पुलिस और एसटीएफ के साथ नेशनल कालेज में छापेमारी की। यहां पर खुफिया तंत्र से मिले इनपुट के आधार पर बड़ी कार्रवाई की गई। टीम ने यहां छापेमारी की और तीन कक्ष निरीक्षक के साथ नौ लोगों को दबोच लिया।प्रयागराज में परीक्षा में साल्वर गैंग के सदस्य कई लोगों को अलग अलग परीक्षा केंद्र से एसटीएफ ने पकड़ा। परीक्षा में सक्रिय सॉल्वर गैंग के सरगना नागेंद्र सिंह पुत्र रघुवर सिंह निवासी गांजा थाना पिपरी कौशांबी के साथ सरोज विद्या शंकर इंटर कॉलेज झूसी में सुरेश यादव पुत्र माता प्रसाद यादव निवासी अतरौरा थाना आसपुर देवसरा जनपद प्रतापगढ़ की जगह राजेश यादव पुत्र राधेश्याम यादव निवासी कंजा सराय थाना पट्टी जनपद प्रतापगढ़ तथा सहारा गर्ल्स इंटर कॉलेज करामात की चौकी करेली में संतोष सिंह पुत्र राम सिंह निवासी दोहरिया थाना मेजा जनपद प्रयागराज की जगह सॉल्वर मनोहर कुमार सा पुत्र सरजू शाह निवासी जीरोमाइल थाना नवादा जिला आरा बिहार को गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।

सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा के दौरान कानपुर के सुंदर नगर स्थित गुरु नानक गर्ल्स इंटर कॉलेज से एसटीएफ ने अनूप वर्मा के नाम से परीक्षा दे रहे धीरज कुमार को गिरफ्तार किया। वहीं गोविंद नगर के आर्य कन्या इंटर कॉलेज में कॉलेज प्रबंधन की मदद से एक सॉल्वर पकड़ा गया। हरदोई निवासी हंसपाल छिबरामऊ के प्रभाकर सिंह के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। हंसपाल के पास उसका फर्जी मतदाता पहचान पत्र मिला है। इनमें से प्रभाकर के प्रवेश पत्र पर हंसपाल की फोटो लगी है।मेरठ में परीक्षा खत्म होने के कुछ देर बाद कुछ लोगों के वाट्सएप पर परीक्षा के पेपर के कुछ अंश और सीरीज वाइज उत्तर कुंजी पहुंची। अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई। सिटी मजिस्ट्रेट शैलेंद्र सिंह ने बताया कि इस संबंध में प्रयागराज संपर्क किया गया। वहां से जानकारी मिली है कि इस संबंध में एसटीएफ ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। हालांकि यह पेपर परीक्षा के दौरान वायरल हुआ है। वहीं, एसटीएफ मेरठ और आसपास भी इस सबंध में छानबीन कर रही है।

उत्तर प्रदेश से अन्य समाचार व लेख

» दिव्यांगजन सहायक उपकरण हेतु आवेदन जमा करें

» असमोली क्षेत्र में मुंह से 'ठांय-ठांय' करने वाले दारोगा घायल, बदमाशों ने मारी गोली

» मथुरा के जुनापार मैं पत्नी ने पति पर लगाया मारपीट और दहेज आरोप

» मथुरा की छाता तहसील के अंतर्गत ग्राम प्रधान पर लगा फर्जी तरीके से लाभ देने का आरोप

» न्यू ईयर से ठीक पहले कप्तान ने 19 दरोगाओं का कार्यक्षेत्र बदला देखिए किसको मिली है कौनी सी जिम्मेदारी

 

नवीन समाचार व लेख

» वाराणसी में बाबतपुर एयरपोर्ट पर स्‍पाइस जेट के अंतरराष्‍ट्रीय विमान की हुई इमरजेंसी लैंडिंग

» आइएएस के भाई आलोक ने एसआइटी जांच पर उठाए सवाल बोले, सीबीआइ ने संदिग्धों को हिरासत में नहीं लिया

» प्रदेश में डेढ़ वर्ष में 42 फीसद परिवारों को मिले इज्जतघर: सीएम योगी आदित्यनाथ

» खनन घोटाला में बी. चंद्रकला के साथ अन्य आइएएस अफसर भी रडार पर

» भाजपा के साथ अपना दल ने दिये जाने के संकेत, योगी आदित्यनाथ को सराहा