यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बारवी कक्षा तक के विद्यालयों में तीन दिन की छुट्टी -शीतलहर के दृष्टिगत जिलाधिकारी ने लिया निर्णय


🗒 मंगलवार, जनवरी 08 2019
🖋 विजय सिंघल, सहायक ब्यूरो चीफ मथुरा

ब्यूरो चीफ विजय सिंघल मथुरा। षीतलहर से आम जनजीवन अस्तव्यस्त है। आगामी कुछ दिनों में सर्दी का असर और बढ सकता है।इस को ध्यान मंे रखते हए जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने 12वीं तक के सभी विद्यालयों कों तीन दिन के लिए बंद करने के आदेष जारी किये हैं।

बारवी कक्षा तक के विद्यालयों में तीन दिन की छुट्टी  -शीतलहर के दृष्टिगत जिलाधिकारी ने लिया निर्णय

कक्षा 01 से 12वीं तक के सभी बोर्ड के स्कूल व काॅलेज   अब 11 जनवरी को खुलेंगे। उन्होंने इस आदेश का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराने के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी तथा जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश दिये हैं। डीएम ने सख्त हिदयत देते हुए कहा कि इस अवधि में यदि कोई विद्यालय खुला मिलता है तो संबंधित प्रधानाचार्य के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

 सोमवार को पूरे दिन में भी मौसम सर्द रहा और आसमान में बादल छाये रहे जबकि सुबह कोहरे की धुंध में लिपटी रही।दिन में धूप और शाम को हवा चलने के साथ ही अचानक मौसम बदल गया। आसमान में बादल छा गये और ठंड बढ गई। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इस तरह का मौसम अभी एक-दो दिन बने रहने की संभावना है।

मथुरा से अन्य समाचार व लेख

» मथुरा के सुरीर में दीवाल काट कर चुरा ले गए भैंस, सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस

» मथुरा के व्रन्दावन में बंदरों ने किया पक्षी पर हमला, डाककर्मियों ने किया वन विभाग को सुपुर्द

» मथुरा में मजदूरों के लिए चलाई जा रही है अनोखी योजना, जल्द कराएं रजिस्ट्रेशन

» रालोद अध्य्क्ष 10 को मथुरा में जनसभा को करेंगे संबोधित

» मथुरा के बलदेव मैं एनसीसी परेड प्रशिक्षण में कैडेट्स ने दिखाया हुनर

 

नवीन समाचार व लेख

» आशियाना थाना क्षेत्र अंतर्गत चार साल की मासूम बच्ची के साथ रेप

» SC से केंद्र को बड़ा झटका, आलोक वर्मा बने रहेंगे CBI निदेशक; नहीं ले सकेंगे नीतिगत फैसले

» राजधानी समेत जिलों में दिखा असर, कर्मचारी हड़ताल पर-कारोबार ठप

» ऱालोद नेता जयंत चौधरी ने सवर्ण आरक्षण को भाजपा का चुनावी जुमला बताया

» पीलीभीत जहानाबाद थाना क्षेत्र मे परिवार के पांच लोग रात खा-पीकर सोए लेकिन सुबह सूरज चढ़ने तक नहीं उठे