मथुरा के कस्वा चौमुहां मैं बिजली कर्मियों का कारनाना, दो दिन में बिल 634 से बढ़कर हो गया 3143 रुपये

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मथुरा के कस्वा चौमुहां मैं बिजली कर्मियों का कारनाना, दो दिन में बिल 634 से बढ़कर हो गया 3143 रुपये


🗒 मंगलवार, जनवरी 08 2019
🖋 विजय सिंघल, सहायक ब्यूरो चीफ मथुरा

 ब्यूरो चीफ विजय सिंघल मथुरा के चौमुहां मैंबिजली विभाग के कारनामे भी अजब गजब हैं. पर हर बार परेशानी को उपभोक्ताओं को उठानी पड़ती है. ताजा मामला है कस्बा चौमुहां के मेन बाजार का. यहां हरचंदी का तीन दिन में दो बार बिल भेजा गया. 4 जनवरी को रीडर ने 643 रूपये का बिल निकाला. इसके बाद 6 जनवरी को दूसरे बिल रीडर ने 406 यूनिट का फालतू बिल निकाल दिया जो कि 3143.96 रूपये का बना. यूनिट के हिसाब से भी 2509.96 रूपये अधिक बिल बनाया गया. हरचन्दी के पौत्र जितेंद्र वार्ष्णेय ने बताया कि यदि हम लोग विद्युत बिल और मीटर की रिडिंग का मिलान नहीं करते तो रीडर की गलती का खमियाजा 2509.93 रूपये देकर हमे चुकाना पड़ता. जगदीश वार्ष्णेय ने बताया कि रीडर बिल निकाते समय उपभोक्ताओं से कम बिल निकाले का लालच देकर सुविधा शुल्क की मांग करते हैं. जो सुविधा शुल्क दे देता है उसका लोड और कम रीडिंग का बिल निकाल दिया जाता है।

मथुरा के कस्वा चौमुहां मैं बिजली कर्मियों का कारनाना, दो दिन में बिल 634 से बढ़कर हो गया 3143 रुपये