यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अब कारतूस लेने वाले टॉप टेन असलहा धारकों की होगी पड़ताल


🗒 मंगलवार, मार्च 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

चुनाव आचार संहिता लागू होते ही डीजीपी मुख्यालय स्थित चुनाव सेल पूरी तरह एक्शन में आ गया है। पुलिसकर्मियों के लिए किसी से उपहार लेने व प्रचार करने पर कड़ी पाबंदी समेत अन्य दिशा-निर्देश दिये गए हैं। खासकर हर जिले में सबसे अधिक संख्या में कारतूस लेने वाले टॉप टेन असलहा धारकों की पूरी पड़ताल तथा उनके द्वारा लिये गए कारतूसों का पूरा ब्योरा जुटाने की रणनीति बनाई गई है।आइजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि आदर्श आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। इसके साथ ही सोमवार को भी जोन, रेंज व जिले के पुलिस अधिकारियों को आचार संहिता की गाइड लाइन का शतप्रतिशत अनुपालन कराने के निर्देश भी दिये गए हैं। कानून-व्यवस्था से जुड़े सात बिंदुओं पर की जाने वाली कार्रवाई की अब प्रतिदिन की रिपोर्ट चुनाव आयोग को उपलब्ध कराई जायेगी।

अब कारतूस लेने वाले टॉप टेन असलहा धारकों की होगी पड़ताल

हाई कोर्ट के निर्देश पर सभी जिलों में स्क्रीनिंग कमेटी का गठन कर लाइसेंसी शस्त्र जमा कराने की प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश भी दिया गया है। कारतूसों की पड़ताल भी कराई जायेगी। सबसे अधिक कारतूस लेने वालों की जांच व सत्यापन का अभियान चलेगा, जिसके तहत कारतूस लेने वाले टॉप टेन असलहा धारकों की औचक चेकिंग कराने का निर्देश भी दिया गया है, ताकि चुनाव के दौरान किसी स्तर पर कारतूसों का दुरुपयोग न हो सके।चुनाव के दौरान अवैध शराब के कारोबार पर नकेल कसने के लिए पूरे प्रदेश में डीएम, एसएसपी/एसपी व जिला आबकारी अधिकारी के नेतृत्व में संयुक्त टीमें गठित कर 15 दिनों का चेकिंग अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है। यह अभियान सोमवार रात से ही प्रारंभ होगा। इसके साथ ही अवैध शराब के कारोबार में लिप्त आरोपितों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई के भी निर्देश दिये गए हैं।चुनाव के दौरान पुलिस ने 100 नंबर पर आने वाली शिकायतों के लिए खास व्यवस्था की है। चुनाव से जुड़ी सभी शिकायतें व सूचनाएं यूपी 100 के जरिये सीधे डीजीपी मुख्यालय स्थित चुनाव सेल को उपलब्ध करायी जाएंगी। इन शिकायतों पर कार्रवाई के साथ ही उनकी सूचना चुनाव आयोग को भी दी जायेंगी।

यह भी दिये गए निर्देश
पुलिसकर्मियों को मतदान केंद्रों तथा वहां की व्यवस्थाओं की पूरी जानकारी करने, अपराधियों व वारंटियों के खिलाफ अभियान के तहत कार्रवाई, पोस्टर-बैनर व प्रचार सामग्री हटवाने समेत अन्य निर्देश भी दिये गए हैं।  

ये न करें पुलिसकर्मी 
- किसी दल अथवा प्रत्याशी से कोई उपहार न लें। 
- किसी दल अथवा प्रत्याशी के प्रचार में न शामिल हों। 
- किसी दल/प्रत्याशी के पक्ष-विपक्ष में सोशल मीडिया पर कोई पोस्ट अथवा चर्चा न करें। 
- कोई चुनाव चिह्न वर्दी पर धारण न करें।
- किस भी दल से प्रतिबद्धता प्रदर्शित न करें। 
- किसी वोट देना चाहिये अथवा नहीं। सार्वजनिक स्थान पर इसकी चर्चा न करें। 
- मतदान केंद्रों के रास्तों में अतिक्रमण व आसपास एकत्रित ईंट-पत्थर की जानकारी कर विधिक कार्रवाई करें।

उत्तर प्रदेश से अन्य समाचार व लेख

» अब भाजपा मुख्यालय से लेकर दिल्ली तक टिकट बचाने में जुटे सांसद, नए दावेदारों ने भी लगाया जोर

» अब भाजपा में भी बगावत के सुर, साक्षी महाराज के साथ इलाहाबाद के सांसद को टिकट कटने का डर

» UP मे सपा ने जारी की तीसरी सूची, हाथरस व मीरजापुर के लिए घोषित किये उम्मीदवार

» उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा लोकसभा चुनाव के चलते टली

» UP के 17 हजार संवेदनशील मतदान स्थलों पर होगी पुलिस की खास नजर

 

नवीन समाचार व लेख

» मथुरा के टेंटीग्राम में सड़क हादसे में चाचा भतीजे हुए घायल

» अब कारतूस लेने वाले टॉप टेन असलहा धारकों की होगी पड़ताल

» मोहनलालगंज क्षेत्र में बसपा के चुनाव चिन्ह का प्रचार करेंगे सपा कार्यकर्ता

» सपा, बसपा, रालोद और कांग्रेस के कई दिग्गजों ने थामा भाजपा का दामन

» अब भाजपा मुख्यालय से लेकर दिल्ली तक टिकट बचाने में जुटे सांसद, नए दावेदारों ने भी लगाया जोर