पीएम नरेंद्र मोदी के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति ने की गंगा की लहरों की सवारी

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति ने की गंगा की लहरों की सवारी


🗒 सोमवार, मार्च 12 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भ्रमण के दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल फैक्रों ने नौका विहार का भी आनंद उठाया। दीनदयाल हस्तकला संकुल से पीएम मोदी के साथ राष्ट्रपति मैक्रों ने सीधा अस्सी घाट का रुख किया। 

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति ने की गंगा की लहरों की सवारी

दीनदयाल हस्तकला संकुल में आज पत्नी के साथ वाराणसी के साथ ही देश की कला की विधाओं से परिचय प्राप्त करने के बाद फ्रांस राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों दोपहर 1:30 बजे वहां से निकले। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी व फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों अस्सी घाट पर दोपहर 2:15 बजे पहुंचे। वहां से बोट पर सवार होकर गंगा नदी के विभिन्न गंगा घाटों से होते हुए दशाश्वमेध घाट पर पहुंचेंगे।

इससे पहले मीरजापुर में सोलर पावर प्लांट के उद्घाटन के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद फिर से उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी लौटे हैं। पीएम मोदी के साथ मैक्रों तथा उनकी पत्नी दीनदयाल हस्तकला संकुल में विभिन्न स्टॉल का जायजा लिया।

फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी भी समृद्ध काशी की विरासतों से परिचित हो रहे हैं। इनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी हैं। 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मीरजापुर में विंध्य की धरा पर पहुंचते ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का परंपरागत ढंग से स्वागत किया गया। यहां पर इन दो बड़े नेताओं के कंधे पर मां विंध्यवासिनी का आशीर्वाद दिखा। इनका चुनरी से स्वागत किया गया। 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मीरजापुर में विंध्य की धरा पर पहुंचते ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का परंपरागत ढंग से स्वागत किया गया। यहां पर इन दो बड़े नेताओं के कंधे पर मां विंध्यवासिनी का आशीर्वाद दिखा। इनका चुनरी से स्वागत किया गया। 

मीरजापुर में प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने 650 करोड़ की लागत से बने सौ मेगा वॉट के सोलर प्लांट का उद्घाटन किया। यह प्लांट दादरकला में 650 करोड़ रुपए की लागत से बना है। इस दौरान कंपनी के अधिकारियों ने प्लांट की विशेषताओं के बारे में भी जानकारी दी। दादरकला में 382 एकड़ में स्थापित सोलर प्लांट ने उद्घाटन के बाद काम शुरु कर दिया। 650 करोड़ की लागत से बने इस प्लांट से बिजली उत्‍पादन को जिगना पावर हाउस के ग्रिड से जोड़ा गया है। प्रथम चरण में 75 मेगावाट बिजली का उत्‍पादन किया जा रहा है धीरे धीरे इसकी क्षमता को बढा कर 100 मेगावाट किया जाना है।  

इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी तथा फ्रांस के राष्ट्रपति वाराणसी के लिए रवाना हो गए। दादरकला में 382 एकड़ में स्थापित सोलर प्लांट से प्रतिदिन 5 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन होगा। इस दौरान सीएम योगी योगी आदित्यनाथ तथा केंद्रीय मंत्री व मीरजापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल भी मौजूद थे।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वायुसेना के विशेष विमान से अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। उनके आगमन के कुछ देर बाद ही फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों भी फाल्कन विमान से एयरपोर्ट पर पहुंचे।एयरपोर्ट पर ही मौजूद भारतीय सेना के हेलिकाप्टर से पीएम व फ्रांस के राष्ट्रपति मीरजापुर स्थित दादरकला में सोलर प्लांट के उद्धघाटन के लिए सुबह 11 बजे रवाना हो गए। मीरजापुर के दादर कला में 100 मेगावाट के सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन। लागत 650 करोड़ आई है।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» वाराणसी में पद्मश्री प्रो. सरोज चूड़ामणि गोपाल के पति डा. सिद्ध गोपाल की ट्रेन की चपेट में आने से मौत

» डा. महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार की कोई जगह नहीं, सुभासपा विधायक पर कार्रवाई हो

» वाराणसी में मानवाधिकार आयोग के निर्देश पर नाबालिग को 'कैद' मामले में एसपी ग्रामीण ने सौंपी रिपोर्ट

» भाजपा की अपने सहयोगी दल सुभासपा से तकरार बढ़ी

» वाराणसी में अब 'छोटी ईद' का इंतजार, 22 को मनाई जाएगी

 

नवीन समाचार व लेख

» प्रशासन कर रहा है किसी बड़े हादसे की उम्मीद

» सैलजा की राजस्थान में एंट्री से हरियाणा में अध्यक्ष पद के लिए बढ़ी खींचतान

» मंत्रियों और अफसरों की आजादी पर पहरा लगने का खतरा

» कन्नौज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा लश्कर-ए-तैयबा की भाषा बोल रही कांग्रेस

» लखनऊ में बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब बोले- अयोध्या में राम मंदिर बनाने के पक्ष में है शिया समाज