यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी में निर्माणाधीन ओवरब्रिज का एक स्पैन गिरने से 12 लोगों की मौत, पीएम व सीएम ने जताया दुख


🗒 मंगलवार, मई 15 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रेलवे स्टेशन के सामने सड़क पर बन रहे फ्लाई ओवर का स्पैन गिरने के कई लोगों के दबे होने की आशंका। पिलर के नीचे कई गाडिय़ां भी दब गई हैं। इस दुर्घटना में कई लोगो के मरने की आशंका है। स्पैन गिरने के कारण बस सहित छह गाडिय़ां फंसी हैं। छह क्रेन स्पैन को उठाने में लगी हैं। यह राहत कार्य आधा घंटा से चल रहा है। 

वाराणसी में निर्माणाधीन ओवरब्रिज का एक स्पैन गिरने से 12 लोगों की मौत, पीएम व सीएम ने जताया दुख

वाराणसी में कैंट स्टेशन के सामने सड़क पर उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम फ्लाई ओवर का निर्माण करा रहा है। आज शाम को निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक स्पैन गिर गया। जिससे कि एक दर्जन से अधिक बाइक तथा कार इसकी चपेट में आ गए। पिलर के गिरने से मौके पर अफरातफरी का माहौल है। इसकी चपेट में दर्जन भर गाडिय़ां हैं। पिलर के नीचे कई लोगों की दबने से मौत हो गई है। इसके साथ ही दो दर्जन से अधिक लोग घायल हैं। जिनको स्थानीय लोग किसी तरह से पिलर के नीचे से निकालकर बाहर लाए हैं।

कैंट रेलवे स्टेशन के पास महीनों से बन रहा ओवरब्रिज का एक बड़ा हिस्सा मंगलवार शाम को अचानक जमीन पर आ गिरा। ओवर ब्रिज का हिस्सा जमीन पर गिरते ही नीचे मौजूद कई लोग इसके मलबे में दब गए।ओवरब्रिज का पिलर गिरने के बाद चीख पुकार मच गई और अफरा-तफरी की स्थिति मौके पर हो गई। इस दौरान भागादौड़ी और जान बचाने की कोशिश में कई लोग इस दौरान गिरकर घायल भी हो गए।काफी भीड़ भरे क्षेत्र में अचानक हुए इस हादसे में भगदड़ मचने के बाद मौके पर पुलिस कर्मियों ने मोर्चा संभाला और लोगों को सुरक्षित करने के प्रयास में जुट गए। हादसे की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय नागरिक भी सहयोग में आगे आए और ओवरब्रिज गिरने के बाद नीचे फंसे वाहन और उसमें मौजूद लोगों को बचाने की कोशिश करने लगे।

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि मौके पर पुलिस की टीमें भेजी गई है। राहत व बचाव कार्य के साथ ही ट्रैफिक नियंत्रण पर भी खास ध्यान रखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि अभी कुछ लोगों के दबने की बात सामने आई है लेकिन अभी हम संख्या नहीं बता सकते हैं। हमारी कोशिश है कि सभी घायलों को वहां से जल्द से जल्द निकाला जाए। उन्होंने कहा कि स्थानीय पुलिस मौके पर तत्काल पहुंच गई थी। बात जरूर है कि राहत बचाव कार्य के लिए पुलिस के पास चूंकि कोई साधन नहीं था, लिहाजा कार्य थोड़ी देर में शुरू हुआ। डीजीपी ने कहा कि एनडीआरएफ एक प्रोफेशनल टीम है, वह अपना काम कर रही है।

डीएम रामेश्वर मिश्रा ने कहा रेस्क्यू वर्क चल रहा है। एनडीआरएफ के साथ ही जिला प्रशासन व पूरा अहम इसमें लगा हुआ है। उन्होंने कहा कि मेडिकल टीमें मौके पर लगी हुई है। उन्होंने कहा कि अभी राहत बचाव कार्य चल रहा है। कार्य पूरा होने के बाद जांच की जाएगी कि ये हादसा कैसे हुआ।हालांकि नीचे दर्जनों लोगों के फंसे होने की सूचना के बाद उनको बचाने की कोशिश की जा रही है मगर कई के मरने का अंदेशा भी स्थानीय लोगों की ओर से जतायी गई है। भीड़ भरा इलाका होने की वजह से प्रशासन भी लोगों को बचाने के लिए मौके पर पहुंच रहा है साथ ही आपदा राहत बल को भी सूचना दे दी गई है।

काफी भीड़ भरे क्षेत्र में अचानक हुए इस हादसे में भगदड़ मचने के बाद मौके पर पुलिस कर्मियों ने मोर्चा संभाला और लोगों को सुरक्षित करने के प्रयास में जुट गए। हादसे की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय नागरिक भी सहयोग में आगे आए और ओवरब्रिज गिरने के बाद नीचे फंसे वाहन और उसमें मौजूद लोगों को बचाने की कोशिश करने लगे।

नीचे दर्जनों लोगों के फंसे होने की सूचना के बाद उनको बचाने की कोशिश की जा रही है मगर कई के मरने का अंदेशा भी स्थानीय लोगों की ओर से जतायी गई है। भीड़ भरा इलाका होने की वजह से प्रशासन भी लोगों को बचाने के लिए मौके पर पहुंच रहा है साथ ही आपदा राहत बल को भी सूचना दे दी गई है।

वहीं इस दौरान यातायात भी दोनों तरफ का बाधित हो गया तो काफी लंबी दूरी तक जाम की स्थिति भी बन गई। लोगों को बचाने के साथ ही पुलिस यातायात को सुचारु रूप से संचालित करने में व्यस्त हो गई। पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य में जुट गई। सपा शासनकाल से बनना शुरु हुआ यह ओवर ब्रिज चौकाघाट स्थित बस स्टैंड से लहरतारा तक विस्तार किया जा रहा था।

मुख्यमंत्री ने दुःख व्यक्त किया, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य वाराणसी रवाना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज वाराणसी में कैण्ट स्टेशन के सामने निर्माणाधीन पुल के एक हिस्से के गिरने की दुर्घटना पर दुःख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन, लोक निर्माण विभाग तथा अन्य सम्बन्धित विभागों को बचाव एवं राहत कार्य युद्धस्तर पर चलाने के निर्देश दिये हैं। राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ मौके पर मौजूद है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस हादसे में घायल लोगों की समुचित चिकित्सा व्यवस्था तथा हर सम्भव मदद सुनिश्चित की जाए। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य घटना स्थल पर पहुंचने के लिए वाराणसी रवाना हो गये हैं।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» जिला वाराणसी में लगाये गये गुजराती नरेंद्र मोदी को बनारस छोड़ने के पोस्टर

» जिला वाराणसी में पूरे परिवार को प्रसाद में जहर खिला फर्जी बाबा रफूचक्कर, गृह स्वामी की मौत, चार गंभीर

» अब बाबा विश्वनाथ दरबार में कोई नहीं रख सकेगा मोबाइल फोन

» वाराणसी मे डाक पार्सल लिखे कंटेनर से पशुओं की तस्करी, सात कंटेनर व दो ट्रक से 641 मवेशी बरामद

» वाराणसी के बीएचयू हॉस्पिटल में पागल कुत्ते ने 20 को काटा, आतंक से सिहर उठे मरीज व तीमारदार

 

नवीन समाचार व लेख

» गंगा बैराज आए युवक के स्कूटी खड़ी कर गंगा मे लगाई छलांग तलाश जारी पुलिस मौके पर

» निलम्वित जलकल सुपरवाईजर का हैरतअंगेज कारनामा

» कार में गैंगरेप के बाद मेरठ की महिला को बिलासपुर में हाईवे पर फेंका

» बारातियों पर पथराव से बवाल

» विद्युत विभाग उपभोक्ताओं को कर रहा है तार बदलने के नाम पर परेशान