यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी के बीएचयू में बवाल के दूसरे दिन छात्रों का धरना-प्रदर्शन, पूरे दिन तनाव पूर्ण शांति


🗒 गुरुवार, सितंबर 13 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

बीएचयू में बुधवार को दिन भर हुए बवाल के बाद गुरुवार को तनावपूर्ण शांति रही। हालांकि हास्टल से लेकर कैंपस तक में बवाल को लेकर सुगबुगाहट लोगों में होती रही। उल्लेखनीय है कि मेस में नाश्ते के विवाद को लेकर बुधवार को काशी हिंदू विश्वविद्यालय सुलग उठा था। बिड़ला लाल बहादुर छात्रावास के बाहर अराजकतत्वों का जमावड़ा रहा। बवाली छात्रों ने जमकर पथराव और तोडफ़ोड़ की। पुलिस की ओर से हवाई फायरिंग होने पर पेट्रोल बम फेंका। इस सबके बीच पुलिस अफसरों के पैर बंधे नजर आए।

वाराणसी के बीएचयू में बवाल के दूसरे दिन छात्रों का धरना-प्रदर्शन, पूरे दिन तनाव पूर्ण शांति

दिन चढ़ते ही बीएचयू में बवाल को लेकर छात्रों की गहमागहमी बढ़ गई। इसके बाद बवाल को लेकर अय्यर छात्रावास के छात्रों में आक्रोश फिर भड़का तो सुरक्षा को लेकर साइंस फैकल्टी छात्रों ने बंद करा दिया वहीं अन्य फैकल्टी को भी बंद करने की अपील करते हुए नोटिस भी चस्पा किया। चीफ प्रॉक्टर प्रो. रॉयना सिंह की तहरीर पर बवाली 18 छात्रों के खिलाफ लंका थाना में मुकदमा दर्ज हो गया है। साथ ही आरोपित छात्रों के बिड़ला हास्टल के चार कमरे सीज किए गए। कुलपति प्रो. राकेश भटनागर ने जिला प्रशासन संग बैठक कर आरोपितों पर कार्रवाई का निर्देश दिया है। 

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» अब बनारस, अयोध्‍या और इलाहाबाद में अब दिखेगा पर्यटन में नया तेवर और कलेवर

» काशी हिंदू विश्वविद्यालय फिर सुलग उठा फोर्स की कमी से पुलिस अफसरों के पैर बंधे, छात्रों के उपद्रव के चलते पीछे हटना पड़ा

» वाराणसी के बीएचयू मे हास्टल विवाद हंगामे के बाद धरना, हवाई फायरिंग भी

» जिला वाराणसी में अस्‍सी घाट की गलियाें में चलने लगी नाव, घाटों से शुरू हुआ पलायन

» हत्या की फिराक में जा रहे 25 हजार इनामियां बदमाश को पुलिस ने धर दबोचा

 

नवीन समाचार व लेख

» वाराणसी के बीएचयू में बवाल के दूसरे दिन छात्रों का धरना-प्रदर्शन, पूरे दिन तनाव पूर्ण शांति

» बुलंदशहर मे शबनम पर Acid Attack, देवर सहित आरोपित गिरफ्तार

» जिला फिरोजाबाद में घर में शौचालय न होने पर शर्म की वजह से छात्रा ने दी जान

» उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग सीबीआइ के निशाने पर

» तीन साल बाद आई रिपोर्ट में हुआ खुलासा,सिर और धड़ अलग-अलग महिला के थे