यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

स्पष्ट दिखने लगा है बीते चार वर्ष का विकास कार्य: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी


🗒 सोमवार, नवंबर 12 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में देश का पहला अंतरदेशीय जल मार्ग राष्ट्र को समर्पित किया। इस अंतर्देशीय जलमार्ग टर्मिनल से बंगाल के हल्दिया से वाराणसी तक जलमार्ग संचालित किया जाएगा। इसके बाद उन्होंने एयरपोर्ट से वाजिदपुर का रुख किया। इस दौरान जनता ने हर-हर महादेव के नारे के साथ पीएम नरेंद्र मोदी का अभिवादन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिंग रोड और लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट रोड का उद्घाटन किया।

स्पष्ट दिखने लगा है बीते चार वर्ष का विकास कार्य: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका बाद जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वाराणसी को जो तोहफा आज मिल रहा है, वह तो दशकों पहले मिल जाना चाहिए थे। जो आज हुआ है वो दशकों पहले होना चाहिए था। जो की नहीं हुआ।उन्होंने कहा कि देश का प्रधानसेवक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी-  देश का प्रधानसेवक होने और वाराणसी का सांसद होने के नाते मुझे आज दोहरी ख़ुशी है। वाराणसी और देश, इस बात का गवाह बना है कि संकल्प लेकर जब कार्य समय पर सिद्ध किए जाते हैं, तो उसकी तस्वीर कितनी भव्य और कितनी गौरवमयी होती है।पीएम मोदी ने कहा कि वाराणसी और देश, इस बात का गवाह बना है कि नेक्सट जनरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर की अवधारणा तथा कैसे ट्रांसपोर्ट के तौर-तरीकों का कायाकल्प करने जा रही है। कुछ देर पहले मैंने नदी मार्ग से पहुंचे देश के पहले कंटेनरवेसल का स्वागत किया। आज मैं प्रफल्लित हूं कि देश ने जो सपना देखा था वो आज साकार हुआ है।उन्होंने कहा कि आज वाराणसी इस बात का भी गवाह है कि संकल्प लेकर जब कार्य समय पर सिद्ध किए जाते हैं तो तस्वीर भव्य और उज्जवल ही नहीं गौरवमय भी होती है। न्यू जनरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ कायाकल्प भी हो रहा है। प्रधान सेवक होने के साथ ही मेरे लिए दोहरी खुशी का मौका है। पवित्र भूमि से हर किसी का आध्यात्मिक संपर्क है। आज जल थल नभ तीनों को जोडने वाली नई ऊर्जा का संचार क्षेत्र में हुआ है। नदी मार्ग से पहुंचे देश के पहले कंटेनर वेसेल का स्वागत किया। मल्टीमॉडल टर्मिनल का लोकार्पण किया। दशकों लग गए मगर प्रफुल्लित आनंदिन हूं जो आज काशी की धरती पर सपना साकार हुआ है। कंटेनर वेसेल चलने का मतलब पूर्वी भारत भी बंगाल की खाड़ी के साथ जुड़ गया है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज यहां बाबतपुर हवाई अडडे से सड़क रिंग रोड और कनेक्टिविटी के साथ अन्य परियोजनाओं के साथ गंगा को प्रदूषण से रोकने वाली योजना का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया है। यह बदलते बनारस की तस्वीर को और भव्य बनाएंगे। आपको पूरे पूर्वांचल को बधाई देता हूं। पहला अवसर है जब नदी मार्ग को कारोबार के लिए इतने व्यापक स्तर पर इस्तेमाल करने को सक्षम हुए। चार साल पहले बनारस हल्दिया को जलमार्ग से जोडने का प्रयास शुरू किया तो नकारात्मक बाते हुईं। मजाक उडाया गया। मगर जहाज के आने के साथ ही सबको जवाब मिल गया। यह पहला कंटेनर वेसेल माल ढुलाई नहीं न्यू इंडिया का जीता जागता सुबूत है। प्रतीक है जिसमें देश के संसाधनों और देश के सामथ्र्य पर भरोसा किया जाता है। आज कंटेनर वेसेल औद्योगिक सामान लेकर आया है वह खाद लेकर जाएगा। यानि प्रदेश में बना सामान सीधे पूर्वी भारत के बंदरगाहों तक पहुंच पाएगा। वह दिन दूर नहीं जब यहां होने वाली सब्जियां व अन्य उत्पाद इसी जलमार्ग से जाया करेगी। सोचिए यहां किसानों के लिए लाखों लोगों के लिए कितना बडा रास्ता खुल रहा है। कच्चा माल मंगाने और वैल्यू एडीशन कर बाहर भेजने में इसकी बडी भूमिका होगी। पीएम मोदी ने कहा कि आपके उत्साह प्यार के लिए नौजवानों का आभारी हूं, 2019 में जरूरत पड़ेगी। बदलाव कैसे आने वाला है उसको बारीकी से समझाना चाह रहा हूं। रोरो सर्विस शुरू होगी तो लंबी दूरी तय करने के लिए नया विकल्प मिलेगी। सीधे जहाज से दूसरे शहरों तक वाहन पहुंच जाएंगे। सामान सड़क से लाया जाता तो 16 ट्रक लगते। प्रति ट्रक साढे चार हजार रुपये बचेंगे। कुल मिलाकर जलमार्ग से समय और पैसा बचेगा। जलमार्ग से कितनी मदद होने वाली है। भीड और ईंधन से राहत मिलेगी। प्रदूषण घटेगा। नदियों में जहाज चलते थे। मगर मार्ग मजबूत करने के बजाय उपेक्षा की गई। देश का नुकसान किया गया। आपसे प्रार्थना है बहुत लंबे समय से लोग इंतजार कर रहे थे। शांति बनाए रखोगे तो नई बात है काशी वासियों को यह जानना जरूरी है। आप सोचिए सामथ्र्य नदियों की शक्ति के साथ सरकारों ने अन्याय किया। इसे समाप्त करने का काम हमारी सरकार कर रही है। आज देश में सौ से ज्यादा वाटरवे पर काम हो रहा है। वाराणसी से हल्दिया के बीच पांच हजार करोड खर्च कर सुविधा विकसित हो रही है। पूर्वी भारत को बड़ा फायदा मिलेगा। सामान ढुलाई ही नहीं बल्कि पूर्वी भारत के राज्यों नहीं एशियाई देशों से भी जोडेगा। समय के साथ टूरिज्म के लिए भी जाने जाएंगे। काशी की सभ्यता और संस्कार सब उसके अनुरुप होगा। आधुनिक स्वरूप के साथ ही विकास का नक्शा चलेगा।

पीएम मोदी ने कहा कि आधुनिक स्वरूप के साथ रास्ते नेचर कल्चर और एडवेंचर का संगम स्थल बनेगा। वाराणसी, भदोही और मीरजापुर कारपेट ही नहीं टेक्सटाइल का हब बन रहे हैं। इंडिया कारपेट एक्सपो की शुरूआत की थी। काशी से कोलकाता वाटरवे से उनको भी फायदा होगा। सुगमता का सुविधा से सीधा रिश्ता होता है। सेल्फी ले रहे हैं, सोशल मीडिया में बनारस छाया हुआ है। त्योहारों का समय है जो हवाई जहाज से घर आया होगा गर्व से भर गया होगा। बाहर गए लोग शहर आ रहे हैं तो उन्हें यकीन नहीं हो रहा है कि हरहुआ शिवपुर और तरना से गुजर रहे हैं। सडकें रुलाती थीं मगर अब स्थिति बदल गई है। बाबतपुर एयरपोर्ट को शहर से जोडने वाली सडक चार लेन की हो गई है। पर्यटकों को अपने ओर आकर्षित करने लगी है। जौनपुर सुल्तानपुर और लखनऊ की राह सुगम होगी। गोरखपुर लखनऊ व आजमगढ, अयोध्या जाने के लिए शहर में आने की जरूरत नहीं होगी। पूरा करने का प्रयास शुरू हुआ तो पूरा भी हुआ। दूसरे काम भी जल्द पूरे हो जाएंगे। बनारस में जाम की समस्या कम होगी और प्रदूषण भी घटेगा। सारनाथ जाना आसान होगा। हेलीपॉड से भी कनेक्टिविटी होगी। विश्वास भी लोगों में बढ़ जाता है। आज जितनी परियोजनाओं का शिलान्यास लोकार्पण हुआ है उससे रोजगार भी बढेगा।उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार देश का विकास कर रही है। देश विकास की राजनीति चाहता है। वोट बैंक की राजनीति नहीं करती है। चार वर्षों में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास साफ नजर आता है। नॉर्थ ईस्ट में भी रेल पहुंच रही है। नेशनल हाइवे एक्सप्रेस वे सरकार की पहचान बन गई है। सामान्य जरूरतों जैसे स्वच्छता और स्वास्थ्य पर भी काम किया है। दायरा जो पहले चालीस फीसद था अब 95 फीसद हो चुका है। गरीब से गरीब का भी अस्पताल में इलाज सुनिश्चित हुआ है। दो लाख से ज्यादा गरीबों का मुफ्त इलाज हो चुका है। हमारी नदियों को भी स्वस्थ रखने का फैसला लिया है। नमामि गंगे नए पडाव पर पहुंचा है। गंदे पानी के ट्रीटमेंट के लिए लोकार्पण शिलान्यास किए। दीनापुर में तीन प्लांट शहर की गंदगी को मां गंगा में मिलने से बचाएगा।

रामनगर प्लांट भी जल्द तैयार हो जाएगा। सरकार गंगा का पैसा पानी में नहीं बहा रही। बल्कि साफ करने में लगा रही है। नमामि गंगे परियोजना में पांच हजार करोड से काम चल रहा है। गांव ओडीएफ हो रहे हैं। गंगोत्री से गंगा सागर तक गंगा को निर्मल और अविरल बनाने का प्रयास चल रहा है। जन भागीदारी और जनभावना से काम हो रहा है। पुरानी सरकारों ने हजारों करोड़ बहा दिए। आज कुछ इलाकों में बिजली सुधार किया गया है। आइपीडीएस के तहत काम पूरा हो चुका है। जो तारों का जाल लटकता था अब अंडर ग्राउंड है। यह बड़ा कदम है। शहर के अन्य क्षेत्रों में भी इसे विस्तार दिया जाएगा। आपके प्रयासों ये काशी की यह तस्वीर देश दुनिया के सामने आ रही है। सहेजना है इसे ताकि गौरवगान होता रहे। प्रवासी भारतीय दिवस काशी के पावन भूमि पर होना है आपकी ही तरह ही देश दुनिया से आए लोगों के स्वागत के लिए मौजूद रहूंगा। यह कंटेनर वेसल चलने का मतलब है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वांचल और पूर्वी भारत जलमार्ग से अब बंगाल की खाड़ी से जुड़ गया है। उन्होंने कहा कि आज यहां बाबतपुर हवाई अड्डे से शहर को जोडऩे वाली सड़क, रिंग रोड, कनेक्टिविटी से जुड़े प्रोजेक्ट, बिजली के तारों को अंडरग्राउंड करने से जुड़ी परियोजना, मां गंगा को प्रदूषण मुक्त करने के प्रयासों को बल देने वाली अनेक परियोजनाओं का भी लोकार्पण और शिलान्यास यहां किया गया है।यह कंटेनर वेसल चलने का मतलब है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वांचल और पूर्वी भारत जलमार्ग से अब बंगाल की खाड़ी से जुड़ गया है। उन्होंने कहा कि आज यहां बाबतपुर हवाई अड्डे से शहर को जोडऩे वाली सड़क, रिंग रोड, कनेक्टिविटी से जुड़े प्रोजेक्ट, बिजली के तारों को अंडरग्राउंड करने से जुड़ी परियोजना, मां गंगा को प्रदूषण मुक्त करने के प्रयासों को बल देने वाली अनेक परियोजनाओं का भी लोकार्पण और शिलान्यास यहां किया गया है।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 800 करोड़ रुपए की लागत से बाबतपुर एयरपोर्ट को शहर से जोड़ने वाली सड़क ना सिर्फ चौड़ी हो गई है, बल्कि देश-विदेश के पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करने लगी है। इस सड़क से काशी वासियों का, पर्यटकों का समय तो बचेगा ही, जौनपुर, सुल्तानपुर और लखनऊ तक की यात्रा भी सुगम हो जाएगी। बीते 4 वर्षों में कितनी तेजी के साथ आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास हुआ है, वो अब स्पष्ट दिखता है। दुर्गम स्थानों पर नए एयरपोर्ट। नॉर्थ-ईस्ट के दूर दराज के क्षेत्रों में पहली बार ट्रेन पहुंच रही। ग्रामीण सड़कों और शानदार हाईवे का जाल हमारी सरकार की पहचान बन चुका है।पीएम मोदी ने कहा नमामि गंगे मिशन के तहत अब तक 23 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं को स्वीकृति दी जा चुकी है। गंगा के किनारे के करीब-करीब सारे गांव अब खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं। ये प्रोजेक्ट्स गंगोत्री से लेकर गंगासागर तक गंगा को अविरल, निर्मल बनाने के हमारे संकल्प का हिस्सा हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने हर हर महादेव के साथ अपने भाषण की शुरूआत करते हुए लोगों को छठ पर्व की बधाई दी। उन्होंने कहा कि आस्था पवित्रता से भरे सूर्य उपासना के महापर्व पर माता बहनों को बधाई दी।  पीएम मोदी ने कहा कि चार दिन के ई पर्व से हर घर परिवार मा सुख समृद्धि क कामना है। आप सब लोग दीवाली, भाई दूज और गोवर्धन पूजा और देव दीपापली के साथ सब पर्व के एक साथ बधाई। साथियों दशहरे और दीवाली के बाद आप सबसे मिलने का अवसर मिला है। मेरा सौभाग्य रहा कि मुझे दीपावली पर बाबा केदारनाथ के दर्शन का मौका मिला। एक हफ्ते में बाबा की नगरी में आशिर्वाद का मौका मिला। माता भगीरथी का दर्शन किया तो आज मां गंगा के दर्शन का सौभाग्य मिला। महामना की पुण्यतिथि भी है। उनको नमन करता हूं। काशी के लिए पूर्वांचल के लिए पूर्वी भारत के लिए आज का दिन एतिहासिक है। विकास का गवाह है जो दशकों पहले होना था लेकिन नहीं हुआ।  उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे प्राचीन शहर में सुविधा का ऐसा संगम हो कि आने वालों के मन में अमिट हो जाए। एक बार फिर सभी को तमाम सुविधाओं के लिए विकास योजनाओं के लिए बधाई। साथियों को भी छठ पूजा की शुभकामनाएं। जय छठी मैया। हरहर महादेव।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के दौरान मोदी-मोदी के नारे लगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दो बार भाषण रोकना पड़ा। मोदी ने नारे लगाने वालों के प्रति आभार प्रकट करते हुए मज़ाकिया अंदाज़ में कहा  इस जोश को 2019 के लिए बचाने की बात कही।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाजिदपुर सभा स्थल पर मंच से भीड़ का अभिवादन स्वीकार किया। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पाण्डेय भी है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिंग रोड और लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट रोड का उद्घाटन किया।

सभा को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि आज वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 15वां दौरा है। उनके हर बार के आगमन पर वाराणसी को नायाब तोहफे मिलते रहे हैं। देश को भरोसा है कि 2019 में काशी फिर से करवट लेगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी।इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में देश का पहला अंतरदेशीय जल मार्ग राष्ट्र को समर्पित किया। इस अंतर्देशीय जलमार्ग टर्मिनल से बंगाल के हल्दिया से वाराणसी तक जलमार्ग संचालित किया जाएगा। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथ जोड़कर गंगा नदी को नमन किया।रामनगर बंदरगाह पर कोलकाता से आए जलपोत से कंटेनर रिसीव करने से पहले प्रधानमंत्री ने गंगा नदी में वाटरवे संख्या एक के रास्ते शुरू जल परिवहन की पूरी परियोजना के बारे में अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। परियोजना के बारे में कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी ने भी पीएम मोदी को अवगत कराया। प्रधानमंत्री ने पूरी परियोजना का खाका लगभग पंद्रह मिनट तक देखने के बाद परियोजना पर आयोजित गोष्ठी में पूरी परियोजना पर डॉक्यूमेंट्री भी देखी। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे।उन्होंने पहली बार देश में रामनगर स्थित बंदरगाह से गंगा के रास्ते जल परिवहन की शुरूआत की। इसके बनने से अब भारत बांग्लादेश के रास्ते पूर्वोत्‍तर तक जलमार्ग के रास्ते जुड़ सकेगा। पौराणिक काल में भगीरथ के पितरों को तारने के लिए धरती पर उतरी मां गंगा बाद में गंगा बेसिन में बसे लोगों के लिए जीवदायिनी हुईं और अब आज से वह जल परिवहन सेवा के जरिए उत्तर भारत के आर्थिक समृद्धि की भी संवाहक हो गई हैं। पीएम ने देश में जल परिवहन के नए युग का आगाज किया।देश के पहले नेशनल वाटर वे टर्मिनल का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी हेलीकाप्टर से सभास्थल वाजिदपुर के लिए रवाना। इससे पहले प्रधानमंत्री छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद वायुसेना के विमान से 2:45 बजे लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर पहुंचे।एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी व सत्यपाल सिंह के साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह हेलीकाप्टर से रामनगर में जेटी पर उतरे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब पौने तीन बजे सेना के विमान से लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, बाबतपुर पहुंचे। रामनगर के मल्टी मॉडल टर्मिनल के 200 मीटर लंबे 43 मीटर चौड़े जेटी पर मल्टी माडल टर्मिनल (बंदरगाह) का लोकार्पण किया। साथ ही हल्दिया से पेप्सिको का सामान लेकर आए जलपोत का स्वागत कर गंगा में जल परिवहन की शुरुआत की। 

इनका लोकापर्ण 

1- कचहरी से बाबतपुर तक फोर लेन सड़क, 17. 25 किमी; कीमत 812. 59 करोड़ रूपया।

2. रिंग रोड फेज 1 -हरुआ से आजमगढ़ मार्ग गोइठहां तक 17 किमी सड़क, कीमत : 759.36 करोड़ रुपया।

3. रामनगर राल्हूपुर मल्टी मॉडल टर्मिनल, कीमत 208 करोड़ रुपया।

4. तीन सीवेज पम्पिंग स्टेशन : 140 एमएलडी चौका घाट ,7.5 एमएलडी फुलवरिया और 3.7 एमएलडी सरैया। कीमत : 34 करोड़ रुपया।

5. दीनापुर एसटीपी : 140 एमएलडी। कीमत : 186.46 करोड़ रुपया।

6. इंटरसेप्शन सीवर और पंपिंग वर्क : वरुणा नदी पर और आसपास 28 किमी। कीमत : 155 करोड़ रुपया।

7. तेवर ग्राम पेयजल योजना: 15 बस्तियों में 6000 से ज्यादे आबादी को पेयजल मिलेगा। कीमत : 2 करोड़ 79 लाख रुपया।

8. आश्रय योजना के तहत लू ठण्ड से बचने वालो के लिए भवन। 1.54 करोड़।

9. कस्तूरबा गांधी बालिका विधालय देईपुर हॉस्टल। 1 . 70 करोड़।

10. आईपीडीएस फेज 2 -123 किमी अंडर ग्राउंड बिजली वायर सारनाथ और बौद्ध पर्यटन स्थली ,18 नए ट्रांसफार्मर, 372 किमी ओवरहेड तारों का जंजाल हटाने 139 करोड़।

इनका शिलान्यास

1. रामनगर में ड्रेन और ट्रीटमेंट वर्क। 9 नाले बंद होंगे जो गंगा में गिरते हैं। 13 एमएलडी क्षमता ट्रीटमेंट प्लांट -72 करोड़।

2. किला कटरिया मार्ग चौड़ीकरण व सौंदर्यीकरण -2 करोड़ 36 लाख।

3. एनएच - 7 पड़ाव से रामनगर टेंगरा मोड़ मरम्मत कार्य -3 करोड़ 16 लाख।

4. लहरतारा बीएचयू फुटपाथ मार्ग। निर्माण ,सुंदरीकरण -20 करोड़ 99 लाख।

5. करौदी में ड्राइवर प्रशिक्षण केंद्र -4 करोड़ 44 लाख।

6. सर्किट हाउस फस्र्ट फ्लोर मीटिंग हाल -3 करोड़ 24 लाख।

7. डोमरी रामनगर में हैलीपैड निर्माण कार्य -4 करोड़ 94 लाख।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» मोहन भागवत उत्तर भारत के छह प्रांतों के प्रचारकों संग मंथन करने पहुंचे काशी

» बदलते बनारस का नजारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दौरे से पूर्व दुनिया को दिखाया

» कल वाराणसी को पीएम नरेंद्र मोदी देंगे ढाई हजार करोड़ की दर्जनों बड़ी सौगात

» छह दिन के वाराणसी प्रवास पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत कल पीएम मोदी से हो सकती है भेंट

» वाराणसी मे चौकाघाट पंपिंग स्‍टेशन के पास मेन होल में गिरकर मजदूर चाचा भतीजा की हुई मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» अमित शाह से अच्छा नाम है जमीरउद्दीन शाह: इरफान हबीब

» शराब ठेके के सेल्‍समैन की हत्‍या का राजफाश, पांच गिरफ्तार

» जिला गोंडा में संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ पर लटका मिला प्रभारी सीएमओ का शव

» स्पष्ट दिखने लगा है बीते चार वर्ष का विकास कार्य: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

» पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा की फेक न्यूज फैलाने वाले राष्ट्रद्रोही