यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिला वाराणसी के बाजार में महिला डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लगाकर की आत्महत्या


🗒 शनिवार, नवंबर 17 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 कैंट इलाके के अर्दली बाजार में रहने वाली शिल्पी राजपूत (45) ने बृहस्पतिवार रात आत्महत्या कर ली। एसपी सिटी दिनेश सिंह के मुताबिक डॉक्टर ने जहरीला इंजेक्शन लगाकर जान दी है। 2007 में उनके पति डॉ डीपी सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जिसमें वह आरोपी थीं। तब से वह तनाव में ड्रग्स लेने लगीं। बीती रात 11 बजे वह ड्राइवर से यह कहकर सोने गई थीं कि सुबह छोटी बहन मधुलिका को बुला देना। आज 11 बजे बहन मधुलिका आईं तो दरवाजा नहीं खुला, धक्का देकर दरवाजा खोलने पर बेड पर डॉ शिल्पी मृत पड़ी मिलीं।

जिला वाराणसी के बाजार में महिला डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लगाकर की आत्महत्या

शिल्पी राजपूत ने तीन पन्‍नों का एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था जिसमें उन्होंने अपने बेटे उमंग द्वारा मारपीट किए जाने और उन्‍हें परेशान करने की बात लिखी है। उनकी एक बेटी और एक पुत्र है। कैंट पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। प्रारंभिक जांच में आत्‍महत्‍या मामले की ही पुष्टि हुई है।स्त्री रोग विशेषज्ञ डा. शिल्‍पी राजपूत पर अपने डॉक्टर पति की हत्या का अरोप लगा था और वह हत्या के मामले में जमानत भी पूर्व में पा चुकी थीं। अदालत ने इस मामले की कार्रवाई के लिए उत्तर प्रदेश गृह सचिव और वाराणसी के जिला मजिस्ट्रेट को मामले से जुडी प्रतियां भेजने का निर्देश दिया था। डॉ शिल्पी राजपूत के साथ छः अन्य लोगों के साथ, उनके चचेरे भाई और भाड़े के हत्यारों सहित पुलिस ने वर्ष 2007 में पति डा. डीपी सिंह की हत्या के ममाले में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सरकारी चिकित्‍सक डा. डीपी सिंह को पांडेपुर क्षेत्र में अपराधियों ने गोली मार दी थी।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा मैं सर्वदलीय अौर निर्दलीय हूं, राम मंदिर अभी नहीं तो कभी नहीं

» अब श्रीकाशी विश्वनाथ कारीडोर का मॉडल तैयार, खींचा जा रहा साज-सज्जा का खाका

» वाराणसी के बीएचयू कुलाधिपति की नियुक्ति में चुनाव के बन रहे आसार, चार नामों पर चर्चा

» स्पष्ट दिखने लगा है बीते चार वर्ष का विकास कार्य: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

» मोहन भागवत उत्तर भारत के छह प्रांतों के प्रचारकों संग मंथन करने पहुंचे काशी

 

नवीन समाचार व लेख

» अब सिपाही भर्ती-2018 का ऑनलाइन आवेदन 19 से, 50 हजार पदों के लिए देना होगा इतना शुल्क

» जरूरत पड़ी तो भतीजे के सामने भी लडूंगा चुनाव : शिवपाल

» जवान बेटे की मौत के बाद आरिफ के घर पहुंचे विधायक ने बेसहारा मां को दिए 20 हज़ार

» गन्ने के ट्रैक्टर व ट्राली पर रेडियम लगाने को चलाया गया जागरुकता अभियान

» बेहजम पुलिस चौकी इंचार्ज जगपाल सिंह ने चलाया सघन वाहन चेकिंग अभियान