यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी के बीएचयू मे विधि संकाय के छह वार्डेन ने दिया इस्तीफा, 19 प्रोफेसर भी कुलपति आवास पर पहुंचे


🗒 शुक्रवार, नवंबर 30 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

परीक्षा से वंचित विधि संकाय के छात्रों ने अपने आप को भगवानदास हास्टल में बंद कर परीक्षा का बहिष्कार किया वहीं बाहरी छात्रों द्वारा हास्टल में घुसकर बंधक बनाने और मारपीट करने का आरोप लगते हुए गुरुवार की रातभर हंगामा किया। आरोप लगाया कि चार छात्रों को बंधक बनाया गया था, जिसमें दो छात्र खिड़की तोड़ कर भाग आये थे। छात्रों का आरोप है कि कुछ निष्कासित और आपराधिक मामलों में जेल की हवा खा चुके छात्र कैम्पस में घुसकर मारपीट कर रहे हैं। यह आरोप लगाया कि बवाली छात्र संकाय के ही एक शिक्षक की सह पर बवाल कर रहे हैं। छात्र हास्टल के वार्डन और डीन को हटाने की मांग कर रहे थे।

वाराणसी के बीएचयू मे विधि संकाय के छह वार्डेन ने दिया इस्तीफा, 19 प्रोफेसर भी कुलपति आवास पर पहुंचे

देर शाम बीएचयू विधि संकाय से जुड़े छह वार्डेन ने इस्तीफा दे दिया। संकाय के 19 प्रोफेसर भी इस दौरान कुलपति आवास पहुंचे बताया जा रहा है क‍ि ये सभी इस्तीफा देने गए हैं। मामला कम उपस्थिति के बावजूद छात्रों को परीक्षा की अनुमति दिए जाने के दबाव से जुड़ा है। कम उपस्थिति को लेकर एडमिट कार्ड न दिए जाने के चलते तीन दिन से विधि संकाय के छात्रों ने आंदोलन और बवाल किया था।हास्टल में खुद को बंद किये हुए छात्रों ने आरोप है कि उन्हें भागे हुए छात्रों ने धमकी दी है कि परीक्षा देने जाओगे तो जान से भी जाओगे इस भय की वजह से हमने परीक्षाछोड़ी। हास्‍टल में बंद इन छात्रों को एडमिट कार्ड मिला था।शुक्रवार की सुबह 9 बजे से सभी की परीक्षा होनी थी।छात्राें का आरोप है कि भगवानदास छात्रावास में सीसीटीवी कैमरे नहीं है लिहाजा रात में बाहरी लड़कों ने आकर छात्रावास के छात्रों को पीटा और भाग गए। रात भर से चल रहे हंगामे की वजह से भगवानदास हॉस्टल बीएचयू में तनाव का माहौल बना हुआ है। हॉस्टल के बाहर भारी पीएसी बल व प्रोक्टोरियल बोर्ड मौजूद हैं। वहीं छात्र लाठीचार्ज की संभावना से डरे हुए है।भगवानदास छात्रावास के पीछे की ओर से देर रात मारपीट करने वाले छात्र भागे थे। कमरा नंबर 10 में रात भर बवाल के बाद खिडकी तोड दी गई और आरोपी छात्र निकल गए। एलएलबी के फाइनल ईयर के छात्र सुंदर का यह कमरा बताया जा रहा है। छात्रों का आरोप यह भी है कि उसके साथ ही बाहरी लड़के असलहा लहराते हुए गए हैं। इसके बाद छात्रों ने रात को भी पुलिस और प्राक्टोरियल बोर्ड के अधिकारियों के कहने पर भी हास्टल का गेट नही खोला सुबह तक यही स्थिति बनी रही। मालूम हो कि कुलपति ने भी स्पष्ट कर दिया है कि किसी भी स्थिति में 40 फीसद से कम उपस्थिति वाले छात्रों को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जायेगी। सूत्र बताते हैं कि इसी को लेकर अलग से बवाल कर परीक्षा को बाधित करने का प्रयास किया जा रहा है। छात्रों का कहना है कि ना तो हमें गेट खुलवाने और बंद करवाने में कोई इंटरेस्ट है ना ही परीक्षा को रद्द करवाने में हमारी मांग है कि जेपी राय को सस्पेंड करें ।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» वाराणसी के महात्‍मा गांधी काशी विद्यापीठ के छात्रों ने किया हंगामा, शुल्‍क माफी के लिए प्रदर्शन

» बाबा विश्वनाथ दरबार में आशुतोष राणा ने टेका मत्था

» प्रवासी भारतीय सम्मेलन की तैयारियों का जायजा लेने पहुचे मुख सचिव एवं डीजीपी

» वाराणसी एयरपोर्ट पर लगेगी लालबहादुर शास्त्री की 18 फीट ऊंची प्रतिमा

» वाराणसी स्थित बीएचयू मे एक माह की बच्ची के पेट से निकाला अविकसित भ्रूण, पांच लाख में एक मामला

 

नवीन समाचार व लेख

» अब गठबंधन का रास्ता बंद होते देख यूपी में कांग्रेस अकेले ही लोकसभा चुनाव लड़ेगी

» अलीगढ़-:अतिक्रमण हटाने से पूर्व चिन्हांकन करने पहुची नगर निगम की टीम को सराय हकीम में झेलना पड़ा विरोध

» अलीगढ़-:हर गाँव में बनेगी आवारा पशुओं की लिस्ट

» राजधानी लखनऊ मे गैस एजेंसी दिलाने के नाम पर रिटायर्ड फौजी से ऐंठे 1.84 लाख

» अलीगढ़-:नगर निगम कर्मचारियों से मारपीट करते हुये बहुजन समाज पार्टी के पार्षद पति की गुंडई देखने को मिली