यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी मे सड़क पर एआरटीओ-सिपाहियों में हुई झड़प, एडीजी के निर्देश पर सीओ करेंगे जांच


🗒 रविवार, दिसंबर 09 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 लंका के नरिया तिराहे पर शनिवार देर रात गाजीपुर में तैनात एआरटीओ के भाई और सिपाहियों के बीच मारपीट हो गई। खबर पाकर पहुंचे एआरटीओ से भी सिपाहियों की झड़प हुई। एक सिपाही और एआरटीओ के भाई को चोट पहुंची। लंका पुलिस उन्हें थाने लाई व मेडिकल परीक्षण कराया। एडीजी के आदेश पर सीओ ने मामले की जांच शुरू की है। फिलहाल किसी पक्ष से मुकदमा नहीं लिखा गया है।

वाराणसी मे सड़क पर एआरटीओ-सिपाहियों में हुई झड़प, एडीजी के निर्देश पर सीओ करेंगे जांच

शनिवार आधी रात के बाद करीब तीन बजे लंका थाने के फैंटम दस्ता के सिपाही सुनील कुमार यादव व संजय कुमार भारती नरिया तिराहे पर थे। वहां जाम लगा था। इंस्पेक्टर भारत भूषण तिवारी के मुताबिक, सिपाही जाम खुलवा रहे थे तभी सामने से आकर खड़ी हुई कार के कारण रास्ता बाधित हो गया। सिपाहियों ने कार हटाने के लिए कहा तो उसमें बैठे तीन युवक बाहर आ गए। उनमें एक अजय कुमार (निवासी न्यू जोधपुर कॉलोनी लंका) ने सिपाही सुनील पर हमला कर दिया। सिपाही ने भी बचाव में टार्च से प्रहार किए। मारपीट में दोनों जख्मी हो गए। सिपाही के हाथ, कान पर चोट पहुंची और वर्दी फट गई। इसी बीच फोन से खबर पाकर लंका स्थित आवास से अजय के भाई एआरटीओ विनय कुमार भी घटनास्थल पर पहुंचे तो उनसे भी सिपाहियों की झड़प हो गई। हालांकि सिपाहियों ने कहा कि एआरटीओ ने भी जूते से हमला किया। खबर पाकर लंका थाने से फोर्स पहुंची और एआरटीओ व उनके भाई को थाने लाई। इसके बाद सिपाही सुनील व अजय का मेडिकल परीक्षण कराया गया। एआरटीओ व सिपाहियों के बीच मारपीट का मामला डीजीपी तक पहुंच गया। एडीजी जोन के निर्देश पर सीओ भेलूपुर सत्येंद्र तिवारी ने लंका थाने पहुंच सिपाहियों और एआरटीओ विनय कुमार का बयान दर्ज किया।एआरटीओ ने आरोप लगाया कि सिपाहियों ने उनके भाई पर टार्च से हमला किया जिससे उसे चोट पहुंची। मोबाइल व नगदी छीन ली। वह मौके पर बाइक से पहुंचे तो उनका आइकार्ड लेकर आरोपित सिपाहियों ने फेंक दिया। साथ ही उन्हें एक सिपाही ने पकड़ लिया। 

 लंका थाने के इंस्पेक्टर ने बताया कि अजय के खिलाफ हत्या की कोशिश, गुंडा एक्ट, चोरी के माल समेत गिरफ्तारी, एनडीपीएस के सात मुकदमे दर्ज हैं। मेडिकल परीक्षण में   शराब के नशे में अजय के होने की पुष्टि हुई है। अजय ने बताया कि वह रात दो बजे रामनगर में होटल बंद कर दोस्त ऋषि नारायण और उसके भाई संग लौट रहा था। नरिया में जाम लगा था। वहां मौजूद सिपाहियों से रास्ता साफ कराने को कहा तो वे झगड़ा करने लगे। सीओ का कहना है कि जांच में पता चला कि अजय गाड़ी से निकलकर सिपाहियों से उलझा था। देश भर में चर्चित इस घटना की असली वजह क्या ट्रकों से वसूली है। ऐसे में सवाल उठता है कि वसूली वहां कौन कर रहा था और यह जांच का विषय भी है। सिपाहियों का कहना है कि वे जाम हटाने के दौरान बस को पहले पास कराना चाह रहे थे ताकि पीछे से ट्रक निकल जाए। इस दौरान एआरटीओ के भाई ट्रकों को शहर की तरफ पास कराने पर अड़े थे। सीओ का कहना है कि फिलहाल मामले की जांच जारी है।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» वाराणसी के बीएचयू में छात्र की हत्‍या में चीफ प्राक्टर समेत सात पर एफआइआर

» वाराणसी के बाबतपुर एयरपाेर्ट पर विमान से बैंकाक से आए महिला व पुरुष सोने के साथ पकड़ाए

» वाराणसी के बीएचयू में बिड़ला हास्‍टल के सामने पूर्व छात्र को बदमाशों ने मारी गोली, परिसर में तोड़फोड़

» वाराणसी कोर्ट में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ अर्जी

» जिला वाराणसी में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर का रोड शो खत्‍म, रविदास मंदिर जाने पर अड़े

 

नवीन समाचार व लेख

» कांग्रेस का राष्ट्रीय न्यायिक आयोग के गठन का वायदा

» कानपुर के हैलट में आधी रात 'काला साया' देख कंप्यूटर ऑपरेटर बेहोश

» नगराम थाना क्षेत्र मे संदिग्ध परिस्थितियों में नहर में उतराता मिला 40 वर्षीय युवक का शव संदिग्ध

» आजमगढ़ से भाजपा ने भोजपुरी फ‍िल्‍म कलाकार दिनेश लाल यादव निरहुआ को चुनावी मैदान में उतारा

» वाराणसी के बीएचयू में छात्र की हत्‍या में चीफ प्राक्टर समेत सात पर एफआइआर