यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी मे BHU कुलपति से मिलने से रोका गया तो मुकदमा वापस करने को धरने पर बैठे छात्र


🗒 शनिवार, जनवरी 19 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

पिछले साल मारपीट, रंगदारी, आगजनी और बवाल के आरोप में हुए मुकदमे को वापस कराने के कुछ छात्र बीएचयू के सेंट्रल ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए। उनका आरोप था कि वह वीसी से मिलने जा रहे थे, लेकिन उनको रोक दिया गया। बताया जा रहा है कि प्रवासी भारतीय दिवस को लेकर कुलपति और पूरा अमला मीटिंग कर रहा है। ऐसे में छात्र बीएचयू प्रशासन पर दबाव बनाने के लिए पहुंच गए।

वाराणसी मे BHU कुलपति से मिलने से रोका गया तो मुकदमा वापस करने को धरने पर बैठे छात्र

मालूम हो कि पिछले माह भी कुछ छात्र कई दिनों तक धरने पर बैठे थे। उस वक्त सिर्फ चीफ प्रॉक्टर को हटाने की मांग की जा रही थी। बाद में अपनी मांगों में पिछले वर्षों आतंक मचाने के आरोप में हुए बवाली छात्रों पर मुकदमे और डिबार की करवाई को भी वापस लेने की भी जोड़ लिए। इसको लेकर कई नेताओं से भी मुलाकात की कहीं से कोई बात नहीं हुई। एक पूर्व मंत्री ने भी कुलपति को फोन कर दबाव बनाने का प्रयास किया था, लेकिन कुलपति ने मामले में हस्तक्षेप नहीं करने की हिदायत दी थी। अब मामले में संलिप्त कुछ छात्र फिर से धरने पर बैठ गए हैं।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.प्रवीण तोगड़ियाने की प्रत्याशियों की घोषणा, वाराणसी से लड़ सकते हैं चुनाव

» सीएम योगी विजय संकल्प लेने काशी पहुंचे मांगा बाबा से आशीर्वाद

» वाराणसी से अपहर्ताओं ने किशोरी को पंजाब में बेचा

» वाराणसी इकाई मे सोनिया चौकी प्रभारी पांच हजार रुपये रिश्‍वत लेते गिरफ्तार, कैंट थाने में मामला दर्ज

» वाराणसी एयरपोर्ट बैंकाक से सोना छिपाकर पहुंची महिला गिरफ्तार, पूछताछ जारी

 

नवीन समाचार व लेख

» कृष्णा नगर थाना क्षेत्र में एकाउण्ट हैकरों ने शाखा प्रबंधक के खाते से हजारों रूपये उड़ाये

» कृष्णा नगर पुलिस द्वारा गुण्डा एक्ट में जिलाबदर अपराधी पकड़ा गया

» कृष्णा नगर क्षेत्र में गैंग बनाकर लूट करने वाले दो वांछित अभियुक्त हुए गिरफ्तार

» निर्वाचन आयोग ने कहा, ... तो छह दिन में आएगें परिणाम

» राहुल के खिलाफ आयकर मामले में 23 अप्रैल को आखिरी सुनवाई