यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वाराणसी में कॉलेज के छात्र को आठ गोली मारी, मौके पर मौत


🗒 सोमवार, फरवरी 25 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

छात्र राजनीति में वर्चस्व की लड़ाई बेहद खतरनाक होती जा रही है। सांस्कृति व अध्यात्मिक राजधानी वाराणसी में कल रात उदय प्रताप कॉलेज में पीजी हास्टल के बाहर आजमगढ़ निवासी व बीकॉम के छात्र विवेक सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई। विवेक को आठ गोलियां लगीं। हत्या का कारण छात्रसंघ चुनाव की रंजिश और वर्चस्व की लड़ाई बताया जा रहा है।

वाराणसी में कॉलेज के छात्र को आठ गोली मारी, मौके पर मौत

इस मामले में पुलिस देर रात नौ लोगों को उठाकर पूछताछ कर रही है। छात्र की हत्या घटना की जानकारी होते ही डीएम व एसएसपी समेत कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। बड़ी संख्या में छात्र भी दीनदयाल अस्पताल में एकत्र हो गए। परिवार के लोग पहुंच गए हैं। इस मामले में पुलिस एक पूर्व छात्र नेता को भी खोज रही है जो हाल ही में जेल से छूटा है।पुलिस के अनुसार विवेक की हत्या .32 बोर की देसी पिस्टल से की गई है।आजमगढ़ में तरवां थाना क्षेत्र के जामुडीह गांव निवासी किसान राणा सिंह का पुत्र विवेक सिंह (22 वर्ष) यूपी कॉलेज में बीकॉम द्वितीय वर्ष का छात्र था। कल वह कॉलेज परिसर के पीजी कॉलेज में एक छात्र के कमरे में सोया था। शाम को उसके ज्यादातर साथी शादी समारोह में चले गए थे। देर रात लगभग साढ़े नौ बजे हॉस्टल के निकट लगातार गोलियों के चलने की आवाजें आने लगी। गोली की आवाज सुनकर छात्रावास में रह रहे छात्र ललकारते हुए बाहर निकले। वहां पर बाहर विवेक को खून से लथपथ देखकर सन्न रह गए। उसके शरीर में कई गोलियां लगी थीं। छात्रों ने पुलिस को सूचना दी, तब तक गश्त पर निकला फैंटम दस्ता भी पहुंच गया। पुलिस की मदद से छात्र विवेक को लेकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल पहुंचे जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

घटनास्थल पर पुलिस को मौके से आधा दर्जन से अधिक खोखे मिले। हॉस्टल के छात्रों के अनुसार उन्होंने आठ बार फायरिंग की आवाज सुनी थी। उधर, छात्र की हत्या की जानकारी होते ही डीएम, एसएसपी, एसपी सिटी, एडीएम सिटी अस्पताल पहुंचे। तनाव को देखते हुए यूपी कालेज से लेकर डीडीयू अस्पताल तक फोर्स तैनात कर दी गई। वारदात की जानकारी होते ही शादी समारोह में गए विवेक के साथी भी अस्पताल आ गए। आरोप लगाया कि पुरानी रंजिश के चलते छात्रसंघ के पूर्व पदाधिकारी अनुपम उर्फ कुंदन सिंह पर इस वारदात को अंजाम देने का शक जताया। छात्र नेता सर्वेश को गोली मारने के मामले में जेल गया था और हाल ही में जमानत पर छूटा है। अनुपम व उसके साथियों की तलाश में पुलिस टीम चंदौली रवाना कर दी गई है।यूपी कालेज के छात्र विवेक सिंह की हत्या के मामले में पुलिस व क्राइम ब्रांच ने जिले के साथ कई अन्य स्थानों पर छापेमारी की। कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। अभी तक मुख्य आरोपी पकड़ में नहीं आया। पोस्टमार्टम के बाद शव को आजमगढ़ भेजा गया। कालेज के आसपास भारी संख्या में फोर्स तैनात है। बीकॉम छात्र विवेक सिंह की हत्या में देर रात तक की जांच में थप्पड़ मारने की पुरानी रंजिश में पूर्व छात्र नेता अनुपम नागवंशी का ही नाम सामने आया है। उसकी तलाश हो रही है। पुलिस छात्रों से बात कर दूसरे पहलुओं पर भी छानबीन कर रही है। डीएम सुरेंद्र सिंह और एसएसपी आनंद कुलकर्णी को छात्रों से बातचीत में पता चला कि दो वर्ष पहले कहासुनी के दौरान विवेक सिंह ने छात्रसंघ के पूर्व महामंत्री अनुपम नागवंशी उर्फ कुंदन सिंह को थप्पड़ मार दिया था। तब अनुपम ने विवेक को जान से मार डालने की धमकी दी थी। कुछ महीने बाद उसने विवेक के साथी सर्वेश को गोली मार दी जिसमें वह 14 महीने जेल में बंद रहा। वह जेल से फोन पर विवेक को धमकी देता था। कुछ समय पहले जेल से छूटने के बाद वह छात्रों से कहता फिर रहा था कि विवेक को जिंदा नहीं छोड़ेगा। विवेक को भी बात पता थी लेकिन उसने पुलिस से शिकायत नहीं की थी।

विवेक छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद पर दावेदारी की तैयारी कर रहा था। यह भी विरोधी छात्रों की रंजिश की वजह बनी थी। उसके साथियों ने बताया कि विवेक कभी तरना में किसी हॉस्टल में तो कभी कॉलेज परिसर में किसी साथी छात्र के कमरे में ठहरता था। कल वह पीजी हॉस्टल में एक छात्र के कमरे में सोया था। साथी छात्रों ने उसे शादी में चलने के लिए कहा तो उसने इंकार कर दिया। रात में कब और किसके बुलाने पर वह हॉस्टल से निकला, किसी को पता नहीं है। शक है उसे फोन करके बुलाया गया होगा। पुलिस उसके मोबाइल फोन की कॉल डिटेल चेक कर रही है। कॉलेज में घटनास्थल के आसपास कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा मिला।कुछ छात्रों ने किसी को भागते देखने की बात भी कही है। एसएसपी ने बताया कि छात्रों से मिली जानकारी के आधार पर अनुपम नागवंशी की तलाश हो रही है। साथ ही अफसरों ने कहा कि दिन में बवाल की आशंका के चलते परिजनों से अनुमति लेकर विवेक के शव का रात में ही पोस्टमार्टम कराने का प्रयास होगा ताकि अंतिम संस्कार कराया जा सके।

वाराणसी से अन्य समाचार व लेख

» वाराणसी के करसड़ा स्थित रामकिशुन महाविद्यालय के छात्रों ने जमकर हंगामा किया

» वाराणसी एयरपोर्ट आ रहे भदोही के बुजुर्ग विमान यात्री की विमान में ही मौत

» जिला वाराणसी में विमान में खराबी, पायलट ने रन वे से वापस लौटाया

» वाराणसी के शिवदासपुर रेड लाइट एरिया में क्राइम ब्रांच का छापा, पांच लडकियां हुईं मुक्‍त

» काशी विश्‍वनाथ मंदिर में सीआरपीएफ की 95 बटालियन के जवान की हार्ट अटैक से मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» बलिया मे बिहार जा रही 400 पेटी शराब पुलिस ने किया बरामद, तस्‍कर भागने में सफल

» प्रियंका गांधी ने कहा ये चुनाव जनता के लिए चुनौती है, राहुल को सत्ता का शौक नहीं

» राजधानी के थानों में ही चोरी हुईं 74 गाडिय़ां खड़ी मिलीं मालिकों को सौंपे कागजात

» मोदी के क्षेत्र वाराणसी व योगी के क्षेत्र गोरखपुर समेत 20 जिले अतिसंवेदनशील

» अभी तक आचार संहिता के दौरान 4.79 करोड़ रुपये जब्त, 2.18 लाख लाइसेंसी शस्त्र जमा