यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

दुल्हन ने दूल्हे से कराई महंगे सूट और लहंगे की शापिंग , दुल्हन फरार


🗒 गुरुवार, अप्रैल 14 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
दुल्हन ने दूल्हे से कराई महंगे सूट और लहंगे की शापिंग , दुल्हन फरार

आगरा, । दूल्हे और उसके परिवार से करीब एक लाख रुपये के नकदी व सामान की ठगी करने के बाद बरात आने से 48 घंटे पहले दुल्हन परिवार समेत फरार हो गई।दुल्हन और उसके परिवार द्वारा बताए गए दोनों पतों पर लड़के वाले पहुंचे तो नाम-पता फर्जी निकला। जिसने दूल्हे और उसके परिवार के होश उड़ा दिए। गुरुवार को थाने पहुंचकर पुलिस को दुल्हन व उसके स्वजन के खिलाफ तहरीर दी।जगदीशपुरा की आवास विकास कालोनी सेक्टर एक में रहने वाला युवक ने अपनी कार कैब कंपनी में लगा रखी है। एक परिचित के माध्यम से उसके पास रिश्ता आया। लड़की वालाें ने बताया कि वह मूलरूप से खेरा राठौर के रहने वाले हैं। वर्तमान में सिकंदरा के राधा नगर में किराए पर रहते हैं। कैब संचालक युवक के स्वजन ने दो मार्च को लड़की देखी। पसंद आने पर रिश्ता तय कर दिया। शादी की तारीख 16 अप्रैल तय हो गई। लड़का पक्ष ने शादी के कार्ड छपवाकर बांट दिए। मैरिज होम बुक करा दिया गया।लड़के वालों ने बताया कि इसी बीच एक एनजीओ संचालक जो कि दूल्हे का परिचित है। उसने कहा कि लड़की वाले बहुत गरीब हैं। इसलिए उनकी ओर से भी शादी में आने वाले खर्च का इंतजाम करना होगा। संचालक ने उनसे 80 हजार रुपये लड़की वालों को दिला दिए। यह रकम उन्होंने आनलाइन खाते में ट्रांसफर की।दुल्हन को उसके पसंद के महंगे सूट और लहंगे खरीदकर दिए। लड़की लगातार फोन से संपर्क में थी। उससे और परिवार वालों से बातचीत हो रही थी। लड़की और उसके स्वजन ने 11 अप्रैल की दोपहर से अपना मोबाइल बंद कर लिया। रात तक मोबाइल बंद होने पर मध्यस्थ एनजीओ वाले को फोन मिलाया तो उसने भी नहीं उठाया। जिससे लड़के वालों को शक हुआ, वह राधा नगर पहुंचे। लड़की और उसके स्वजन के बारे में जानकारी तो पता चला कि इस नाम का वहां कोई नहीं रहता है।जिसके बाद वह लड़की वालों के गांव खेरा राठौर पहुंचे। वहां कई प्रधान से पता किया लेकिन लडकी और उसके स्वजन का नाम-पता फर्जी मिला। जिसने लड़के वालों के होश उड़ा दिए। दो दिन बाद बरात लेकर जाने की तैयारी थी। करीबी रिश्तेदार घर आ चुके थे।धोखाधड़ी के शिकार लड़के वालों ने गुरुवार को जगदीशपुरा थाने पहुंचकर तहरीर दी। उन्होंने एनजीओ संचालक पर भी साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया। इंस्पेक्टर प्रवींद्र कुमार ने बताया कि जांच की जा रही है, साक्ष्यों के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।दूल्हा पक्ष का आरोप है कि लड़की वालों ने साजिश के तहत सारा काम किया। उन्होंने लगुन टीका का कार्यक्रम एक मैरिज होम में रखा। जिससे कि उनके घर के बारे में जानकारी न हो सके। शक है कि वह आगरा से बाहर के रहने वाले थे। किसी अन्य स्थान पर कमरा लेकर ठहरे होंगे।