यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रेलवे अधिकारी के घर पर दिनदहाड़े बदमाशों का धावा


🗒 सोमवार, मई 16 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रेलवे अधिकारी के घर पर दिनदहाड़े बदमाशों का धावा

आगरा, नार्थ रेलवे ईदगाह कालोनी में रेलवे अधिकारी एमके अग्रवाल के घर पर दिनदहाड़े धावा बोल दिया। अधिकारी की पत्नी पर तमंचा तान गला दबा दिया। उनके शोर मचाने पर दूसरे कमरे में मौजूद अधिकारी और उनके पुत्र बदमाशों से भिड़ गए। जिससे बदमाशों के पैर उखड़ गए, वह तमंचा माैके पर छोड़कर भाग गए।घटना दोपहर 12:45 बजे की है। कैंट स्टेशन पर तैनात एमके अग्रवाल रेलवे में सीनियर सेक्शन इंजीनियर हैं। वह रेलवे कालोनी नार्थ ईदगाह में रहते हैं। रेलवे अधिकारी की पत्नी विनीता अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने बाहरी कमरे में पोछा लगाया था। जिसके सूखने के लिए उन्होंने दरवाज खुला छोड़ दिया। वह दूसरे कमरे में पोछा लगाने चली गईं। पति और बेटा शुभम अपने-अपने कमरे में काम कर रहे थे।कमरा साफ करने के बाद वह किचन में खाना बनाने के लिए जा रही थीं।विनीता अग्रवाल ने बताया कि इसी दौरान एक बदमाश कमरे में घुस आया। उससे कुछ पूछतीं इससे पहले ही बदमाश ने उनका मुंह दबा लिया। दूसरे हाथ से उनका गला दबाने लगा। उसका दूसरा साथी भी अंदर आ गया। जिसके हाथ में तमंचा था। बदमाशों ने उन्हें गोली मारने की धमकी दी। इस बीच उन्होंने किसी तरह बदमाश का हाथ अपने मुंह से हटाकर शोर मचा दिया। जिसे सुनकर बेटा शुभम और पति अपने कमरों से बाहर निकाल आए। बेटा तमंचा लिए बदमाश से भिड़ गया। गुत्थमगुत्था में बदमाश का तमंचा गिर गया।इस बीच एमके अग्रवाल ने भी पत्नी को बदमाश के चंगुल से मुक्त करा लिया। विनीता अग्रवाल के अनुसार मदद के लिए वह पीछे के दरवाजे से घर से बाहर भागीं। उन्हें आशंका थी कि बदमाशों के साथी दरवाजे के बाहर गेट पर खड़े हो सकते हैं। उनके शोर मचाने पर कालोनी के अन्य लोग वहां जुट गए।उधर, घेराबंदी कर पकड़े जाने की आशंका से बदमाशों के पैर उखड़ गए। वह जान बचा कर वहां से भाग खड़े हुए। वह अपना तमंचा और गुत्थमगुत्था में टूटी चेन को वहां छोड़ गए। सूचना पर सीओ सदर राजीव कुमार और थाने का फोर्स मौके पर पहुंच गया।विनीता और आसपास के लोगों ने बताया कि बदमाशों की संख्या चार थी। दो बदमाश घर के अंदर घुसे थे। जबकि दो बदमाश घर के ाबाहर थे। इसमें एक दरवाजे के बाहर गेट पर तमंचा लेकर खड़ा था। जबकि दूसरा सड़क के किनारे खड़ा था। जिससे कि किसी के आने पर वह अंदर मौजूद अपने साथियों को इसकी जानकारी दे सके।शुभम ने तमंचा लिए बदमाश को दबोच लिया। वह भागने का प्रयास करने लगा। शुभम ने उसका कालर पकड़ा हुआ था। जिस पर बदमाश ने अपनी कमीज के बटन खोल दिए। उसे उतारकर भाग गया। कमीज शुभम के हाथ में रह गई। बदमाशों के अंदाज से पुलिस अनुमान लगा रही है कि पेशेवर अपराधी हैं।