यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फतेहपुर सीकरी में पुलिस और दुकानदारों में विवाद, पुलिस ने फायरिंग कर बचाई जान


🗒 बुधवार, मई 29 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

फतेहपुर सीकरी स्थित शेख सलीम चिश्‍ती दरगाह के सालाना उर्स के दौरान पुलिस और दुकानदारों में विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि दुकानदार मारपीट पर उतर आए। पथराव के बीच हालात इतने बिगड़े कि पुलिस को कई राउंड फायरिंग कर जान बचानी पड़ी। मामले के अनुसार बुधवार को पुलिस ने दरगाह परिसर में दुकान लगाने वाले एक दुकानदार को किसी मामले में उठाया था। इसके बाद पुलिस किसी अन्‍य दुकानदार को उठाने आई तो बाकी के दुकानदार पुलिस को घेरने आ गए। पुलिस और दुकानदारों में कहासुनी होने लगी। लोगों का आक्रोश देख पुलिस ने लाठियां भांज दी लेकिन पुलिस का ये दांव उल्‍टा पड़ा गया। दुकानदार और अन्‍य लोग पुलिस का जवाब में लठियाने लगे। विवाद इतना बढ़ गया कि लोगों ने पत्‍थरबाजी शुरु कर दी। पुलिस को जान बचाने के लिए कई राउंड हवाई फायरिंग करनी पड़ी। पूरे घटनाक्रम के चलते मौजूद पर्यटकों में भी दशहत हो गई। फिलहाल तनाव की स्थिति बनी हुई है। बता दें कि विश्‍व धरोहर इमारतों में शुमार फतेहपुर सीकरी में कुछ दिन पहले भी विवाद हो गया था। वहीं यह मुगलिया धरोहर लपकों से भी घिरी रहती है। पुलिस यदि अभियान चलाकर लपकों पर अंकुश लगाने का प्रयास करती है तो लपकों का कॉकस किसी न किसी तरीके से विवाद की स्थिति बना देता है।  

फतेहपुर सीकरी में पुलिस और दुकानदारों में विवाद, पुलिस ने फायरिंग कर बचाई जान

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» आगरा के ताजमहल पर अमेरिकी सेना के मेजर से बदसलूकी, मामले ने पकड़ा तूल तो हुआ समझौता

» आगरा मे टॉफी दिलाने के बहाने बच्ची को उठा ले गया राजमिस्त्री, भटक रहे परिजन

» आगरा मे हिंदूूवादी संगठन का कार्यकर्ता किशोरी से छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार

» आगरा मे तरवेज अंसारी की हत्या के विरोध में बवाल, पथराव के बाद पुलिस का लाठीचार्ज

» आगरा मे 11 दिन पहले हुए दोहरे हत्याकांड का राजफाश चचेरे भाइयों ने की थी बहन और प्रेमी की हत्या

 

नवीन समाचार व लेख

» हाई कोर्ट ने नहीं मनाया जस्टिस रंगनाथ पांडेय का विदाई समारोह, नोटिस लिया गया वापस

» राम जन्म भूमि अधिगृहीत परिसर में आतंकी हमले की बरसी पर अयोध्या में अलर्ट

» अदालतों में मुकदमों के ढेर से निपटने के लिए न्यायिक सुधार पर रहेगा अगले पांच साल में विशेष जोर

» नौबस्ता से इंजीनियर के अपहरण और बिंदकी में साढ़े दस लाख की फिरौती मांगे जाने के मामले में नया मोड़ खुद ही फंसा अपहृत इंजीनियर और उसका परिवार

» आईजी कानपुर रेंज की जिम्मेदारी मोहित अग्रवाल ने संभाली