यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आगरा में पांच नए केस की हुई पुष्टि, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 172


🗒 गुरुवार, अप्रैल 16 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आगरा में पांच नए केस की हुई पुष्टि, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 172

कोरोना पर अब जैसे कोई काबू नहीं। दिन पर दिन संक्रमण के नए मामले सामने आ रहेे हैं। गुरुवार रात को कोरोना वायरस संक्रमण के पांच और नए मामले आये हैं। इसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 172 हो गई है। इससे पूर्व सुबह 9:30 बजे एसएन मेडिकल कॉलेज में एक और व्‍यक्ति की मौत हुई थी। इन्‍हें गुर्दा रोग की शिकायत थी, इस पर उन्‍होंने हाईवे स्थित अस्‍पताल में डायलिसिस कराई थी। इसके बाद कोरोना की पुष्टि हुई और  एसएन मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा था। इस तरह आगरा में यह पांचवीं मौत रिपोर्ट हुई है। मृतकों में से तीन महिलाएं हैं। इससे पहले बुधवार देर रात 19 और नए केस सामने आए थे। गुरुवार सुबह तक आगरा में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढकर 172 पर पहुंच गई है। एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती एक 45 वर्षीय व्‍यक्ति ने गुरुवार सुबह दम तोड़ा है। बताया गया है कि गुर्दा रोग से पीडि़त इस व्‍यक्ति ने आगरा दिल्‍ली हाईवे पर गुरुद्वारा गुरु के ताल के पास स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल में डायलिसिस कराई थी। इसके बाद कोरोना संक्रमण पॉजीटिव पाए जाने पर इन्‍हें एसएन में भर्ती कराया गया था। इस बाबत डीएम प्रभु नारायण सिंह ने पुष्टि कर दी है।  इससे पहले केजीएमयू से प्राप्‍त रिपोर्ट के आधार पर बुधवार रात 12:15 बजे डीएम प्रभु नारायण सिंह ने बताया था कि आगरा में 19 केस और सामने आए हैं। अब आगरा में कुल संक्रमितों की संख्‍या 172 पर पहुंच चुकी है। इससे पहले दोपहर मेंं घटिया आजम खां निवासी वरिष्ठ चिकित्सक के कोरोना संक्रमित होने के बाद उनके मोती कुंज लोहामंडी क्षेत्र निवासी मरीज पति पत्नी में कोरोना की पुष्टि हुई थी। उनके पांच स्वजन कोरोना पॉजिटिव थे, अब 42 साल के एक और स्वजन में कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं, मंगलवार देर रात दो नए केस आए थे। इसमें से 40 साल की शहीद नगर निवासी महिला मरीज की हिस्ट्री खंगाली गई, इसमें सामने आया है कि महिला मरीज ने आठ अप्रैल को हरीपर्वत क्षेत्र के डायलिसिस सेंटर में डायलिसिस कराई थी। वह इसी सेंटर पर नियमित डायलिसिस कराती हैं।  दोबारा डायलिसिस कराने गई उनसे कोरोना की जांच कराने के लिए कह दिया। 12 अप्रैल को सैंपल लिए गए थे, कोरोना की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम हरीपर्वत क्षेत्र के डायलिसिस सेंटर  पर पहुंची। उसे बंद करा दिया है। यहां 10 से 15 डायलसिसि हर रोज होती हैं। कर्मचारियों को क्वारंटाइन कराने के साथ ही डायलिसिस कराने वाले मरीजों का रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है, जिससे उनकी स्क्रीनिंग कराई जा सके।उधर, पेट संबंधी बीमारियों के विशेषज्ञ 38 साल के डॉक्टर हरीपर्वत क्षेत्र के एक हॉस्पिटल में ओपीडी करते हैं, यहां ही मरीज भर्ती करते हैं। इनके सैंपल भेजे गए थे, रिपोर्ट निगेटिव आइ थी। बुखार आने पर दोबारा सैंपल भेजे गए, इसमें कोरोना की पुष्टि हुई है। इनके द्वारा देखे गए मरीजों का ब्योरा खंगाला जा रहा है।कोरोना के बुधवार को कुल 19 नए केस सामने आए थे। जो नए केस आए हैं, उनका उपचार कराया जा रहा है। गुरुवार सुबह तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढकर 172 पर पहुंच गई है।प्रभु एन सिंह, जिलाधिकारी

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» प्रदेश में हो रही हैं ब्राह्मणों की हत्याएं, सरकार रेल सेे लेकर तेल बेचने में लगी : सतीश मिश्रा

» आगरा में बेटे ने की मां के प्रेमी की हत्या, पुलिस ने आरोपित को दबिश देकर किया गिरफ्तार

» आगरा पुलिस को बड़ी सफलता, 500 किलो गांजे की खेप की बरामद, तीन तस्कर पकड़े

» आगरा के सर्राफ समेत दो व्यापारी 48 घंटे में लापता

» आगरा में तिहरे हत्याकांड से सनसनी, दंपती और जवान बेटे की हत्या कर शव जलाने की कोशिश

 

नवीन समाचार व लेख

» उत्तर प्रदेश में त्योहारों से जुड़े आयोजनों पर होगा पुलिस का कड़ा पहरा, डीजीपी ने जारी की गाइडलाइन

» कोरोनाकाल में मतदान प्रतिशत बढ़ाने पर ध्यान, ईसीआइ ने किए सुरक्षा के पूरे इंतजाम

» बांदा मे मोबाइल रिचार्ज कराते ही पकड़े गए अपहर्ता

» हरदोई में कॉलेज प्रबंधक ने छात्रा को पास कराने का झांसा देकर की अश्लील बातें, ऑडियो वायरल

» लखनऊ नगर निगम में बदतर कूड़ा प्रबंधन और सीवरेज योजना पर पार्षदों का गुस्सा फूटा