यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जमीअत-उलमा-ए-हिन्द और ऑल इंडिया मुस्लिम वैलफेयर सोसाइटी करा रही है बंदियों के लिए सहरी और इफ्तार का इंतजाम


🗒 बुधवार, अप्रैल 29 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आगरा। रहमत, बरकत के महीने रमजानुल मुबारक माह जहां मुस्लिम समाज के लोग लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए इबादत में  मशगूल हैं।  वहीं जेल में बंद तीन सैंकड़ा से अधिक सजायाफ्ता कैदी रोजा रखकर शिद्दत के साथ इबादतगुजार हैं।  जेल में  बंद 323 रोजदार बंदियों के लिये सहरी और इफ्तार का सामान फल आदि की व्यवस्था जमीअत-उलमा-ए-हिन्द और ऑल इंडिया मुस्लिम वैलफेयर सोसाइटी की जानिब से कराई जा रही है। सहरी और इफ्तार के समय जेल प्रशासन द्वारा एलान कराया जाता है। जेल प्रशासन की व्यवस्थाओं से बंदी खुश हैं।जमीअत उलमा ए हिंद के प्रवक्ता सगीर अहमद ने बताया कि सेंटर जेल में रह रहे 323 लोग रोजा रख रहे हैं। जिनके के लिए कमेटी द्वारा रोजा इफ्तार का सामान पहुंचाया जा रहा है . सगीर अहमद ने  मीडिया को बताया कि वह पिछले 40 साल से जेल  के  रोजेदार बंदियों के लिए सामान पहुंचा रहे हैं और लॉक डाउन में भी सामान पहुंचाया जा रहा है !रोजेदार इस बात से खुश हैं कि जेल प्रशासन उनकी हर एक जरूरत का ध्यान रख रहा है। रोजे शुरू होने से पहले मुस्लिम समुदाय के लोगों काे लग रहा था कि लॉक  डाउन के चलते वह रोजे कैसे रखेंगे, सेंटर में न तो उन्हें सहरी मिल पाएगी और न ही सहरी व इफ्तार का समय पता चल पाएगा।500 किलो फल भी भेजे जाते हैं रोजेदार बंदियों को- कमेटी की ओर से प्रतिदिन ही रोजेदार बंदियों के लिए मौसमी फल भी भेजे जा रहे हैं। रोजाना  लगभग 500 किलो फल कमेटी की ओर से बंदियों को इफ्तार के लिए दिए जा रहे हैं।जेल में ही अदा करते हैं नमाज और तिलावत करते हैं- कमेटी सूत्रों के मुताबिक जेल में ही बंदी रोजेदार नमाज अदा कर रहे हैं। जिन रोजेदारों को कुरान पढ़ना आता है वे कुरान शरीफ की तिलावत भी कर रहे हैं।-जेल में औसतन 323 बंदी रोजा रख रहे हैं। इनके लिए  जमीअत उलमा ए हिंद और  ऑल इंडिया  मुस्लिम वेलफेयर सोसाइटी व प्रशासन की ओर से निशुल्क सेहरी व इफ्तार की सामग्री मुहैया कराई जा रही है। अधिकांश बंदी अंडर ट्रायल हैं। ऐसे में इनसे कोई भारी काम नहीं लिए जाते। 
 
शिव प्रताप मिश्रा,  जेलर,  आगरा सेंट्रल जेल

जमीअत-उलमा-ए-हिन्द और ऑल इंडिया मुस्लिम वैलफेयर सोसाइटी करा रही है बंदियों के लिए सहरी और इफ्तार का इंतजाम

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» जमीन के विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर चलीं गोलियां, दो घायल

» आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 1132, 75 की मौत, 929 लोग हुए ठीक

» ताजनगरी मेंं कोरोना से दो और मौत,कुल कोरोना संक्रमित 1132

» ताजनगरी में कुल कोरोना संक्रमित 1124, 73 की मौत, 914 लोग हुए ठीक

» ताजनगरी में 19 नए मामले आने से कुल कोरोना संक्रमित हुए 1107

 

नवीन समाचार व लेख

» हमीरपुर -डॉक्टर्स डे (एक जुलाई) पर विशेष

» मौदहा -सर्राफा व्यापारी से लूट का खुलासा, चार गिरफ्तार, जेवरात बरामद

» गरीबों को नवंबर तक मिलेगा मुफ्त अनाज, 'एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड' पर काम जारी

» चित्रकूट जेल में बंद डकैत गोप्पा के भाई पर गोलियाें से हमला, हालत गंभीर

» संजीव सिक्का बने यूपी उपभोक्ता सहकारी संघ के सभापति, अरिजीत सिंह उपसभापति निर्वाचित