यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आगरा मे महिला सिपाही की प्रसव के बाद मौत, मरने के बाद हुई संक्रमण की पुष्टि


🗒 बुधवार, मई 06 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सिकंदरा केके नगर स्थित ईश्वर नगर में बुधवार को महिला सिपाही की मौत हो गई। सिपाही विनीती ने दो मई को लेडी लॉयल में नार्मल डिलीवरी से बच्ची को जन्म दिया था। इस दौरान उसकी कोरोना की जांच भी हुई थी। डिलीवरी के बाद से उसे सर्दी- बुखार और सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। बुधवार सुबह हालत बिगड़ने पर स्वजन उसे कार से अस्पताल लेकर गए। मगर,उसे कहीं इलाज नहीं मिला, सिपाही ने कार में ही दम तोड़ दिया। इस बीच उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आने पर बस्ती में दहशत में फैल गई। पांच घंटे तक शव कार में रखा रहा।इंस्पेक्टर सिकंदरा अरविंद कुमार यादव ने बताया कि मैनपुरी निवासी विनीता यादव की शादी तीन साल पहले ईश्वर नगर के रहने वाल रवि यादव के साथ हुई थी। विनीता कानपुर के बिल्हौर थाने में तैनात थी। वह दो अप्रैल को अवकाश लेकर ससुराल आई थी। प्रसव पी़ड़ा होनेे पर उसे दो मई को लेडी लॉयल में भर्ती कराया गया। स्वजनों के अनुसार नार्मल डिलीवरी के कुछ देर बाद ही विनीता को लेडी लॉयल से छुट्टी दे दी गई। वहां कहा गया कि घर पर ही विनीता का ध्यान रखें। अस्पताल में कोरोना का खतरा अधिक है। डिलीवरी के समय कोरोना की जांच को सैंपल लिया गया था। विनीता की तबियत ठीक नहीं थी। उसे बुखार के साथ ही सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी।बुधवार की सुबह उसकी हालत ज्यादा खराब हो गयी। परिवार के लोग उसे हाईवे स्थित एक अस्पताल में लेकर गए। वहां उसे भर्ती नहीं किया गया। महिला सिपाही ने कार में ही दम तोड़ दिया। इसी दौरान स्वजनों को विनीता की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव होने का पता चला। वह कोरोना संक्रमित थी। इससे स्वजनों के साथ ही बस्ती के वाले भी दहशत में आ गए। महिला सिपाही का शव कार में ही रखा रहा। बस्ती के लोग चाहते हुए भी महिला सिपाही के घर जाकर शोक व्यक्त करने का साहस नहीं जुटा सके।महिला सिपाही की मौत के बाद शव पांच घंटे कार में ही रखा रहा। स्वास्थ्य विभाग की टीम पांच घंटे तक नहीं आयी। ककरेठा की पार्षद विकलेश के पति मुकेश यादव ने बताया उन्होंने काेरोना संक्रमित महिला सिपाही की मौत की जानकारी होने पर प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मोबाइल नंबर पर संपर्क किया।सब एक दूसरे का नंबर देते रहे। इसके बावजूद पांच घंटे तक टीम शव को अंतिम संस्कार के लिए अपनी सुपुदर्गी में लेने नहीं आयी।ईश्‍वर नगर बस्ती से केआर नगर और ककरेठा की बस्ती भी लगती है। मृत महिला सिपाही के कोरोना संक्रमित होने का पता चलने पर बस्ती के लोग दहशत में आ गए। वह अपने घरों से बाहर नहीं निकले। गलियों में सन्नाटा पसरा रहा।पार्षद पति मुकेश यादव के अनुसार विनीता के ससुर रंधीर सिंह की दिल्ली में इलाज के दौरान मौत हो गई थी।उनकी भी कोराेना की जांच कराई गई थी। ससुर की रिपोर्ट निगेटिव आयी थी। परिवार के लोग मंगलवार को शव लेकर आए, उसका अंतिम संस्कार किया। बुधवार को बहू विनीता की मौत से परिवार में कोहराम मच गया।

आगरा मे महिला सिपाही की प्रसव के बाद मौत, मरने के बाद हुई संक्रमण की पुष्टि

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» आगरा मे सरगना ने उगले राज तो खुला गिरोह का खेल, पुलिस भी हुई हैरान

» ताजनगरी में कुल कोरोना संक्रमित हुए 1253 और 12 केस और बढ़े, एक और मौत

» जमीन के विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर चलीं गोलियां, दो घायल

» आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 1132, 75 की मौत, 929 लोग हुए ठीक

» ताजनगरी मेंं कोरोना से दो और मौत,कुल कोरोना संक्रमित 1132

 

नवीन समाचार व लेख

» मेरठ मे 50 हजार का इनामी दीपक सिद्धू पुलिस मुठभेड़ में ढेर, अंधेरे का फायदा उठाकर साथी फरार

» लखनऊ में 197 मिले कोरोना संक्रमित, डफरिन अस्पताल के डॉक्टर समेत पांच की मौत

» लखनऊ में बसों की सजावट में लगे छह रोडवेजकर्मी निकले कोरोना संक्रमित, मचा हड़कंप

» यूपी के मुख्यमंत्री कार्यालय परिसर में भी कोरोना की दस्तक, सोशल मीडिया सेल में दो कर्मी संक्रमित

» गोंडा में अवैध रूप से बीड़ी बनाते तीन गिरफ्तार, भारी मात्रा में रैपर व पन्नी भी बरामद