यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 743,


🗒 रविवार, मई 10 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार पर आगरा में तो कोई अंकुश नहीं। इस पर लगाम कसने के तमाम उपाय बेअसर साबित हो रहे हैं। एसएन मेडिकल कॉलेज के स्‍टाफ के बाद कोरोना के नमूने की जांच करने वाली निजी लैब के कर्मचारी भी संक्रमित हो गए हैं। एक तरफ ताजनगरी में औद्योगिक उत्‍पादन शुरू होने की चर्चा हो रही है, दूसरी तरफ हालात दिन पर दिन बेकाबू हो रहे हैं। नागरिकों के मन में डर इतना ज्‍यादा घर कर गया है कि लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद भी लोग काम-धंधे पर जाने से डर रहे हैं। सरकारी सेवाएं राम भरोसे होने के चलते लोग 'एहतियात ही बचाव' के सिद्धांत पर अमल करनेे लगे हैं। इधर शनिवार देर रात आई रिपोर्ट के मुताबिक आगरा में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 743 पहुंच चुकी है। इनमें से 305 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। वहीं मृतक संख्‍या अब 23 हो चुकी है। इस समय आगरा में कुल 417 एक्टिव केस हैं।राष्‍ट्रीय महामारी की स्थिति में मिस मैनेजमेंट की तमाम शिकायतें सामने आ रही हैं। इस दौर में भी स्‍थानीय स्‍तर पर नियमित समय अंतराल पर हेल्‍थ बुलेटिन जारी करने के कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। कोरोना के ताजा आंकड़ों की रिपोर्ट जारी करने को लेकर कोई समय तय नहीं हुआ। कभी सुबह सात बजे तो कभी रात 10 बजे, डेढ़ महीने की अवधि में अलग-अलग समय पर रिपोर्ट जारी होती रही हैं। जबकि विशेषज्ञों का कहना है कंट्रोल रूम से निश्चित समयावधि जैसे हर 4 घंटे के अंतराल पर रिपोर्ट जारी की जानी चाहिए। इलाज के प्रबंध तथा अन्‍य इंतजामों के बारे में आम जनता को भी जानकारी दी जानी चाहिए। शनिवार का ही उदाहरण ले लीजिए, दिनभर कोई रिपोर्ट जारी नहीं हुई। सीधे रात में 42 नए संक्रमित सामने आने की जानकारी दी गई।केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय द्वारा कम असर वाले कोरोना संक्रमितों को अस्‍पताल से बिना जांच छुट्टी कराए जाने से भी बड़ा अंतर आएगा। शहर में बनाए गए क्‍वारंटाइन सेंटर्स में बदइंतजामी के बीच सजा-ए-कोरोना भुगत रहे लोगों के लिए यह राहत प्रदान करने वाले फैसला है। इन केंद्रों पर बड़ी संख्‍या में ऐसे लोग बंद हैं, जिन्‍हें 8 से 10 दिन बीतने पर भी लक्षण नहीं आए हैं। बिना दवाई और सुविधाओं के अव्‍यवस्‍थाओं से जूझ रहे लोग, 10 दिन में छुट्टी पा सकेंगे। गंभीर मरीजों को अलग श्रेणी में रखते हुए उनका दूसरा टेस्‍ट नेगेटिव आने पर अस्‍पताल से छुट्टी मिलेगी। मध्‍यम श्रेणी के मरीजों को छुट्टी मिलने के सात दिन बाद तक घर में आइसोलेट रहना होगा।एसएन मेडिकल कॉलेज, जालमा कुष्ठ एवं अन्य माइकोबैक्टीरियल रोग संस्थान के साथ ही दो निजी लैब द्वारा कोरोना की जांच की जा रही है। इसमें से एक निजी लैब ने कोरोना के सैंपल की जांच में लगे कर्मचारियों की जांच कराई, इसमें से दो में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके बाद निजी लैब में रोक की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। ये दोनों लैब के बाग फरजाना स्थित कार्यालय में काम करते हैं। वहीं, फील्ड एक्टिविटी में लगे हुए लोगों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। 34 साल के ताजगंज निवासी, 55 साल के आवास विकास कॉलोनी निवासी मरीज में कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं, 34 साल की बोदला निवासी महिला, 46 साल के जगदीशपुरा निवासी युवक में कोरोना पॉजिटिव आया है। बसई केला निवासी 22 साल की गर्भवती की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।बाहर से आने वालों के भी सैंपल लिए जा रहे हैं। 34 साल निवासी युवक में कोरोना की पुष्टि हुई है। 70 साल के बुजुर्ग, शाहगंज निवासी 40 साल की महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 743,

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» आगरा मे सरगना ने उगले राज तो खुला गिरोह का खेल, पुलिस भी हुई हैरान

» ताजनगरी में कुल कोरोना संक्रमित हुए 1253 और 12 केस और बढ़े, एक और मौत

» जमीन के विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर चलीं गोलियां, दो घायल

» आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 1132, 75 की मौत, 929 लोग हुए ठीक

» ताजनगरी मेंं कोरोना से दो और मौत,कुल कोरोना संक्रमित 1132

 

नवीन समाचार व लेख

» इलाहाबाद हाई कोर्ट ने चित्रकूट में नाबालिग लड़कियों से अनैतिक कार्य लेने की जांच का दिया आदेश

» यूपी में हुक्का बार की शिकायत पर हाई कोर्ट गंभीर, राज्य सरकार से पूछा- क्यों न बंद कर दिया जाए?

» उत्तर प्रदेश में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर शनिवार और रविवार को भी खुलेंगी शराब की दुकानें

» कानपुर मे ईंट-बेलन से कुचलकर किया कत्ल

» स्कूल की टीसी में खुलासा, विकास दुबे का साथी प्रभात मिश्रा था बालिग