यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 785, 25 की मौत, 379 लोग हुए ठीक


🗒 बुधवार, मई 13 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

जिस ताजनगरी में नए कोरोना संक्रमितों के आंकड़े रोजाना तेजी से कुलांचे भर रहे थे, कभी 30 तो कभी 40। दो से तीन दिन के भीतर एक सैकड़ा का सफर तय कर रहे थे। उसी शहर में बीते दो दिन से रफ्तार धीमी हो चुकी है। इसे राहत के संकेत मानें या आने वाले समय में खतरा एक साथ बढ़ने की सुगबुगाहट, अभी यह साफ नहीं। संयोग की बात यह है कि बीते दो दिन से शासन से आए आला अफसरों की टीम शहर में डेरा डाले है, जो कोरोना की रोकथाम पर मंथन कर रही है। इस सप्‍ताह की शुरुआत वाले दिन सोमवार को 13 नए केस सामने आए, वहीं मंगलवार की रात तक 12 मामले। आंकड़ों में आई अचानक इस अप्रत्‍याशित कमी को देख शहरवासियों के मन में भी सवाल कौंध पड़ा है कि आखिर ऐसा क्‍या हुआ कि नए संक्रमितों का आंकड़ा इन्‍हीं दो दिन में कम होने लगा। दिमाग यह बात आसानी से हजम नहीं कर पा रहा। टीम भी जो बंदोबस्‍त जांच रही है, वह एसएन मेडिकल कॉलेज और क्‍वारंटाइन सेंटर्स के। उनका नए मरीजों की संख्‍या से सीधेे तौर पर कोई वास्‍ता नहीं। खैर...हाल फिलहाल इसके पीछे का पुष्‍ट कारण अभी नहीं ढूंढ़ा जा सकता है। राहत बनी रहेगा कि आफत बढ़ेगी, यह तस्‍वीर भी समय के साथ साफ हो जाएगी।बुधवार को ताजनगरी में नए संक्रमितों की संख्‍या 8 बढ़ने से कुल संख्‍या 785 पर पहुंच गई है। वहीं डिस्‍चार्ज होने वालों की संख्‍या बढ़कर 379 पहुंच चुकी है। अब तक 25 मौतें रिपोर्ट हो चुकी हैं। इससे पहले सोमवार को 13 नए केस सामने आए थे। एक सप्‍ताह पहले आंकड़ा 635 पर था, सप्‍ताह भर में 785 केस हुए, यानि 7 दिन में 142 नए मरीजों की बढ़ोत्‍तरी। औसत दर करीब 20 मरीज प्रतिदिन की। अब बीते दो दिन से 12 और 13 मरीजों के आंकड़े शहरवासियों के दिल को ढांढस जरूर बंधा रहे हैं।पांच सदस्‍यीय टीम ने मंगलवार को शहर के जनप्रतिनिधियों और आइएमए के डॉक्‍टर्स के साथ बैठक की। दोनों ही बैठकों में टीम के सामने शिकायतों का ढेर लगा। एसएन और क्‍वारंटाइन सेंटर्स में व्‍याप्‍त अव्‍यवस्‍थाओं का हवाला देते हुए इन दोनों में व्‍यवस्‍थाओं को सुधारे जाने के सुझाव दिए गए। यह भी बताया गया कि क्‍वारंटाइन सेंटर्स से रोजाना वीडियो वायरल हो रहे हैं, उन्‍हें वहां इलाज नहीं मिल रहा, बल्कि यातनाओं को भोगना पड़ रहा है। इन वीडियो को देखकर ही शहर के लोग अब टेस्‍ट कराने से कतराने लगे हैं। जनप्रतिनिधियों ने एसएन में मरीजों के बारे सही जानकारी देने के लिए पीआरओ नियुक्‍त किए जाने का सुझाव भी रखा। इस दौरान राज्‍यमंत्री डा. जीएस धर्मेश, सांसद प्रो. एसपी सिंह बघेल, सांसद राजकुमार चाहर, विधायक पुरुषोत्‍तम खंडेलवाल, योगेंद्र उपाध्‍याय, रामप्रताप सिंह चौहान, महेश गोयल, पक्षालिका सिंह, आइएमए आगरा के अध्‍यक्ष डा. रवि मोहन पचौरी, डा. संजय चतुर्वेदी, डा. राजीव उपाध्‍याय, डा. डीवी शर्मा व अन्‍य मौजूद थे।

आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 785, 25 की मौत, 379 लोग हुए ठीक

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» विक्‍की अरोड़ा की कोठी में बने एक और गोदाम पर पंजाब पुलिस का छापा, मिला जखीरा

» आगरा मे सरगना ने उगले राज तो खुला गिरोह का खेल, पुलिस भी हुई हैरान

» ताजनगरी में कुल कोरोना संक्रमित हुए 1253 और 12 केस और बढ़े, एक और मौत

» जमीन के विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर चलीं गोलियां, दो घायल

» आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 1132, 75 की मौत, 929 लोग हुए ठीक

 

नवीन समाचार व लेख

» गोकशी की सूचना पर इंस्पेक्टर बिफरे, बोले-किसी से कह देना,ऑडियो वायरल

» एनटीपीसी ऊंचाहार के निजी चिकित्सालय के संविदा कर्मी ने लगाई फांसी, CMO पर प्रताड़ना का आरोप

» यूपी में लॉकडाउन के दिन रक्षाबंधन को लेकर खुलेंगी मिठाई व राखी की दुकानें, बहनों को मुफ्त बस यात्रा

» KGMU के नए कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ बिपिन पुरी बने

» हमीरपुर-कोरोना की चपेट में आए पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन की मौत