यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आगरा मेंं पांच नए केस के साथ कुल कोरोना संक्रमित 803


🗒 शनिवार, मई 16 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

शनिवार रात तक पांच नए कोरोना संक्रमितों के सामने आने से आगरा में आंकड़ा अब आठ सौ के बैरियर को पार कर 803 पर पहुंच गया है। बीते पूरे सप्‍ताह में आंकड़ा नियंत्रण में रहने के पीछे शहरभर में जो कयास लगाए जा रहे थे, वह सही ही साबित होते दिख रहे हैं। नमूने लेने की रफ्तार कम होने से ही नए संक्रमितों की संख्‍या में गिरावट आई है। शनिवार रात तक स्‍वस्‍थ होकर घर पहुंचने वालों की संख्‍या 501 पर पहुंच गई है। इससे पहले शुक्रवार देर रात तक स्‍वस्‍थ होकर घर वापसी करने वालों को आंकड़ा 485 पर पहुंच गया था। बीते दिनों में जहां आठ-10 लोग डिस्‍चार्ज हो रहे थे, शुक्रवार को 92 लोग घर पहुंचे। वहीं शुक्रवार को ही दिनभर में नौ नए केस सामने आए थे। इससे पहले गुरुवार को दिनभर में कोरोना संक्रमण से जुड़े महज चार नए केस रिपोर्ट हुए थे। मृतक संख्‍या 27 ही है।कोरोना की जांच के इंतजार में मरीज की शुक्रवार सुबह घर पर मौत हो गई। स्वजनों ने कोरोना की जांच के लिए सैंपल लेने के बाद रिपोर्ट ना आने और क्वारंटाइन सेंटर से घर भेजने के आरोप लगाए हैं। इंद्रानगर न्यू आगरा निवासी 43 साल के भरत सिंह जूता फैक्ट्री में काम कर करते थे। उनके बेटे बबलू सोलंकी ने बताया कि लिवर की समस्या होने पर तीन मार्च को एसएन में दिखाया, यहां से जयपुर रेफर कर दिया। वहां 10 मार्च मुंह में नली डालकर इलाज चलने के बाद डिस्चार्ज कर दिया। नली निकालने के लिए मार्च के अंत में दोबारा आने के लिए कहा था, इसी दौरान लॉक डाउन होने से जयपुर नहीं जा सके, निजी अस्पताल लेकर गए तो कोरोना की जांच कराने के लिए कह दिया। इसके बाद सिकंदरा के एक निजी अस्पताल में इलाज कराया, छह मई को तबीयत बिगडने पर उन्होंने एसएन जाने के लिए कह दिया। 11 मई को एसएन पहुंचे, यहां कहा गया कि कोरोना के सैंपल लेने के बाद तीन दिन तक आइसोलेशन वार्ड में भर्ती रखा जाएगा। कोई तीमारदार साथ नहीं रहेगा। बबलू का आरोप है कि वह घर चला आया, 15 घंटे तक उसके पिता को कोई इलाज नहीं दिया गया। 12 मई को एक पर्चे पर दवाएं लिखकर घर जाने के लिए कह दिया। वे पैदल ही घर पहुंच गए। इससे और तबीयत बिगड गई, निजी असपताल लेकर गए, उन्होंने कोरोना की रिपोर्ट दिखाने के लिए कहा। वह एसएन, सीएमओ और जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम पर फोन कर कोरोना की सैंपल की रिपोर्ट के बारे में जानकारी लेते रहे। मगर, रिपोर्ट क्या आइ यह नहीं बताया गया। इससे सुबह मौत हो गई, पुलिस के साथ ही कंट्रोल रूम में भी सूचना दी गई।

आगरा मेंं पांच नए केस के साथ कुल कोरोना संक्रमित 803

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» विक्‍की अरोड़ा की कोठी में बने एक और गोदाम पर पंजाब पुलिस का छापा, मिला जखीरा

» आगरा मे सरगना ने उगले राज तो खुला गिरोह का खेल, पुलिस भी हुई हैरान

» ताजनगरी में कुल कोरोना संक्रमित हुए 1253 और 12 केस और बढ़े, एक और मौत

» जमीन के विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर चलीं गोलियां, दो घायल

» आगरा मेंं कुल कोरोना संक्रमित 1132, 75 की मौत, 929 लोग हुए ठीक

 

नवीन समाचार व लेख

» रायबरेली में देसी बम के साथ तीन युवक गिरफ्तार, अयोध्या मार्ग पर हो रही थी चेकिंग

» पीएम मोदी के आगमन से पहले किले में बदली अयोध्या, यूपी के हर कोने पर खुफिया नजर

» बुलंदशहर में देवर ने भाभी का अपहरण कर कानपुर और लखनऊ के होटलों में रखा

» सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित आयोग ने शुरू की जांच, बिकरू पहुंचे सदस्य

» अयोध्या जा रहे अमरावती मठ के पीठाधीश्वर को पुलिस ने रोका, एडीजी ने सहर्ष जाने दिया