यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

ताजनगरी में फिर आया उछाल, 2 मौत और 937 पर पहुंचा कुल आंकड़ा


🗒 गुरुवार, जून 04 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
ताजनगरी में फिर आया उछाल, 2 मौत और 937 पर पहुंचा कुल आंकड़ा

 ताजनगरी में अनलॉक का दूसरा दिन है। Corona Virus के नए मामलों ने गुरुवार को फिर उछाल मारा है। बीते दो सप्‍ताह से 10 से नीचे बने रहने से लोगों को यह उम्‍मीद बन पड़ी थी कि आगरा, कोरोना खात्‍मे की ओर बढ़ रहा है। लेकिन गुरुवार को दिन भर में 13 नए मामले रिपोर्ट होने से अब कुल संख्‍या 937 पर आ गई है। अब शहर में एक्टिव केस बढ़कर 81 हो गए हैं, जो बुधवार रात तक 73 पर थे। तीन लोग स्‍वस्‍थ होकर घर लौटे हैं, इससे सही होने वालों की संख्‍या बढ़कर 802 पर आ चुकी है। गुरुवार तक शहर में 14250 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। वहीं मृतक संख्‍या बढ़कर 47 हो चुकी है। नए संक्रमितों और एक्टिव केस का बढ़ना, एक तरह से उन लोगों के लिए अलार्म ही है, जो अनलॉक में निश्चिंंत होकर सैर सपाटा करने सड़कों पर फिजूल निकल पड़े हैं। इससे पहले बुधवार रात आई रिपोर्ट में कोरोना संक्रमण के आठ नये मामलेे सामने आए थे।एसएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी में मास्क अनिवार्य कर दिया है। यहां मास्क के बिना प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इमरजेंसी के गेट पर हाथ सैनेटाइज कराए जाएंगे। वहीं, इमरजेंसी मे आने वाले मरीज, तीमारदार के साथ ही डॉक्टर और कर्मचारियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। एसएन इमरजेंसी में गंभीर मरीज भर्ती किए जा रहे हैं। ओपीडी में बुखार के मरीजों को परामर्श दिया जा रहा है। यहां कोरोना के संदिग्ध मरीज भी पहुंच रहे हैं। इससे संक्रमण का खतरा बढा है। एसएन के प्राचार्य डॉ संजय काला के आदेश पर इमरजेंसी में प्रवेश करने वाले मरीज और तीमारदारों के लिए मास्क अनिवार्य किया गया है। वहीं, इमरजेंसी के गेट पर तैनात सुरक्षा गार्ड और वार्ड बॉय द्वारा मरीज और तीमारदारों के हाथ सैनेटाइज कराए जाएंगे। मास्क पहनने पर ही इमरजेंसी में प्रवेश दिया जाएगा। मरीजों को मास्क उपलब्ध कराए जाएंगे। वहीं, गंभीर मरीजों को भर्ती करने के बाद सैंपल लिए जा रहे हैं, इनकी रिपोर्ट निगेटिव आने पर वार्ड में भेजा जा रहा है। वहीं, पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया जा रहा है। इमरजेंसी में प्रवेश और बाहर निकलने के लिए अलग अलग गेट बनाए गए हैं। वहीं, इमरजेंसी में आने वाले डॉक्टर और कर्मचारियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है।इमरजेंसी में ट्रायल ओपीडी में बुखार और सांस लेने में परेशानी की शिकायत के साथ पहुंच रहे मरीजों को अलग देखा जा रहा है। इनके कोरोना की जांच के लिए सैंपल भी लिए जा रहे हैं।

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» आगरा में एकाउंटेंट ने दोस्त की पत्नी से दुष्कर्म कर बनाई वीडियो,

» आगरा में चाेरों ने ताले खोलकर पार की नकदी और गहने

» आगरा के गांव में तमंचा लेकर सड़क पर घूम रहा युवक, वीडियो वायरल

» आगरा पुलिस ने इनामी गैंगस्टर समेत चार शातिरों को किया गिरफ्तार

» आगरा के लोटस हास्पिटल में मरीज की मौत की अफवाह पर हास्पिटल में तोड़फोड़

 

नवीन समाचार व लेख

» कन्नौज में पुत्री से अभद्रता का विरोध करने पर गर्भवती व पति को पीटा

» कन्नौज के इमाम चौके में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, ऑडियो सुन पुलिस हरकत में आई

» प्रेमी संग मिली बेटी तो पिता ने किया दोनों का कत्ल

» कानपुर में अपार्टमेंट की 8वीं मंजिल से गिरकर MBBS डॉक्टर की मौत

» मेरठ में चुनावी रंजिश में जमकर संघर्ष, पथराव और फायरिंग में आधा दर्जन घायल