यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आगरा में पिता की अय्याशी से तंग बेटे व बेटी ने करवा दी हत्या, चार आरोपित गिरफ्तार


🗒 मंगलवार, मार्च 30 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आगरा में पिता की अय्याशी से तंग बेटे व बेटी ने करवा दी हत्या, चार आरोपित गिरफ्तार

आगरा, आगरा में सनसनीखेज वारदात सामने आई है। यहां बेटा और बेटी ने मिलकर अपने पिता की बेरहमी से हत्या करवा दी। पुलिस का दावा है कि चित्राहाट के नाहि का पुरा गांव में प्रधान पुत्र की हत्या अवैध संबंधों और अय्याशी के लिए जमीन बेचने के कारण हुई थी। बेटे और बेटी ने हत्या कराई थी। इसके बाद रंजिश में गांव के एक व्यक्ति को नामजद करा दिया। पुलिस ने बेटे, बेटी, बेटी के प्रेमी और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश कर दिया।चित्राहाट के नाहि का पुरा निवासी प्रधान पुत्र सुनील की 26 मार्च को सिर में डंडे से चोट मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में सुनील के बेटे ने गांव के ही अनवर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया था। पुलिस की जांच में सामने आया कि सुनील कुमार अय्याश किस्म का व्यक्ति था। उसकी गांव व आसपास के गांवों में कई महिलाओं से अवैध संबंध थे। उन पर वह पैसा खर्च करके अय्याशी करता था। इसके लिए वह पूर्व में अपनी संपत्ति बेच चुका था। अब छह बीघा जमीन का सौदा भी करीब 20 लाख रुपये में कर दिया था। इसी को लेकर घर में क्लेश हो रहा था। सुनील की बेटी अल्पना और बेटा अनुज उनसे काफी नाराज थे।21 मार्च को नाहि का पुरा निवासी अनवर का अनुज से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। इस मामले में अनुज ने थाना चित्राहाट में रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। अनुज और उसकी बहन अल्पना ने मदन यादव से अपने पिता की हत्या करा दी। इसके बाद अनवर के खिलाफ हत्या का मुकदमा लिखा दिया। पुलिस की जांच में स्थिति स्पष्ट होने पर सोमवार रात को पुलिस ने सुनील के बेटे अनुज, बेटी अल्पना के साथ सूरज नगर निवासी मदन और संजेश को गिरफ्तार कर लिया।एसएसपी मुनिराज जी ने बताया कि मदन और संजेश दोस्त हैं। संजेश के अल्पना से छह वर्ष से प्रेम संबंध हैं।अल्पना और उसके भाई अनुज से पिता सुनील द्वारा मारपीट की जाती थी। यह बात संजेश को पसंद नहीं थी।अनुज और अल्पना के साथ मिलकर संजेश ने हत्या की साजिश रची। संजेश ने अपने दोस्त मदन से फोन करके सुनील की हत्या करने को कहा। साजिश के तहत मदन 26 मार्च की रात को सुनील के घर गया। बरामदे में चारपाई पर सो रहे सुनील के सिर पर चारपाई के पाए से ताबड़तोड़ प्रहार कर हत्या कर दी। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त चारपाई के पाए को बरामद कर लिया। पर्दाफाश में इंस्पेक्टर बाह विनोद कुमार, सर्विलांस प्रभारी नरेंद्र कुमार, एसओ चित्राहाट महेंद्र भदौरिया की अहम भूमिका रही।

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» आगरा में साइबर शातिरों को फाइनेंस कंपनी का डाटा बेचने वाला आरोपित गिरफ्तार

» आगरा में नकली मोबिल आयल बनाने की फैक्ट्री पकड़ी, 12 गिरफ्तार

» आगरा के सैंया मेें इलेक्ट्रानिक्स की दुकान से चोरी करने वाले तीन शातिर गिरफ्तार, एक फरार

» आगरा में डाक्टर को परिवार समेत घर में बंधक बनाकर लाखों की लूट

» आगरा में व्यापारी ने खुद को गोली मारकर की खुदकुशी

 

नवीन समाचार व लेख

» बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत करें कार्यकर्ताः पूर्व विधायक

» मार्ग हादसे में बाइक सवार अधिवक्ता की मौत

» पुरानी रंजिश को लेकर दबंगों ने वृद्ध को मारपीट कर किया घायल

» बाइक सवार तीन लोगों को लोडर ने पीछे से मारी टक्कर तीनों गंभीर रूप से घायल

» कैट के प्रयासों से अनिवार्य हालमार्किंग 1 सितंबर तक टली