यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आगरा में लुटेरी दुल्हन और उसके साथियों ने की थी व्यापारी की हत्या, लूटपाट


🗒 शनिवार, अप्रैल 24 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आगरा में लुटेरी दुल्हन और उसके साथियों ने की थी व्यापारी की हत्या, लूटपाट

आगरा। आगरा में हरीपर्वत थाना क्षेत्र के अपार्टमेंट में बुजुर्ग व्यापारी की हत्या लुटेरी दुल्हन और उसके साथियों ने मिलकर की थी। व्यापारी के परिचितों ने उसे शादी का झांसा देकर अपने जाल में फांसा था। वह 12 अप्रैल की रात को अपनी साजिश में शामिल युवती को दुल्हन बनाकर व्यापारी के पास लेकर गए थे। पुलिस ने हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए लुटेरी दुल्हन समेत दो लोगाें को शिकाेहाबाद रोड से गिरफ्तार कर लिया। घटना में शामिल चार अन्य लोगों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि हरीपर्वत के फ्रीगंज में तिरंगा अपार्टमेंट में रहने वाले आढ़़त का काम करने वाले व्यापारी किशन गोपाल अग्रवाल (67 वर्ष) की 12 अप्रैल की आधी रात को हत्या कर दी गई थी। अपार्टमेंट के लोगों को 13 अप्रैल की सुबह फ्लैट में उनकी लाश मिलने पर घटना का पता चला था। हत्यारे व्यापारी की तिजोरी में लाखों के नकदी-जेवरात लूट ले गए थे। घटना को बिना नंबर की कार से आई महिला और उसके तीन साथियों ने अंजाम दिया था।एसपी सिटी ने हत्या और लूटपाट करने वाले आरोपितों नीलम यादव पत्नी राकेश यादव निवासी गांव रसेनी थाना एका फीरोजाबाद और यज्ञपाल उर्फ करुआ निवासी ढैकी बडेरा थाना कोतवाली देहात एटा को गिरफ्तार कर लिया गया है।आरोपितों ने पूछताछ में बताया किशन गोपाल ने छह महीने पहले परिचित बिल्लू से अपनी शादी कराने की बाबत बातचीत की थी। बिल्लू ने बातचीत के दौरान इसका जिक्र अपने परिचित यज्ञपाल उर्फ करुआ से किया था। यज्ञपाल ने अपने दोस्त विजय उर्फ करुआ के साथ बुजुर्ग व्यापारी को शादी के बहाने लूटने की योजना बनाई। विजय ने किशन गोपाल को अपने जाल में फंसाने के लिए महिला मित्र नीलम यादव को भी साजिश में शामिल कर लिया।एक महीने पहले विजय और यज्ञपाल ने किशन गोपाल से संपर्क किया। उसे नीलम का फोटो दिखाते हुए शादी कराने की कहा।व्यापारी को नीलम पसंद आ गई। वह उससे शादी करने को तैयार हो गया। इसके बाद विजय और यज्ञपाल ने अपने साथियों अवधेश, सचिन व बंटी को साजिश में शामिल करके घटना के लिए तैयार कर लिया। नीलम ने पुलिस को बताया कि 12 अप्रैल की रात को व्यापारी ने उसे शादी के लिए बुलाया था। उसने व्यापारी और साथियों को खाना बनाकर खिलाया। व्यापारी तिजोरी वाले कमरे में सोया था। वहीं पर गला दबाकर उसकी हत्या करने के बाद तिजाेरी में रखे नकदी-जेवरात लूटकर ले गए।एसपी सिटी ने बताया आरोपितों से लूटा गया मोबाइल फोन और जेवरात बरामद किए हैं। घटना में शामिल बाकी आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।विजय उर्फ करुआ निवासी गांव गोपालपुर महाराजपुर थाना एका फीरोजाबाद। अवधेश, सचिन और बंटी सभी निवासी ढैकी बडेरा थाना कोतवाली देहात एटा। 

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» आगरा में साइबर शातिरों को फाइनेंस कंपनी का डाटा बेचने वाला आरोपित गिरफ्तार

» आगरा में नकली मोबिल आयल बनाने की फैक्ट्री पकड़ी, 12 गिरफ्तार

» आगरा के सैंया मेें इलेक्ट्रानिक्स की दुकान से चोरी करने वाले तीन शातिर गिरफ्तार, एक फरार

» आगरा में डाक्टर को परिवार समेत घर में बंधक बनाकर लाखों की लूट

» आगरा में व्यापारी ने खुद को गोली मारकर की खुदकुशी

 

नवीन समाचार व लेख

» खाद्य विपणन शाखा पर गेहूं खरीद बंद होने से क्षेत्रीय किसान परेशान

» युवती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा शव

» खेतों पर एक अधेड़ का मिला शव परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप

» पुरानी रंजिश को लेकर दबंगों ने मकान के अंदर बंद करके युवक के साथ की मारपीट

» कृषि विश्वविद्यालय ने कृषि विज्ञान केन्द्रों को उत्तम कार्य के लिये पुरस्कृत किया