यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कारपेंटर ही निकला डकैती का सूत्रधार, पांच गिरफ्तार


🗒 मंगलवार, सितंबर 21 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कारपेंटर ही निकला डकैती का सूत्रधार, पांच गिरफ्तार

आगरा, । जगदीशपुरा की आवास विकास कालोनी में डाक्टर जसवंत राय के घर पड़ी डकैती का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। थोड़ी देर बाद होने जा रही प्रेस कांफ्रेंस में पुलिस पूरे मामले की अधिकारिक जानकारी देगी। डकैती का सूत्रधार कारपेंटर था। जिसने साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सुराग जुटाते हुए कारपेंटर से पूछताछ की तो सारा मामला खुलकर सामने आ गया। कारपेंटर की निशानदेही पर पुलिस ने पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। डाक्टर के यहां वारदात में बदमाशों की संख्या भी पांच की जगह छह थी। बदमाशों की एक गलती से पुलिस को सुराग मिला। बदमाश कालाेनी में एक साथ नहीं बल्कि एक-एक करके आए थे।सेक्टर दो में रहने वाले डाक्टर जसवंत राय के घर पर 18 सिंतबर की रात को पांच नकाबपोश बदमाशों ने डकैती डाली थी। डाक्टर को तमंचे की बट से लहूलुहान करने के बाद पत्नी डाक्टर सुनीता सागर और छोटे भाई सुखवीर की पत्नी सीमा सागर को बंधक बना आठ लाख रुपये और 12 लाख रुपये के जेवरात लूट ले गए थे। मगर, अपराधी कितना भी चालाक क्यों न हो वह सुराग जरूर छोड़ जाता है। इस डकैती की घटना में भी यही हुआ।बदमाशों को पहले से पता था कि घर की मालकिन कौन है। उन्होंने डाक्टर जसवंत के मुंह में टेप लगा, हाथ-पैर बांध कमरे में बंद कर दिया था। इसके बाद डाक्टर सुनीता सागर से ही अलमारी की चाबी मांगी थी। बदमाशों को इसकी जानकारी कैसे थी, पुलिस ने इस सवाल का जवाब तलाशने के लिए छानबीन शुरू की। बदमाशों के बारे में उसे यहीं से उसे सुराग मिला।डाक्टर दंपती के घर के पास में ही सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है। सोमवार को पुलिस ने कैमरे की फुटेज मिल गईं। जिसे चेक करने पर पता चला कि बदमाशों की संख्या पांच नहीं बल्कि छह थी। वह एक-एक करके कालोनी में आए थे। जिससे किसी का ध्यान उन पर न पड़े। इसके बाद डाक्टर के गेट के पास खड़ी कार की आड़ में जाकर छिप गए थे।एक बदमाश गेट से कूदकर अंदर आया। उसने गेट की कुंडी खोलकर साथियों को अंदर बुलाया था। वारदात के दौरान बदमाशों ने गेट केा अंदर से बंद कर लिया था। जबकि एक बदमाश नजर रखने के लिए कार के पीछे ही छिपा रहा था। पुलिस ने बाहर खड़े बदमाश की पहचान के प्रयास शुरू किए। जिसके बाद घटना की कड़ियां आपस में जुड़ती चली गईं।

आगरा से अन्य समाचार व लेख

» सेवानिवृत्त दारोगा के खाते से पार किए 7.36 लाख रुपये

» डूडा से आवास आवंटित कराने का झांसा देकर महिला से सामूहिक दुष्कर्म

» होमगार्ड को फर्जी प्रवेश पत्र देकर भेज दिया पुलिस लाइन, ठग लिए चार 4.80 लाख रुपये

» पब्लिक के हाथ आया एटीएम शातिर, जमकर हुई धुनाई

» आगरा कानपुर हाईवे पर हुए हत्याकांड का पर्दाफाश