यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रिश्‍तेदार ही निकला चोर, चुराया था 2.75 करोड़ रुपये का सोना, गिरफ्तार


🗒 बुधवार, अक्टूबर 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रिश्‍तेदार ही निकला चोर, चुराया था 2.75 करोड़ रुपये का सोना, गिरफ्तार

आगरा, । जगदीशपुरा की आवास विकास कालोनी में डेढ़ महीने पहले रेलवे ठेकेदार के घर से पौने तीन करोड़ रुपये का सोना उसके दूर के रिश्तेदार ने चोरी किया था। ठेकेदार ने अपने भांजे पर शक जताया था। मगर, पुलिस ने छानबीन की तो असली चोर कोई और निकला। पुलिस ने मंगलवार की रात को आवास विकास पानी की टंकी के पास आरोपित को गिरफ्तार कर उससे तीन किलो 962 ग्राम सोना और 24 लाख रुपये बरामद किए हैं।एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया आवास विकास कालोनी सेक्टर तीन निवासी प्रेमचंद रेलवे में ठेकेदार हैं। वह सात अगस्त को अपनी बेटी को उसके कालेज छोड़ने दुर्गापुर पश्चिम बंगाल गए थे। प्रेमचंद की पत्नी व पुत्र भी उनके साथ गए थे। एक बेटी घर पर रह गई थी। ठेकेदार की गैर मौजूदगी में सात अगस्त को उनका भांजा सत्य नारायण घर पर आया था। दुर्गापुर से लौटने के बाद प्रेमचंद ने अगस्त के अंतिम सप्ताह में तिजोरी खोली। उसमें रखा सोने के बिस्कुट, जेवरात व दो लाख रुपये गायब थे।एसपी सिटी ने बताया प्रेमचंद ने अपने भांजे सत्य नारायण पर चोरी का शक जताते हुए एक सितंबर को मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की तो भांजे के अलावा रोहित निवासी जसवंत नगर इटावा का नाम सामने आया। घटना के बाद से भांजे के साथ वह भी गायब था। भांजे को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर उससे कुछ नहीं मिला। जिसके बाद पुलिस ने रोहित की तलाश शुरू की।पुलिस के पूछताछ करने पर रोहित ने बताया कि वह प्रेमचंद के साढ़ू का रिश्तेदार है। उनके घर पर तीन साल से आना-जाना था। वह प्रेमचंद की गाड़ी भी चलाने के साथ ही उनके घर के काम भी करता था। जिससे वह परिवार के सदस्य की तरह हाे गया था। एक दिन मौका पाकर उसने प्रेमचंद के तिजोरी की डुप्लीकेट चाबी बनवा ली। सात अगस्त को उनकी गैर मौजूदगी में घर पर आया। तिजोरी में रखे सोने के सात बिस्कुट व दो लाख रुपये चोरी करके ले गया।आरोपित ने पुलिस को बताया उसने इटावा में एक ब्रोकर के माध्मय से दो सोने के बिस्कुट वजन करीब डेढ़ किलोग्राम 60 लाख रुपये में बेच दिए। इसमें 10 लाख रुपये अपने खाते में जमा करा दिए। पांच लाख रुपये रिश्तेदार की लड़की के खाते में जमा करा दिए। उसने अपना लाखों रुपये का कर्जा चुकाया। उसके पास 24 लाख रुपये बचे थे।एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि आरोपित को जेल भेजा गया है।रेलवे ठेकेदार प्रेमचंद ने एक सितंबर को मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमे में कितना सोना चोरी गया, यह नहीं खोला था। जिसके चलते पुलिस इसे सामान्य चाेरी समझ रही थी। मगर, छानबीन के दौरान जब पौने तीन करोड़ रुपये के सोने के बिस्कुट चोरी होने का पता चला तो टीमें गठित कर आरोपित की तलाश शुरू हुई।