यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अलीगढ मे पुलिस के सामने एडीए टीम पर पथराव, अवर अभियंता घायल


🗒 बुधवार, सितंबर 18 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

अवैध कॉलोनी को ध्वस्त करने गई एडीए (अलीगढ़ विकास प्राधिकरण) टीम पर पुराने मथुरा बाइपास स्थित मकदूम नगर में हमला हो गया है। पुलिस के सामने ही टीम पर जमकर पथराव हुआ।  200 से 300 लोगों की भीड़ ने टीम के सदस्यों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। आरोप है कि हमलावरों के हाथों में चाकू, सरिया व डंडे लगे हुए थे। अवर अभियंता पीयूष त्यागी घायल हो गए। टीम के सदस्यों ने जैसे-तैसे भाग कर अपनी जान बचाई। बाद में एसीएम प्रथम व अतिरिक्त पुलिस बल पहुंचने पर हमलावर मौके से भाग गए। देर रात प्रभारी सचिव ने कॉलोनी के बिल्डरों समेत आधा दर्जन लोगों के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दे दी है।मथुरा बाइपास के संवेदनशील क्षेत्र मकदूम नगर में पिछले दिनों करीब 60 बीघा क्षेत्रफल में बिना नक्शे के ही कॉलोनी बना दी गई थी। इसमें अब 20-30 घर भी बन चुके हैं। इनमें कई परिवार भी रहते हैं। पिछले दिनों एडीए से इस कॉलोनी के ध्वस्तीकरण के आदेश हो गए थे। सहायक अभियंता महाराज सिंह के नेतृत्व में अवर अभियंता आरके गुप्ता, गंगेश सिंह, नवीन शर्मा, पीयूष त्यागी देहलीगेट थाने के दो दरोगा व तीन सिपाहियों के साथ यहां पहुंच गए। दोपहर एक बजे करीब यहां जेसीबी से ध्वस्तीकरण भी शुरू हो गया। टीम के ध्वस्तीकरण को देख यहां धीरे-धीरे लोग एकत्रित होने लगे। करीब 15-20 मिनट तक ध्वस्तीकरण चलता रहा। कई दीवारें गिरा दी गईं, लेकिन फिर स्थानीय लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। टीम फिर भी हंगामा के बीच ही कार्रवाई करती रही।एडीए की कार्रवाई देखकर कुछ देर बाद ही भीड़ एकत्रित होना शुरू हो गई। कुछ देर बाद ही धक्का-मुक्का व मारपीट शुरू हो गई। टीम के सदस्यों का आरोप है कि घरों से निकलकर महिलाएं, पुरुष व बच्चे भी हाथों में डंडा, सरिया लेकर निकल आए। इससे एडीए टीम के आधे सदस्य एक गाड़ी लेकर वहां से भाग निकले। कुछ लोग वहीं फंस गए। इससे स्थानीय लोग और हावी होने लगे। उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। पुलिस भी लोगों को समझाने लगी। बाद में पुलिस दोपहर सवा तीन बजे करीब सभी लोगों को गाड़ी में बैठाकर वहां से भाग निकली। इसकी सूचना एडीए के बड़े अफसरों को दी गई। इस पर कुछ देर बाद एसीएम प्रथम कुलदेव सिंह, प्रभारी सचिव डीएस भदौरिया भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने मौके का मुआयना किया। अवर अभियंता पीयूष त्यागी के डंडों से काफी गहरी चोटे आई हैं। वहीं अन्य अभियंताओं के भी हल्की चोट लगी हैं।प्रभारी सचिव ने थाने में तहरीर दे दी है। इसमें उन्होंने स्थानीय लोगों पर सरकारी कार्य में बाधा डालने, हमला कर जान से मारने का प्रयास करने का आरोप लगाया है। इन्होंने नत्थी लाल शर्मा, डॉ. आनंद, डॉ. शिव कुमार निवासी भुजपुरा, निशार अहमद निवासी बारहद्वारी, असलम, फकीरा, अनीस, रहीस निवासी मकदूम नगर के खिलाफ तहरीर दी है। इन्होंने प्रेम प्रॉपर्टीज व भारत प्रॉपर्टी के नाम से कॉलोनी विकसित कर रखी हैं।अब खैर रोड पर 24 सितंबर को चंचल शर्मा की अवैध कॉलोनी का ध्वस्तीकरण होना है। इन्होंने भी यहां करीब 60 बीघा क्षेत्रफल में अवैध कॉलोनी बना रखी है। वहीं इसके बाद बन्ना देवी क्षेत्र में अवैध कॉलोनी पर कार्रवाई होनी है।एडीए के प्रभारी सचिव डीस भदौरिया का कहना है एडीए की टीम पर पथराव व डंडों से हमला हुआ है। इस मामले में  बिल्डर समेत आधा दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ थाने में मुकदमे के लिए तहरीर दे दी गई है।

अलीगढ मे पुलिस के सामने एडीए टीम पर पथराव, अवर अभियंता घायल

अलीगढ़ से अन्य समाचार व लेख

» युवाओं के खेल जगत में सुनहरे भविष्य के लिये स्पोर्ट्स स्टेडियम की स्थापना हो - सौरभ चौधरी

» गायों पर लगातार हो रही धारदार हथियार से हमला

» सर सय्यद को दिया जाए भारत रत्न। रुबीना खानम

» अलीगढ़,अपर आयुक्त (प्रशासन) ने 24 घंटे में तहसीलदार को दिए जांचोपरान्त कार्रवाई करने के निर्देश

» स्पोर्ट्स स्टेडियम बनाओ संघर्ष समिति द्वारा चलाया गया हस्ताक्षर अभियान

 

नवीन समाचार व लेख

» नोएडा में एक हिंदूवादी नेता को जान से मारने की धमकी मिली

» हरदोई में पुलिस से मुठभेड़ में बदमाश ढेर, जवाबी कार्रवाई में दारोगा जख्मी

» सोनिया गांधी की रायबरेली बनेगी कांग्रेसियों की पाठशाला

» सीतापुर कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में परिवार से मिलने उनके घर पहुंचे

» उत्तर प्रदेश में सोशल मीडिया पर सद्भाव बिगाड़ने वालों पर लगेगा रासुका, 24 घंटे में दर्ज हुए 14 मुकदमे