यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अश्‍लील वीड़ियो बनाकर करते थे ब्लैकमेल, तीन गिरफ्तार


🗒 मंगलवार, दिसंबर 01 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
अश्‍लील वीड़ियो बनाकर करते थे ब्लैकमेल, तीन गिरफ्तार

अलीगढ़, गभाना  थाना पुलिस ने शादी के नाम पर लोगों को ठगी का शिकार बनाने वाले एक गिराेह के एक महिला समेत तीन सदस्यों को गांधीपार्क क्षेत्र के एक मकान से  गिरफ्तार कर उनके कब्जे से अपहृत व्यक्ति को बरामद कर लेने का दावा किया है। गिरोह इसी मकान में अवैध धंधा भी संचालित करता था। कमरे से भारी मात्रा में पुलिस को अश्लील व आपत्तिजनक सामग्री मिली है। पुलिस अब इस रैकेट के फैले नेटवर्क को भेदने में जुट गई है। एएसपी गभाना विकास कुमार ने बताया कि सोमवार को गभाना-रामपुर निवासी पंकज कुमार ने थाने में सज्जनपाल सिंह के अलीगढ़ में दवा लेने जाने और एक अज्ञात मोबाइल फोन नंबर से पिता के कब्जेे में होने व छोड़ने के बदले दो लाख रुपये की मांग कर लेने पर पिता के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था।पुलिस ने फिरौती मांगने के लिए आए फोन नंबर को सर्विलांस पर लिया और उसकी लोकेशन पता की। लोकेशन गांधीपार्क क्षेत्र में धनीपुर ब्लॉक के पास गली नं एक मे डॉ. ब्रजेश सिंह के मकान पर छापेमारी की। यहां एक कमरे में अपहृत सज्जनपाल सिंह के अलावा दो युवक व एक महिला उसे चारपाई पर घेरे हुए मिले। एक युवक तमंचा लेकर अपहृत सज्जनपाल सिंह को धमका रहा था। छापेमारी के दौरान घर में खलबली मच गई और वहां मौजूद लोग भाग छूटे। जिनमें से पुलिस ने मौके से भूपेंद्र उर्फ रेडर निवासी गोपालपुर, जवां को तमंचा, कारतूस, उसके गांव के ही साथी शीशपाल के पास से 2500 रुपये बरामद हुए। महिला ने अपना नाम गौरी पत्नी टूरिया निवासी अमरपुर नेहरा, लोधा हाल निवासी जलालपुर, देहलीगेट बताया। कमरे से भारी मात्रा में पुलिस को अश्लील व आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई है। एएसपी विकास कुमार के अनुसार गिरोह के एक सदस्य का अपहृत सज्जनपाल सिंह के मोबाइल पर 28 नवंबर को फोन आया केि हम तुम्हारे भतीजे की शादी करा देंगे। भतीजे की शादी के लालच में वह घर से गिरोह के बताए गए स्थान पर आ गया । जहां उसे गिरोह से जुड़े सदस्यों ने दबोच लिया और उसके कपड़े उतारकर एक लड़की के साथ उसके अश्लील फोटो व वीडियो बना ली। फिर धमकी दी कि घर से या तो दो लाख रुपये मंगाकर दो अन्यथा मुकदमा दर्ज करा देंगे और फोटो व वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर देंगे। इस पर सज्जनपाल ने घर फोन कर सारी बातें स्वजन को बतायी। एएसपी विकास कुमार ने बताया कि डॉ. ब्रजेश के मकान में अवैध धंधा होता था। पकड़े गए आरोपितों ने बताया कि गिरोह में उनके अलावा अनुकूल पाल उर्फ ​​फौजी, अमित, नेहा, शशि निवासी जलालपुर, इंद्रा नगर, देहलीगेट, इंद्रा, संजय, सोनू उर्फ ​​मोहित आदि शामिल हैं। आरोपितों ने बताया कि वे मकान में बाहर से लड़कियां बुलाते हैं। फिर लोगों को लालच देकर उन्हें फंसाकर उनकी अश्लील वीडियो व फोटो तैयार कर लेते हैं और दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने की धमकी देकर उनके स्वजन को बुलाकर मोटी रकम हासिल कर लेते हैं। बदनामी के डर से अधिकांश लोग थाने में शिकायत नहीं करते हैं। गिरोह से जुड़े लोग शादी कराने के नाम पर पहले मोटी रकम लेते थे। फिर गिरोह में शामिल लड़कियों की शादी कराकर उन्हें लोगों के घर भेज देेते थे। लड़कियां अगले ही दिन जेवर, नकदी आदि माल लूटकर भाग आती थीं। मिलने वाले रुपये आदि को सभी आपस में मिल बांट लेते थे। पुलिस अब गिरोह के पूरे नेटवर्क को भेदने के साथ ही मकान मालिक डॉ. ब्रजेश की संलिप्तता की जानकारी करने में जुट गई है। एएसपी विकास कुमार का दावा है कि जल्द ही पूरे गिरोह की धरपकड़ कर पिछली घटनाओं का राजफाश किया जाएगा। 

अलीगढ़ से अन्य समाचार व लेख

» कुश्ती के विकास के लिये दंगलों का आयोजन जरूरी -खेलगुरु बृजरत्न अशोकशेखर पहलवान मथुरा

» अलीगढ़ में दलित किशोरी की हत्‍या के बाद गांव में तनाव,

» अलीगढ़ में दलित किशोरी की हत्‍या के बाद सियासत गरमाई, सपाइयों ने थाना घेरा

» अलीगढ़ मोटी रकम लेकर जारी कराता था फायर एनओसी, आरोपित गिरफ्तार

» अलीगढ़ में खिलौना फैक्ट्री में चोरी करने वाले दो बदमाश दबोचे, 4.81 लाख बरामद