यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

महिला की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या


🗒 बुधवार, अप्रैल 13 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
महिला की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या

औरैया, । अटसू चौकी क्षेत्र अंतर्गत मुहिउद्दीनपुर गांव में एक खंडहर मकान के आंगन में पड़ी चारपाई पर महिला का शव खून से लथपथ मिलने से सनसनी फैल गई। मंगलवार  की सुबह महिला अपने छोटे बेटे के साथ श्रीनगर मोहल्ला में बने मकान से पैतृक गांव खेत देखने आई थी। उसके वापस न लौटने व फोन स्विच आफ बताने पर मध्य प्रदेश के भिंड से आई छोटी बहन को संदेह हुआ। अनहोनी की आशंका जताते हुए पुलिस को सूचना दी। इसके बाद वह मुहिउद्दीनपुर पहुंचे। घटनास्थल पर एक कुल्हाड़ी व चप्पल मिली। पूरे घटनाक्रम को हत्या से जोड़ते हुए देखा जा रहा है। वहीं नामजद आरोपितों का पता लगाने में पुलिस जुट गई है।48 वर्षीय गुड्डी देवी पत्नी भगवान सिंह निवासी श्रीनगर मोहल्ला अटसू चौकी क्षेत्र का कई सालों से उसके बेटे व पति से विवाद चल रहा था। गुड्डी की बहन पूनम पत्नी गजेंद्र सिंह निवासी जनपद भिंड (मध्य प्रदेश) के मिहोना थाना को उसने करीब एक सप्ताह पूर्व मोबाइल फोन से जानकारी दी थी, कि उसने जो गहने रखने को दिए थे, वह पति भगवान सिंह ने चोरी कर बेच दिए। इसके अलावा कुछ जमीन भी बेच दी है। यह जानकारी होते ही पूनम 10 अप्रैल को बड़ी बहन गुड्डी के यहां पहुंची। 12 अप्रैल को गुड्डी का छोटा बेटा विपिन अपनी मां को लेकर पैतृक गांव मुहिउद्दीनपुर चला गया। उसने कहा कि खेत को बटाई पर देना है, चलकर देख लो। गुड्डी के मना करने पर कसम दी, जिस पर गुड्डी जाने को तैयार हो गई, लेकिन वापस घर नहीं लौटी। गांव में खंडहर मकान होने से पूनम ने रात में रुकने से दिक्कत होने से विपिन के मोबाइल फोन पर काल की, लेकिन फोन स्विच आफ मिला। इसके बाद उसने बड़ी बहन व जीजा और उसके अन्य दो बेटों को फोन किया। उनके भी फोन बंद मिले। अनहोनी का संदेह होने पर पुलिस को सूचना दी। अजीतमल कोतवाली व अटसू चौकी पुलिस खंडहर मकान में बुधवार की दोपहर करीब 12.30 बजे पहुंची, जहां गुड्डी का शव खून से सना हुआ आंगन में पड़ी चारपाई पर पड़ा था। चारपाई पर एक पैर की चप्पल व कुल्हाड़ी रखी थी। मृतका के पिता तकरीबन 80 वर्षीय दशरथ सिंह बेटी पूनम के साथ पहुंचे थे। आरोप है कि विपिन व उसके दो अन्य भाई गौरव व सौरभ समेत भगवान सिंह ने मिलकर घटना को अंजाम दिया है। फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाने का प्रयास किया। अजीतमल क्षेत्राधिकारी प्रदीप कुमार ने बताया कि महिला की हत्या कुल्हाड़ी से की गई है। पूरे मामले को पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने संज्ञान में लेकर पिता व तीनों पुत्रों की तलाश शुरू कराई है, जो कि घटना के बाद से फरार हैं।