यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

औरैया में महिला ने रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा दी जान


🗒 रविवार, जुलाई 19 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
औरैया में महिला ने रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा दी जान

फफूंद थानांतर्गत ग्राम माहतेपुर में एक जिद के चलते पूरा परिवार उजड़ गया। ढाई साल और तीन माह के मासूम बच्चों के सिर से मां का आंचल छिन गया है, उन्हें देखकर हर किसी का दिल पसीजता रहा और आंखें नम हो गईं। अबोध बच्चों को मालूम भी नहीं है कि उनकी मां अब इस दुनिया में नहीं हैं। एक जिद के आगे बच्चों के प्रति प्यार छोटा पड़ गया और उस मां ने दुनिया ही छोड़ दी।पिलखनी गांव कोतवाली भोगनीपुर जनपद कानपुर देहात निवासी स्व. जमुना प्रसाद ने 24 वर्षीय पुत्री पुत्री लक्ष्मी देवी की शादी 14 मई 2016 को फफूंद थाने के गांव महातेपुर निवासी चंद्रभान के पुत्र योगेश से की थी। शादी के बाद से सब कुछ ठीक चल रहा था, उन्हें ढाई साल का बेटा कार्तिक और तीन माह की बच्ची है। लक्ष्मी की दुधमुंही बच्ची को खुद से अलग नहीं करती थी और कार्तिक भी मां के आगे पीछे ही घूमा करता था। एक बेटा और फिर बेटी होने पर सभी लक्ष्मी से संपूर्ण परिवार की बात कहकर तारीफ करते थे। लक्ष्मी भी अपने परिवार से खुश थी। लेकिन, हंसते खेलते परिवार को एक जिद ने बिखेर दिया।रात्रि में लक्ष्मी ने रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली, कमरे से काफी देर से रो रहे कार्तिक की आवाज सुनकर सास मीरा देवी जाग गईं। मीरा देवी कमरे के पास गईं तो दरवाजा अंदर से बंद था। उन्होंने स्वजनों को जगाया, जिसके बाद में कुंडी तोड़ कर कमरे में दाखिल हुए तो सभी सन्न रह गए। लक्ष्मी का शव फांसी के फंदे से लटक रहा था और कार्तिक उसे खींचते हुए तेज आवाज में रो रहा था। वहीं तीन माह की बच्ची चारपाई पर पड़ी रो रही थी। ससुरालीजनों ने शव को नीचे उतारा और मायके व पुलिस को सूचना दी। सीओ अजीतमल कमलेश नारायण पांडेय, थानाध्यक्ष राजेश सिंह, फोरेंसिक टीम के साथ पहुंचे और जांच पड़ताल की। पुलिस की पड़ताल में सामने आया कि शनिवार की शाम लक्ष्मी देवी ने अपने भाई ओम नरेश से फोन पर बातचीत हुई थी। इसके बाद शाम को योगेश खेतों से घर आया तो लक्ष्मी ने मायके जाने के लिए कहा। योगेश के मना करने पर वह जिद पर अड़ गई। योगेश ने लॉकडाउन होने की बात कहते हुए सख्ती से मना कर दिया। इसके बाद सभी लोग खाना खाकर छत पर सोने चले गए थे। लक्ष्मी अपने दोनों बच्चों को लेकर कमरे में चली गई और रात में फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। सीओ ने बताया कि मृतका के मायके पक्ष के लोगों को सूचना दी गई है। तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

औरैया से अन्य समाचार व लेख

» उरई में वाहन चोर गिरोह के पांच सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया,सात बाइकों को किया बरामद

» पूर्व ब्लाक प्रमुख पर हमला करने वाले हमलावरों तक 21 दिन बाद भी नही पहुंची पुलिस

» औरैया मे एक साल तक महिला को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म करता रहा युवक

» औरैया में तीन बच्चियों के साथ मां का शव फांसी पर लटका मिला

» औरैया आधार कार्ड सुधारने को लेकर छात्रों का हंगामा , 200 रु. से 300 तक वसूली

 

नवीन समाचार व लेख

» कोविड-19 के विरुद्ध राहत अभियान पूरे सेवा एवं समर्पण भाव से जारी

» पत्रकार समाज कल्याण समिति तहसील लालगंज के पदाधिकारियों ने किया कन्यापूजन का आयोजन

» मिशन शक्ति अभियान निरन्तर चलते रहना चाहिये : डीएम

» अन्नदताओ ने किया योगाचार्य आनन्द का सम्मान

» एक दिन के लिए शिवगढ़ ‘थानाध्यक्ष’ बनी कॉलेज टॉपर ऐश्वर्या शर्मा ने काटा महिला आरक्षी का जुर्माना