औरैया में सराफा व्यवसायी की गोली मारकर हत्या, लूटे जेवरात

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

औरैया में सराफा व्यवसायी की गोली मारकर हत्या, लूटे जेवरात


🗒 शनिवार, फरवरी 13 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
औरैया में सराफा व्यवसायी की गोली मारकर हत्या, लूटे जेवरात

दुस्साहसी बदमाशों ने फफूंद क्षेत्र के अजलापुर मोड़ के पास सराफा व्यवसायी की गोली मार दी और जेवरात लूटकर भाग निकले। जिला अस्पताल में डॉक्टरों ने सराफा व्यवसायी को मृत घोषित कर दिय। दुकान बंद करके घर लौटने के दौरान बाइक सवार बदमाशों ने व्यवसायी को रोक कर वारदात की। जेवरात छीनने के विरोध पर उसके सीने में गोली मारी। वारदात से खलबली मच गई। सीओ, एएसपी के अलावा एसपी ने भी मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की। उधर, स्वजन ने डॉक्टरों पर इलाज न करने का आरोप लगा हंगामा किया। एसपी के मुताबिक तहरीर नहीं मिली है, स्वजन व्यवसायी को रेफर करा कानपुर ले गए हैं।ग्राम बरूआ निवासी 45 वर्षीय तेज सिंह पुत्र विशंभर सिंह की सदर कोतवाली के भदौरिया भट्टा के पास सराफा की दुकान है। रोज की भांति शनिवार देर शाम वह दुकान बंद कर बाइक से घर जा रहे थे। तभी उनके पीछे बाइक सवार दो बदमाश लग गए। जैसे ही वह अजलापुर गांव के पास पहुंचे, बदमाशों ने उन्हें रोक लिया और जेवरात छीनने लगे। जब तेज सिंह ने विरोध किया तो बदमाशों ने मारपीट करते हुए उनके सीने में गोली दाग दी। जेवरात लूटकर फरार हो गए। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग पहुंचे। सड़क पर लहुलूहान पड़े तेज सिंह को निजी वाहन से अस्पताल ले गए, तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।घटना की जानकारी होने पर स्वजन व अन्य ग्रामीण पहुंच गए। स्वजन ने डॉक्टरों पर सही इलाज न करने का आरोप लगाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। एसपी अपर्णा गौतम, एएसपी शिष्यपाल, सीओ सिटी सुरेंद्रनाथ और सदर कोतवाल संजय पांडेय ने समझा-बुझाकर उन्हें शांत कराया। सीएमओ डा. अर्चना श्रीवास्तव ने बताया कि तेज सिंह के जिला अस्पताल पहुंचते ही तत्काल इलाज के लिए डॉक्टर जुट गए थे, मगर उनकी मौत हो चुकी थी। डॉक्टरों को कोई लापरवाही नहीं है।