यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पुश्तैनी जमीन के विवाद में बड़े भाई ने छोटे भाई को उतारा मौत के घाट


🗒 शनिवार, नवंबर 20 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पुश्तैनी जमीन के विवाद में बड़े भाई ने छोटे भाई को उतारा मौत के घाट

औरैया, । अजीतमल कोतवाली क्षेत्र की ऊंचा चौकी के गनेश पुरवा गांव में पुश्तैनी जमीन के विवाद में बड़े भाई ने छोटे भाई को मौत के घाट उतार दिया। दिल दहला देने वाली यह घटना शुक्रवार को रात करीब एक बजे की है। आरोपित ने कुछ साथियों के साथ मिलकर छोटे भाई की जान ले ली। आरोपित छत की सीढ़ी से घर में घुसे। इसके बाद बरामदे में अकेला पाकर सोते समय उसके सिर पर कुल्हाड़ी मार दी। स्वजन की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर जांच शुरू की है।32 वर्षीय सत्यप्रकाश उर्फ नोटे का बड़े भाई जयप्रकाश से पुश्तैनी जमीन को लेकर कई सालों से विवाद चला आ रहा है। पिता रामदत्त की मौत के बाद से दोनों एक दूसरे की जान के दुश्मन थे। जयप्रकाश पत्नी व बच्चों के साथ अलग रहता था। सत्यप्रकाश के साथ उसकी बहन मंजु व मां रहती थी। वारदात के दिन घर पर सिर्फ बहन थी। सीओ प्रदीप कुमार का कहना है कि सत्यप्रकाश घर के बरामदे में चारपाई पर सो रहा था। जैसा कि मृतक की बहन मंजु का कहना है कि पुश्तैनी जमीन को लेकर विवाद में बड़ा भाई जय प्रकाश ने उसे मार डाला।मनोज पुत्र श्रीराम लखन, नरेश पुत्र मेवालाल, महिपाल सिंह पुत्र देवीदयाल साथियों के साथ मिलकर जयप्रकाश ने घटना को अंजाम दिया है। वहीं बेटे की मौत को पता लगते ही रिश्तेदारी में गई मां आनन-फानन लौटी। पुलिस ने पूरे मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है। आरोपितों को पकडऩे के लिए दबिश दी जा रही। हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।