यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आजमगढ़ मे एक और पॉजिटिव, अब तक जिले में आठ मरीज कोरोना संक्रमित मिले


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 24 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आजमगढ़ मे एक और पॉजिटिव, अब तक जिले में आठ मरीज कोरोना संक्रमित मिले

जिले में शुक्रवार को कोरोना से जुड़ी मिली रिपोर्ट में हॉटस्पॉट मुबारकपुर के एक और व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। नए परिवार में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप की स्थिति है। संक्रमित मरीज मुबारकपुर के नवापुरा चकसिकठी का है। जिले में अब तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या आठ हो गई, जिसमेें तीन तब्लीगियों की दूसरी व तीसरी रिपोर्ट निगेटिव आने से उन्हें मेडिकल कॉलेज से शेल्टर होम में शिफ्ट कर दिया गया है। सीएमओ डा. एके मिश्रा ने बताया कि मुबारकपुर के नवापुरा चकसिकठी निवासी 14 वर्षीय किशोर का सैंपल भेजने के बाद उसे विद्यालय में क्वारंटाइन किया गया था। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। उसके परिवार के अन्य सदस्यों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। इस प्रकार जिले में कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या फिर पांच हो गई। नवापुरा चकसिकठी स्थित एक मदरसे में दिल्ली के निजामुद्दीन में आयोजित कार्यक्रम से लौटे तीन जमातियों की रिपोर्ट पहले पॉजिटिव आई थी। इनके संपर्क में आने से एक वृद्ध संक्रमित हो गया था। पिता के बाद पुत्र एवं पुत्री भी कोरोना पॉजिटिव मिले। तीनों जमातियों की दूसरी व तीसरी रिपोर्ट निगेटिव आने पर आइसोलेशन वार्ड से निकालकर क्वारंटाइन में रखा गया। 14 दिन बीतने के बाद उन्हें शेल्टर होम में रखा गया। एक और पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने से मुबारकपुर में सख्ती और बढ़ा दी गई। प्रशासन व स्वास्थ्य मकहमें की सक्रियता और बढ़ गई है।डीएम नागेंद्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में एसडीएम, तहसीलदार व बीडीओ की बैठक हुई। डीएम ने निर्देश दिए कि कोई व्यक्ति यदि गांव मेें बाहर से आता है तो उसको होम या संस्थागत क्वारंटाइन कराना सुनिश्चित करें। लेखपाल बाहर से आए व्यक्तियों की सूचना देंगे।। उन्होंने निर्देश दिए कि जरूरतमंदों का जॉबकार्ड बनवाएं एवं निष्क्रिय को निरस्त कराएं। मनरेगा के कार्य करते समय श्रमिकों में शारीरिक दूरी का ध्यान रखें और साफ-सफाई पर ध्यान दें। हाथों को सैनिटाइज भी कराते रहें। यह सुनिश्चित करें कि गांव स्तर पर कोई भी जरूरतमंद व्यक्ति किसी योजना से आच्छादित नहीं है, वह भूखा ना रहे। उसको खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध कराई जाए। सचिव यह सुनिश्चित करें कि जब तक तहसील स्तर से जरूरतमंद लोगों को सुविधा नहीं मिलती है, तब तक संबंधित जरूरतमंद को राशन उपलब्ध कराएं। सीडीओ आनंद कुमार शुक्ला, सीआरओ हरीशंकर, एडीएम नरेंद्र ङ्क्षसह व गुरु प्रसाद गुप्ता, डीडीओ रविशंकर राय, पीडी अभिमन्यु सिंह थे।