यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आजमगढ़ में ट्रैक्टर से कुचलकर छात्रा की मौत


🗒 शुक्रवार, फरवरी 05 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आजमगढ़ में ट्रैक्टर से कुचलकर छात्रा की मौत

आजमगढ़,। महराजगंज क्षेत्र के देवारा कदीम गांव के पास गुरुवार की दोपहर ट्रैक्टर-ट्राली से कुचलकर छात्रा की मौत हो गई। दुर्घटना के बाद पुलिसिया कार्रवाई से बचने के इरादे से चालक ने बालू भरी बोरी से शव को बांधकर नदी में फेंक दिया। रात में पुलिस ने चालक की निशानदेही पर छात्रा के शव को घाघरा नदी से बरामद कर लिया।महराजगंज थाना क्षेत्र के देवारा जदीद जंगली का पूरा गांव निवासी कुमकुम (12) पुत्री श्याम कुमार प्राथमिक विद्यालय देवारा कदीम में कक्षा पांचवीं की छात्रा थी। स्वजनों का कहना है कि गुरुवार को स्कूल के अध्यापकों ने सूचना दिया कि आज विद्यालय में बच्चों को जूता वितरित होगा। गुरुवार की दोपहर लगभग 12 बजे कुमकुम घर से साइकिल से स्कूल जूता लेने के लिए जा रही थी। देवारा कदीम गांव के रास्ते में ही ट्रैक्टर-ट्राली की चपेट में आने से कुमकुम की मौत हो गई। दुर्घटना के बाद ट्रैक्टर चालक ने अपने मालिक को घटना से अवगत कराया। मृत छात्रा के बड़े पिता गिरधारी का आरोप है कि पुलिसिया कार्रवाई से बचने के लिए चालक व ट्रैक्टर मालिक ने कुमकुम के शव को बालू भरी बोरी में रस्सी से बांधकर मलहटोलवा गांव स्थित घाघरा नदी में फेंक दिए। इधर जब शाम तक छात्रा घर वापस नहीं आई तो स्वजनों ने तलाश की तो कुमकुम की साइकिल घटनास्थल पर पड़ी मिली। अनहोनी की घटना से सशंकित होकर स्वजनों ने महराजगंज थाने पर पहुंच कर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने जब जांच की तो पता चला कि कुमकुम की ट्रैक्टर-ट्राली से कुचलकर मौत हुई है। पुलिस ने ट्रैक्टर चालक को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो उसने सबकुछ पुलिस को बता दिया। चालक की निशानदेही पर पुलिस ने गुरुवार की रात को लगभग 11 बजे घाघरा नदी से छात्रा के शव को बरामद कर लिया। विधिक कार्रवाई पूरी करने के बाद दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृत कुमकुम दो बहनों में बड़ी थी और उसके दो भाई हैं। उसकी मौत से परिवार में कोहराम मच गया।सड़क दुर्घटना में मृत छात्रा के शव को बोरी से बांधकर नदी में फेकने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई न होने से पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में आ गई है। ग्रामीणों का कहना है कि आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाए पुलिस उन्हें बचाने का प्रयास कर रही है। मृत छात्रा कुमकुम के स्वजनों का कहना है कि जहां से शव बरामद हुआ वह उनके गांव से दो-तीन किमी दूर है। आरोपित ट्रैक्टर चालक व मालिक गांव के ही निवासी हैं। तहरीर देने के बाद भी महराजगंज पुलिस ने उनके खिलाफ कोई विधिक कार्रवाई नहीं की। वहीं महराजगंज थाना के इंस्पेक्टर गजानंद चौबे ने कहा कि दुर्घटना में छात्रा की मौत हो जाने के बाद ट्रैक्टर मालिक व स्वजनों ने आपस में समझौता कर लिया था। समझौता के बाद पुलिस को सूचना दिए बगैर शव को नदी में ले जाकर प्रवाह कर दिया था। बाद में जानकारी हुई तो पुलिस ने नदी से शव निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

आजमगढ़ से अन्य समाचार व लेख

» आजमगढ़ में रसोई गैस सिलेंडर फटने से मकान ध्वस्त, 11 घायल

» मुख्तार अंसारी की चार्जशीट पर 22 सितंबर को होगी सुनवाई

» मुख्तार अंसारी गैंग के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

» किसान की हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंका

» आजमगढ़ में मुख्तार अंसारी की जमानत पर हुई सुनवाई

 

नवीन समाचार व लेख

» थानेे में पहुंच गैंगस्टर बोला, कभी नहीं करूंगा अपराध

» खेलने के बहाने बच्चे को घर से बुलाकर सामूहिक कुकर्म

» सीएम योगी आद‍ित्‍यनाथ से म‍िले सि‍ंगापुर के उच्चायुक्त

» भारत बंद का सपा समर्थन में तो व‍िरोध में उतरेंगे व्यापारी

» गुरुकुल, मदरसा, मिशनरी और वैदिक स्कूल के लिए समान शिक्षा संहिता की मांग